दुनिया

स्वीडन ने विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के खिलाफ बलात्कार मामले की जांच रोकी

इस साल अप्रैल महीने में विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज को लंदन स्थित इक्वाडोर दूतावास की इमारत से बेदखल किया गया था, जहां पर वह 2012 से रह रहे थे. इसके बाद 2017 में बंद किए जा चुके बलात्कार के मामले को स्वीडन में एक बार फिर से खोल दिया गया था.

विकिलीक्स के सह-संस्थापक जूलियन असांज. (फोटो: रॉयटर्स)

विकिलीक्स के सह-संस्थापक जूलियन असांज. (फोटो: रॉयटर्स)

स्टॉकहोम: स्वीडन के अभियोजक ने कहा कि विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के खिलाफ कथित बलात्कार मामले की जांच रोक दी गई है. उप प्रमुख अभियोजक इवा मारी परसोन ने मंगलवार को मामले की जानकारी देते हुए यह बात कही. असांज इस समय ब्रिटेन की जेल में हैं.

जून में स्वीडन की अदालत ने आदेश दिया था कि असांज को हिरासत में नहीं लिया जाना चाहिए और अगर प्रत्यर्पण नहीं होता तो ब्रिटेन में ही पूछताछ की जा सकती है. इस आदेश का अभिप्राय है कि प्राथमिक जांच खत्म नहीं होनी चाहिए.

बलात्कार के मामले को बंद करने के साथ ही असांज के खिलाफ एक दशक पुराने मामले का अंत हो गया जिसकी वजह से प्रत्यर्पण से बचने के लिए वे साल 2012 से ही लंदन के इक्वाडोर स्थित दूतावास में रह रहे थे.

हालांकि, इस साल अप्रैल महीने में असांज को लंदन स्थित इक्वाडोर दूतावास की इमारत से बेदखल किया गया था, जहां पर वह 2012 से रह रहे थे.

इसके तुरंत बाद उन्हें लंदन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. वर्ष 2012 में जमानत का उल्लंघन करने के आरोप में असांज 50 हफ्ते की सजा काट रहे हैं.

साल 2017 में भी बलात्कार मामले को स्वीडिश पुलिस ने यह कहते हुए बंद कर दिया था कि असांज तक पहुंचा नहीं जा सकता है. हालांकि, असांज के गिरफ्तार होने पर इस मामले को फिर से खोल दिया गया.

असांज अमेरिका प्रत्यर्पित करने के खिलाफ भी लड़ रहे हैं. अमेरिका ने उन पर गोपनीय दस्तावेजों को सार्वजनिक करने का आरोप लगाया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)