राजनीति

झारखंड विधानसभा चुनाव: पहले चरण में 13 सीटों के लिए 62.87 प्रतिशत मतदान

चुनाव अधिकारियों ने बताया कि कुछ स्थानों पर हिंसा की मामूली वारदात देखने को मिली, हालांकि कुल मिलाकर मतदान शांतिपूर्ण रहा. अभी दूरदराज़ के कई नक्सल प्रभावित इलाकों से अंतिम रिपोर्ट आना बाकी है. वहां की रिपोर्ट आने के बाद मतदान का प्रतिशत और बढ़ने की संभावना है.

Latehar: People wait in queues to cast their votes at a polling station during the first phase of Jharkhand Assembly elections in Maoist-hit Latehar district, Saturday, Nov. 30, 2019. (PTI Photo) (PTI11_30_2019_000018B)

झारखंड विधानसभा के पहले चरण के मतदान के लिए शनिवार को लातेहर जिले के एक पोलिंग बूथ पर खड़ी महिलाएं. (फोटो: पीटीआई)

रांची: झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण में शनिवार को 13 सीटों पर दोपहर बाद तीन बजे मतदान खत्म होने तक कुल 62.87 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. अधिकारियों ने बताया कि कुछ स्थानों पर हिंसा की मामूली वारदात देखने को मिलीं हालांकि कुल मिलाकर मतदान शांतिपूर्ण रहा.

प्रदेश की 81 विधानसभा सीटों के लिए पांच चरणों में मतदान होना है. पहले चरण में कुल 37,83,055 मतदाता हैं. इन मतदाताओं में 19,81,694 पुरुष, 18,01,356 महिला और 5 तीसरे लिंग के मतदाता हैं. पहले चरण में कुल 189 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

मतदान में नए मतदाताओं (18-19 साल के) की कुल संख्या 1,05,822 हैं, जिनमें 57,687 पुरुष और 48,135 महिला मतदाता हैं.

अधिकारियों ने बताया कि नक्सल प्रभावित इलाकों में सर्वाधिक मतदान की खबर है, दूसरी ओर डाल्टनगंज में कांग्रेस प्रत्याशी कृष्णानंद त्रिपाठी और भाजपा समर्थकों में झड़प की घटना हुई है जिसकी जांच के आदेश दिए गए हैं.

चुनाव आयोग के प्रवक्ता ने बताया कि मतदान का समय दोपहर बाद तीन बजे समाप्त होने तक कुल 62.87 प्रतिशत मतदान हुआ. हालांकि अभी दूरदराज के कई नक्सल प्रभावित इलाकों से अंतिम रिपोर्ट आना बाकी है. वहां की रिपोर्ट आने के बाद मतदान का प्रतिशत और बढ़ने की संभावना है.

उन्होंने बताया कि अंतिम रिपोर्ट मिलने तक चतरा में 56.59 प्रतिशत, गुमला में 67.30 प्रतिशत, बिशुनपुर में 67.04, लोहरदगा में 64.16, मनिका में 57.61, लातेहार में 61.26, पांकी में 64.10, डाल्टनगंज में 63.90, बिश्रामपुर में 61.60 प्रतिशत, छतरपुर में 62.30, हुसैनाबाद में 60.90, गढ़वा में 66.04 और भवनाथपुर में 65.52 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है.

मतदान के दौरान मतदाताओं को भयभीत करने के लिए शनिवार सुबह लगभग साढ़े आठ बजे नक्सलियों ने बिशुनपुर के घाघरा गांव के जंगल में एक पुलिया के निकट विस्फोट किया लेकिन इससे किसी नुकसान की खबर नहीं है. मामले की जांच की जा रही है.

अपर पुलिस महानिदेशक एवं झारखंड चुनावों में सुरक्षा व्यवस्था के नोडल अधिकारी मुरारीलाल मीणा ने इस बारे में बताया कि नक्सलियों ने मतदाताओं में भय पैदा करने के लिए बिशुनपुर के बानालाट और वीरानपुर के बीच जंगल में एक पुलिया के निकट यह विस्फोट किया लेकिन इससे किसी प्रकार की क्षति नहीं हुई और भारी संख्या में सुरक्षा बलों की मौजूदगी के चलते नक्सली वहां से भाग निकले.

मीणा ने बताया कि सभी 13 विधानसभा क्षेत्रों में शांतिपूर्ण ढंग से मतदान हुआ और कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है. चुनाव आयोग के अधिकारियों ने बताया कि सभी स्थानों पर मतदाताओं में भारी उत्साह दिखा और बड़ी संख्या में मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया जो संतोषजनक है.

इस बीच डाल्टनगंज में कांग्रेस के प्रत्याशी कृष्णानंद त्रिपाठी और भाजपा के समर्थकों में झड़प की सूचना मिली है. त्रिपाठी ने बूथ कब्जाने के आरोप लगाए हैं और उन्होंने कहा कि जब वह स्थिति का जायजा लेने मौके पर पहुंचे तो भाजपा समर्थकों ने उन पर हमला बोल दिया जिसके बाद आत्मरक्षा में उन्हें अपनी पिस्तौल निकालनी पड़ी. त्रिपाठी ने भीड़ के बीच पिस्तौल लहरायी.

घटना के बाद दोनों पक्षों ने चुनाव अधिकारियों से मामले की शिकायत की है जिसके बाद मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने जिला निर्वाचन पदाधिकारी को मामले की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है.

चौबे ने बताया कि इस मामले में रिपोर्ट आने के बाद सख्त कार्रवाई की जाएगी. हालांकि इस झड़प के बाद भी आरोपित बूथों पर मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हो गया.

 

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)