भारत

झारखंड: लातेहार जिले में नक्सली हमला, चार जवानों की मौत

झारखंड में यह नक्सली हमला गृहमंत्री अमित शाह द्वारा झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास को राज्य में नक्सलवाद को खत्म करने का श्रेय दिए जाने के एक दिन बाद हुआ है.

प्रतीकात्मक तस्वीर. (फोटो: पीटीआई)

प्रतीकात्मक तस्वीर. (फोटो: पीटीआई)

रांची: गृहमंत्री अमित शाह द्वारा झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास को राज्य में नक्सलवाद को खत्म करने का श्रेय दिए जाने के एक दिन बाद ही झारखंड के लातेहार जिले में हुए एक घातक नक्सली हमले में शुक्रवार को हुए चार पुलिसकर्मी मारे गए.

झारखंड में नक्सली हमले की यह घटना वहां पांच चरणों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के पहले चरण से ठीक पहले हुई है. हमले में एक उपनिरीक्षक रैंक के अधिकारी सहित चार पुलिसकर्मी मारे गए हैं.

पुलिस ने बताया कि मृतकों की पहचान एएसआई सुकरा उरांव, यमुना प्रसाद और दो होमगार्ड संभू प्रसाद और सिकंदर सिंह के रूप में की गई है. तीन की मौत मौके पर ही हो गई थी जबकि एक पुलिसकर्मी ने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

अधिकारियों ने बताया कि घटना रात करीब साढ़े आठ बजे चांदवा थानाक्षेत्र की है. हथियारबंद माओवादियों ने सरकारी कार में सवार पुलिस दल पर हमला कर दिया. उन्होंने बताया कि माओवादियों ने पुलिस दल पर घात लगाकर हमला किया.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, पुलिस महानिदेशक कमल नयन चौबे ने हमले की पुष्टि की है. हालांकि, पुलिस ने कहा कि अभी तक कोई भी गिरफ्तारी नहीं हुई है.

एडीजी (ऑपरेशन) एमएल मीणा ने कहा, पुलिस की एक पीसीआर वैन पर हमला किया गया…हम उन दिशाओं में छापेमारी कर रहे हैं जहां हमलावरों के छिपे होने के संदेह हैं.

बता दें कि, झारखंड में लातेहार सहित 13 विधानसभाओं में 30 नवंबर को पहले चरण को चुनाव होने जा रहा है.

लोकसभा चुनाव के ठीक बाद सरायकेला इलाके में घात लगाकर किए गए हमले में पांच पुलिस अधिकारी मारे गए थे.

गृह मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, झारखंड के 19 जिले नक्सलवाद से प्रभावित हैं. इनमें बोकारो, छतरा, धनबाद, दुमका, पूर्वी सिंघभूम, गढ़वा, गिरिडीह, गुमला, हजारीबाग, खूंटी, कोडरमा, लातेहार, लोहरडागा, रलामू, रामगढ़, रांची, सराकेला-खरसावां और पश्चिमी सिंघभूम शामिल हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)