भारत

महाराष्ट्र: देवेंद्र फडणवीस बने मुख्यमंत्री और अजीत पवार ने ली उप मुख्यमंत्री पद की शपथ

एनसीपी नेता शरद पवार ने शुक्रवार शाम घोषणा की थी कि शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के बीच एक समझौता हुआ है कि उद्धव ठाकरे अगले पांच साल के लिए मुख्यमंत्री होंगे, जो गठबंधन के सर्वसम्मत उम्मीदवार थे.

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के साथ मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और उप मुख्यमंत्री अजीत पवार. (फोटो: @CMOMaharashtra)

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के साथ मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और उप मुख्यमंत्री अजीत पवार. (फोटो: @CMOMaharashtra)

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीतिक में शनिवार की सुबह हुए एक अप्रत्याशित घटनाक्रम में, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता देवेंद्र फड़नवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले ली. वहीं, शरद पवार के नेतृत्व वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के अजीत पवार ने उनके साथ उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. अजीत पवार एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के भतीजे हैं.

एनसीपी नेता शरद पवार ने शुक्रवार शाम घोषणा की थी कि शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के बीच एक समझौता हुआ है कि उद्धव ठाकरे अगले पांच साल के लिए मुख्यमंत्री होंगे, जो गठबंधन के सर्वसम्मत उम्मीदवार थे.

मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि जनता ने हमें स्पष्ट जनादेश दिया था, शिवसेना ने जनादेश का अपमान किया है. महाराष्ट्र की जनता को स्थिर और स्थाई सरकार चाहिए, खिचड़ी सरकार नहीं चाहिए. सीएम फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र के उज्जवल भविष्य के लिए एनसीपी के साथ मिलकर काम करेंगे.

उप मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद अजीत पवार ने कहा, ‘चुनाव परिणाम आने के बाद से आज तक कोई पार्टी सरकार बनाने की स्थिति में नहीं थी. किसानों के मुद्दों के साथ महाराष्ट्र में कई समस्याएं थीं, इसलिए हमने एक स्थायी सरकार बनाने का फैसला किया.’

वहीं,  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने देवेंद्र फड़णवीस और अजित पवार को क्रमश: महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री बनने की बधाई दी.

प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ‘देवेंद्र फड़णवीस और अजित पवार को महाराष्ट्र के क्रमश: मुख्यमंत्री एवं उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर बधाई । मुझे विश्वास है कि ये दोनों महाराष्ट्र के उज्जवल भविष्य के लिये काम करेंगे.’

शाह ने ट्वीट किया, ‘देवेन्द्र फड़णवीस जी को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और अजीत पवार जी को प्रदेश के उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर हार्दिक बधाई.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे विश्वास है कि यह सरकार महाराष्ट्र के विकास और कल्याण के प्रति निरंतर कटिबद्ध रहेगी और प्रदेश में प्रगति के नये मापदंड स्थापित करेगी.’

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने भी फड़णवीस और अजित पवार को बधाई दी.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैं देवेन्द्र फड़णवीस जी और अजीत पवार जी को महाराष्ट्र के क्रमश: मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के लिए बधाई देता हूं। मुझे यकीन है कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में यह सरकार महाराष्ट्र को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगी.’

बता दें कि, पिछली विधानसभा का कार्यकाल खत्म होने के बाद 12 नवंबर महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था. हालांकि, शनिवार तड़के पांच बजकर 47 मिनट पर राष्ट्रपति शासन हटाए जाने के बाद भाजपा-एनसीपी सरकार ने प्रभार संभाला.

गृह मंत्रालय की एक अधिसूचना के अनुसार, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार सुबह राष्ट्रपति शासन को समाप्त करने की घोषणा की. इस आशय का राज-पत्र केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने सुबह पांच बजकर 47 मिनट पर जारी किया. राष्ट्रपति शासन हटने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के देवेंद्र फड़णवीस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अजित पवार ने महाराष्ट्र के क्रमश: मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली.

बता दें कि, गठबंधन में राज्य विधानसभा चुनाव लड़ने वाली भाजपा और शिवसेना ने 288 सदस्यीय सदन में क्रमश: 105 और 56 सीटें जीती थीं लेकिन शिवसेना ने भाजपा द्वारा मुख्यमंत्री पद साझा करने से इनकार करने के बाद उसके साथ अपने तीन दशक पुराने संबंध खत्म कर लिए.

दूसरी ओर, चुनाव पूर्व गठबंधन करने वाली कांग्रेस और राकांपा ने क्रमश: 44 और 54 सीटें जीती.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)