भारत

देशभर में प्याज़ की ऊंची कीमत से राहत नहीं, पणजी में भाव 110 रुपये किलो पहुंचा

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्याज़ की कीमत 76 रुपये किलो, मुंबई में 92 रुपये किलो, कोलकाता में 100 रुपये किलो और चेन्नई में 80 रुपये किलो रही. बढ़ती कीमतों के बीच कई जगहों पर प्याज़ चोरी होने की घटनाएं भी सामने आई हैं.

Chikmagalur: A vendor sorts onions at the Agricultural Produce Market Committee (APMC) market in Chikmagalur, Karnataka, Thursday, Sept. 26, 2019. Onion prices are soaring across the country. (PTI Photo) (PTI9_26_2019_000060B)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: देश के प्रमुख शहरों में प्याज़ के दाम अभी भी ऊंचे बने हुए हैं. बृहस्पतिवार को प्याज़ का औसत बिक्री मूल्य 70 रुपये किलो रहा, जबकि पणजी में प्याज़ का अधिकतम मूल्य 110 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया. सरकारी आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, मध्य प्रदेश के ग्वालियर में प्याज़ की कीमत सबसे कम यानी 38 रुपये किलो रही.

देश के चार मेट्रो शहरों में से राष्ट्रीय राजधानी में इसकी कीमत 76 रुपये किलो, मुंबई में 92 रुपये किलो, कोलकाता में 100 रुपये किलो और चेन्नई में 80 रुपये किलो रही.

उपभोक्ता मामलों का मंत्रालय, देश भर में फैले 109 बाजार केंद्रों से जुटाए गए आंकड़ों के आधार पर 22 आवश्यक सामग्रियों (चावल, गेहूं, आटा, चना दाल, तुअर (आहर) दाल, मूंग दाल, चीनी, गुड़, मूंगफली तेल, सरसों तेल, वनस्पति, सूरजमुखी तेल, सोया तेल, पाम तेल, चाय, दूध, आलू, प्याज़, टमाटर और नमक) की कीमतों पर नजर रखता है.

यह दिलचस्प है कि महंगे प्याज़ पर अब चोरों की भी नजर है. सूरत के एक सब्जी विक्रेता ने कहा कि तड़के उसकी दुकान से 25,000 रुपये मूल्य के 250 किलो प्याज़ चुरा लिए गए. इसी तरह महाराष्ट्र से नासिक से गोरखपुर भेजा गया 22 लाख रुपये मूल्य के प्याज़ से भरा ट्रक पहले लापता हो गया, बाद में यह ट्रक खाली मिला, उसमें प्याज़ गायब थे.

सरकार ने बुधवार को देश भर के व्यापारियों पर प्याज़ का स्टॉक रखने की सीमा पर रोक की अवधि अनिश्चित समय लिए आगे बढ़ा दी.

प्याज़ का स्टॉक रखने की सीमा सितंबर में तय की गई थी. वर्तमान में, खुदरा व्यापारी केवल 100 क्विंटल तक प्याज़ का स्टॉक रख सकते हैं और थोक व्यापारियों को 500 क्विंटल तक का स्टॉक रखने की अनुमति है.

खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने बीते बुधवार को कहा था कि सरकार कीमतों को नियंत्रित करने के लिए पूरा प्रयास कर रही है.

उन्होंने कहा कि प्याज़ का स्टॉक रखने की सीमा तय करने के अलावा, केंद्र ने कीमतों को नियंत्रित करने के लिए इस सब्जी के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है तथा 1.2 लाख टन प्याज़ का आयात भी किया है.

सरकारी स्वामित्व वाली कंपनी एमएमटीसी ने बताया कि मिस्र से प्याज़ की पहली खेप दिसंबर के दूसरे सप्ताह में आएगी. एमएमटीसी ने 6,090 टन प्याज़ के आयात का अनुबंध किया है.

मूल्य वृद्धि पर चिंता जताते हुए पासवान ने कहा था कि स्थिति की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में पांच केंद्रीय मंत्रियों का एक दल इस पर नजर रख रहा है. दल के सदस्यों में वित्त मंत्री, कृषि मंत्री और सड़क परिवहन मंत्री भी शामिल हैं.

उन्होंने कहा कि मंत्रियों के समूह ने पहले ही एक बैठक हुई है और दूसरी जल्द ही होगी.

22 लाख रुपये मूल्य के प्याज़ से भरा ट्रक पहले लापता हुआ, फिर खाली मिला

शिवपुरी: प्याज़ की ऊंची कीमतों के बीच एक व्यापारी ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि एक ट्रक से गोरखपुर भेजे गए 20 से 22 लाख रुपये मूल्य के प्याज़ चोरी हो गए है.

ट्रक में 40 टन प्याज़ लदा था और वह महाराष्ट्र के नासिक से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जा रहा था. खाली ट्रक मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के तेंदु पुलिस थाना क्षेत्र में बृहस्पतिवार को मिला.

प्याज़ की खेप भेजने वाले थोक विक्रेता प्रेम चंद शुक्ला ने कहा कि ट्रक 11 नवंबर को नासिक से रवाना हुआ था और वह 22 नवंबर को गोरखपुर पहुंचने वाला था लेकिन वह अपने गंतव्य नहीं पहुंच सका. इस संबंध में शुक्ला ने जिला पुलिस अधीक्षक के समक्ष शिकायत की.

मध्य प्रदेश में अभी प्याज़ 100 रुपये किलोग्राम तक बेचा जा हैं.

पुलिस अधीक्षक ने संवाददाताओं को बताया, ‘हम इस संबंध में मामला दर्ज करके आरोपियों को गिरफ्तार करेंगे.’

गुजरात: सूरत की एक दुकान से 25 हजार रुपये के प्याज़ चोरी

सूरत: ऐसे समय में जब प्याज़ सौ रुपए प्रति किलो तक बिक रहा है तब यहां गुरुवार को तड़के पच्चीस हजार रुपए मूल्य के 250 किलो प्याज़ चोरी हो गए.

घटना गुजरात के सूरत शहर के पालनपुर पाटिया क्षेत्र में एक सब्जी की दुकान के बाहर हुई. दुकान के एक कर्मचारी अमित कनोजिया ने यह जानकारी दी.

उन्होंने कहा, ‘रोजाना की तरह हमने 50-50 किलो के प्याज़ के पांच बोरे दुकान के बाहर बुधवार की रात को रखे थे. हालाँकि पच्चीस हजार रुपए कीमत के प्याज़ की चोरी पहली बार हुई है.’

कनोजिया ने कहा कि प्याज़ के दाम बढ़ने के कारण चोरी हुई होगी. कनोजिया के अनुसार दुकानदार ने अभी तक पुलिस में प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई है.

गुजरात के प्रमुख शहरों में प्याज़ के दाम नब्बे से सौ रुपए प्रति किलो तक हैं.