भारत

हैदराबाद: पुलिस का दावा- महिला डॉक्टर के बलात्कार और हत्या के चारों आरोपी एनकाउंटर में मारे गए

बीते 27 नवंबर को तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद के बाहरी इलाके में सरकारी अस्पताल में कार्यरत एक महिला डॉक्टर की चार युवकों ने बलात्कार के बाद हत्या कर दी थी.

Hyderabad: Security personnel stand guard the area where four accused in the rape-and-murder case of a 25-year-old woman veterinarian were shot dead by police, at Shadnagar of Ranga Reddy district in Hyderabad, Friday, Dec. 6, 2019.  (PTI Photo/Shailendra Bhojak)(PTI12_6_2019_000080B)

हैदराबाद में उस घटनास्थल पर तैनात पुलिसकर्मी, जहां महिला डॉक्टर के बलात्कार और हत्या के आरोपी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में एक महिला वेटेरनरी डॉक्टर के बलात्कार और हत्या के चारों आरोपियों के एक एनकाउंटर में मारे जाने का दावा पुलिस ने किया है.

पुलिस का दावा है कि ये सभी आरोपी भागने की कोशिश कर रहे थे और पुलिस फायरिंग में मारे गए. आरोपियों की आयु 20 से 24 वर्ष थी.

इस संबंध में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना सुबह साढ़े छह बजे की है. जांच के लिए पुलिस आरोपियों को घटनाक्रम की पुनर्रचना के लिए घटनास्थल पर ले गई थी.

उन्होंने कहा, ‘उन्होंने (आरोपियों) पुलिस से हथियार छीने और पुलिस पर गोलियां चलाईं. आरोपियों ने भागने की कोशिश की, जिसके बाद पुलिस ने जवाब में गोलियां चलाईं. इस दौरान चारों आरोपी मारे गए.’

अधिकारी ने बताया कि इस घटना में दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं.

हैदराबाद के साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, ‘सभी आरोपी मोहम्मद आरिफ, नवीन, शिवा और चेन्नाकेशवुलु शुक्रवार तड़के तीन से छह बजे के बीच शादनगर के चतनपल्ली के पास पुलिस एनकाउंटर में मारे गए. मामले की विस्तृत जानकारी जल्द दी जाएगी.’

इधर, महिला डॉक्टर के पिता ने कहा, ‘मेरी बेटी की मौत को 10 दिन हो गए. मैं पुलिस और सरकार के प्रति अपना आभार प्रकट किया है. अब मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिल जाएगी.’

बीते 27 नवंबर की रात में हैदराबाद शहर के बाहरी इलाके में सरकारी अस्पताल में कार्यरत 25 वर्षीय पशु चिकित्सक से चार युवकों ने बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी थी. ये चारों युवक लॉरी मजदूर हैं.

इस जघन्य अपराध के सिलसिले में चारों आरोपी युवकों को 29 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था. अगले दिन 30 नवंबर को इन सभी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था.

महिला डॉक्टर के लापता होने की एफआईआर दर्ज करने में लापरवाही बरतने के मामले में तीन पुलिसकर्मियों को बर्खास्त भी किया जा चुका है. 27 नवंबर की रात महिला डॉक्टर लापता हो गई थीं और अगली सुबह उनका जला हुआ शव हैदराबाद के शादनगर में एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर के नीचे मिला था.

आरोप है कि 27 नवंबर की शाम चारों आरोपियों ने जान-बूझकर महिला डॉक्टर की स्कूटी पंक्चर की थी और फिर मदद के बहाने उन्हें सूनसान जगह पर ले जाकर उनके साथ बलात्कार किया और हत्या कर दी. फिर शव को जला दिया.

इस घटना को लेकर पूरे देश में आक्रोश उत्पन्न हो गया है. देश के विभिन्न शहरों में चारों आरोपियों को फांसी की सजा देने के मांग के साथ प्रदर्शन भी किए जा रहे थे.