भारत

सोमा रॉय बर्मन बनीं देश की 24वीं महालेखा नियंत्रक

1986 बैच की भारतीय सिविल लेखा सेवा अधिकारी सोमा रॉय बर्मन इस पद पर पहुंचने वाली सातवीं महिला हैं.

New Delhi: Soma Roy Burman, a 1986-batch Indian Civil Accounts Service Officer, takes charge as the new Controller General of Accounts, in New Delhi, Sunday, Dec. 1, 2019. (PIB/PTI Photo)(PTI12_1_2019_000057B)

सोमा रॉय बर्मन. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने 1986 बैच की भारतीय सिविल लेखा सेवा अधिकारी सोमा रॉय बर्मन को नया महालेखा नियंत्रक (सीएजी) नियुक्त किया है. वित्त मंत्रालय ने रविवार को एक बयान में इसकी जानकारी दी.

बर्मन 24वीं महालेखा नियंत्रक हैं तथा इस पद पर पहुंचने वाली सातवीं महिला हैं. मंत्रालय ने कहा, ‘सरकार ने बर्मन को महालेखा नियंत्रक नियुक्त किया है. नियुक्ति एक दिसंबर 2019 से प्रभावी है.’

अपने 33 साल के करिअर में बर्मन ने गृह मंत्रालय, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, उद्योग मंत्रालय, वित्त मंत्रालय, मानव संसाधन विकास मंत्रालय और नौवहन, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय में विभिन्न पदों पर काम किया है.

उन्होंने भारत सरकार में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर भी महत्वपूर्ण विभागों को संभाला है, जहां उन्होंने आर्थिक मामलों के विभाग (बजट प्रभाग) में उप सचिव/ निदेशक और गृह मंत्रालय के एनएटीजीआरआईडी के संयुक्त सचिव और वित्तीय सलाहकार के रूप में कार्य किया है.

उन्होंने प्रतिनियुक्ति पर भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (सीएजी) के कार्यालय में निदेशक के रूप में भी कार्यभार संभाला है. इससे पहले बर्मन लेखा नियम, नीति और सुधार, वित्तीय रिपोर्टिंग, डेटा विश्लेषिकी, नकद और बजट प्रबंधन के महत्वपूर्ण क्षेत्रों को संभालते हुए सीजीए कार्यालय में अतिरिक्त महानिदेशक के रूप में कार्य कर चुकी हैं.

इसके साथ ही बर्मन केंद्र सरकार में सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन को मजबूत करने के लिए इन क्षेत्रों में व्यापक सुधारों के निर्माण में सक्रिय रूप से शामिल रही हैं.