भारत

बच्चों को अगवा करने के आरोपी नित्यानंद के आश्रम के लिए ज़मीन देने वाले गुजरात के स्कूल को नोटिस

स्वयंभू बाबा नित्यानंद देश छोड़कर फ़रार हो गए हैं. उन पर आश्रम चलाने के लिए बच्‍चों को अगवा कर उन्‍हें श्रद्धालुओं से चंदा जुटाने के काम में लगाने का आरोप है.

स्वयंभू बाबा नित्यानंद. (फोटो साभार: फेसबुक)

स्वयंभू बाबा नित्यानंद. (फोटो साभार: फेसबुक)

अहमदाबाद: गुजरात के अहमदाबाद नगर प्रशासन ने विवादास्पद स्वयंभू बाबा नित्यानंद के आश्रम के लिए लीज पर जमीन देने के मामले में दिल्ली पब्लिक स्कूल (पूर्व) को नोटिस जारी किया है.

अहमदाबाद जिले के हीरापुर गांव में स्थित डीपीएस (पूर्व) के परिसर से नित्यानंद का आश्रम चल रहा था. अधिकारियों ने बताया कि नित्यानंद के दो शिष्यों को हाल ही में अपहरण तथा बाल श्रम कराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि इस मामले में नित्यानंद भी आरोपी हैं. इस संबंध में 19 नवंबर को प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी.

अहमदाबाद के कलेक्टर विक्रांत पांडे ने बीते रविवार को बताया कि स्कूल प्रशासन की ओर से जिस जमीन का आवंटन किया गया था उससे संबंधित रिपोर्ट में कुछ विसंगतियां पाई गईं जो प्रदेश शिक्षा विभाग से अनुमति लेने के दौरान हुई थी.

पांडे ने कहा कि हमने स्कूल से सर्वे नंबर मांगा है क्योंकि स्कूल बनाने के दौरान एनओसी के लिए दिया गया सर्वे नंबर अलग है और हमने इस बारे में विस्तृत जानकारी देने के लिए कहा है. उन्होंने बताया कि इसके अलावा उस संविदा की भी मांग की गई है जिसके तहत आश्रम को जमीन दी गई है.

उन्होंने बताया कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत दाखिल किए गए बच्चों की सूची भी स्कूल से मांगी गई है. दूसरी ओर सीबीएसई ने भी इससे पहले गुजरात शिक्षा विभाग से रिपोर्ट तलब किया था कि स्कूल की जमीन कैसे बिना अनुमति के लीज पर नित्यानंद के आश्रम को दे दी गई.

इस बीच पुलिस ने बताया कि डिजिटल लॉकर में छिपा कर रखे गए छह और मोबाइल फोन उन्होंने बरामद किया है. नित्यानंद के गिरफ्तार शिष्य जब उसका पासवर्ड बताने में विफल रहे तो उसे काट कर निकाला गया.

उन्होंने बताया कि लॉकर से नकली आभूषण भी बरामद किये गए हैं और बरामद फोन को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है. डीपीएस के प्राचार्य हितेश पुरी को 21 नवंबर को भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत गिरफ्तार किया गया था.

मालूम हो कि अहमदाबाद स्थित अपना आश्रम चलाने के लिए बच्‍चों को अगवा कर उन्‍हें श्रद्धालुओं से चंदा जुटाने के काम में लगाने के आरोपों से घिरे नित्यानंद देश छोड़कर फरार हो चुके हैं. नित्‍यानंद के खिलाफ पिछले हफ्ते बुधवार को इस मामले में मुकदमा दर्ज किया गया था.

साथ ही नित्यानंद की दो महिला अनुयायियों साध्वी प्राण प्रियानंद और प्रियातत्व रिद्धि किरण को गिरफ्तार भी किया गया था. दोनों पर चार बच्चों को कथित तौर पर अगवा करने और उन्हें एक फ्लैट में बंधक बनाकर रखने का आरोप है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)