भारत

भ्रष्टाचार के मामले में कश्मीर के शीर्ष नेताओं को जेल जाना पड़ेगाः सत्यपाल मलिक

जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि जो लोग जम्मू कश्मीर में लोकतांत्रिक तरीके से चुने गए, दो पीढ़ी पहले तक उनके दादा स्कूल टीचर हुआ करते थे लेकिन आज उनके श्रीनगर, दिल्ली, दुबई, लंदन और फ्रांस में घर हैं और कश्मीर में कई होटलों में पार्टनरशिप है.

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक. (फोटो: पीटीआई)

जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक. (फोटो: पीटीआई)

पणजीः जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि जम्मू कश्मीर के एक पूर्व मुख्यमंत्री सहित कई शीर्ष नेता भ्रष्टाचार के मामले में जेल जा सकते हैं.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, गोवा के राज्यपाल मलिक ने कहा कि भ्रष्टाचार की वजह से इन नेताओं ने दुनियाभर में घर खरीदें हैं और कई होटलों में इनकी पार्टनरशिप है.

मलिक ने कहा कि उन्होंने अपने कार्यकाल में एक कथित बैंक रोजगार घोटाला उजागर करने में मदद की, जिसमें तत्कालीन मुख्यमंत्री और अन्य विधायक प्रत्यक्ष तौर पर शामिल हैं.

सत्यपाल मलिक ने मंगलवार को 70वें संविधान दिवस के मौके पर गोवा यूनिवर्सिटी ग्राउंड्स में कहा, ‘जो लोग वहां लोकतांत्रिक तरीके से चुने गए, दो पीढ़ी पहले तक उनके दादा स्कूल टीचर हुआ करते थे लेकिन आज उनके श्रीनगर, दिल्ली, दुबई, लंदन और फ्रांस में घर हैं और कश्मीर में कई होटलों में पार्टनरशिप है.’

उन्होंने कहा, ‘मैंने कई बार लोकतंत्र का दुरुपयोग होते देखा है लेकिन इसका इलाज भी लोकतंत्र ही है. इनकी जांच की जा रही है और इनमें से कुछ को जेल जाना पड़ेगा. मैंने यह सब पेन की ताकत से किया है.’

राज्यपाल ने कहा कि उन्हें सबसे पहले दो जमीन सौदों का पता चला, जिससे कुछ सत्तारूढ़ नेताओं में से प्रत्येक को 150 करोड़ रुपये का लाभ हुआ.

मलिक ने कहा कि जब कुछ युवा उम्मीदवार उनसे मिलने राजभवन के गेट पर पहुंचे तो उन्हें बैक रोजगार घोटाले का पता चला.

उन्होंने कहा कि लगभग 20 उम्मीदवारों का कहना है कि उन्होंने मेरिट लिस्ट में टॉप किया लेकिन राजनीतिक दबाव की वजह से उन्हें बाहर कर दिया गया.

जम्मू एंड कश्मीर बैंक के अध्यक्ष से पूछताछ करने पर मलिक को पता चला कि राजनीतिक हस्तक्षेप की वजह से परीक्षा पास कर चुके लगभग 580 उम्मीदवारों को दरकिनार किया गया था.

मलिक ने कहा, ‘580 उम्मीदवारों ने परीक्षा और साक्षात्कार पास किया था लेकिन मुख्यमंत्री ने विधायकों को उनके लोगों को भर्ती करने को कहा. मैंने कहा कि 580 उम्मीदवारों को नियुक्त करना पड़ेगा, इसके अलावा कोई नियुक्तियां नहीं होंगी.’

गोवा के राज्यपाल ने कहा कि जिन्होंने सत्ता का दुरुपयोग किया उन्हें जेल हो सकती है.

इस दौरान उन्होंने बिहार और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्रियों लालू प्रसाद यादव और ओमप्रकाश चौटाला का हवाला दिया.