भारत

न्यूज़ ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन ने अर्नब गोस्वामी को संचालन मंडल का अध्यक्ष चुना

न्यूज़ ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन का गठन इस साल जुलाई में 50 समाचार चैनलों के साथ किया गया था. इसमें एक अध्यक्ष और चार प्रख्यात व्यक्ति और चार संपादक होंगे.

अर्णब गोस्वामी (फोटो साभार: ट्विटर)

अर्णब गोस्वामी (फोटो साभार: ट्विटर)

नई दिल्ली: अठहत्तर से अधिक न्यूज चैनलों के सबसे बड़े एसोसिएशन न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन (एनबीएफ) ने रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी को अपने गवर्निंग बोर्ड (संचालन मंडल) का अध्यक्ष निर्वाचित किया है.

एक बयान के अनुसार 14 भाषाओं के 78 न्यूज चैनलों के इस निकाय ने सामग्री पर पारदर्शी स्व-नियमन लाने के लिए स्व-नियामक संगठन ‘न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन ऑथॉरिटी’ के तौर तरीकों को अंतिम रूप देने के लिए शनिवार को बैठक की थी.

ये सभी चैनल 25 राज्यों से हैं. बयान के अनुसार जनवरी, 2020 तक नए स्व-नियामक संगठन की आधिकारिक रूप से घोषणा की जाएगी. बयान के अनुसार सदस्यों ने सर्वसम्मति से रिपब्लिक टीवी के प्रबंध निदेशक और प्रधान संपापदक अर्नब गोस्वामी को एनबीएफ के संचालन बोर्ड का नया अध्यक्ष चुना.

गोस्वामी ने एनबीएफ अध्यक्ष चुने जाने पर कहा, ‘भारत में प्रसारकों के सबसे बड़े समूह द्वारा मुझ पर दर्शाए गए विश्वास एवं भरोसे को लेकर मैं आभारी हूं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘एनबीएफ एक गेम चेंजर है और यह असाधारण है कि किस तरह इतने चैनल मालिक और शीर्ष अधिकारी एनबीएफ को बनाने के लिए इतनी जल्दी एक साथ आए हैं. लंबे समय से दिल्ली स्थित चैनलों के एक समूह ने भारतीय ब्रॉडकास्टर्स का प्रतिनिधित्व करने का झूठा दावा किया है. एनबीएफ ये सब बदलेगा.’

एनबीएफ ने चार उपाध्यक्षों का भी चुनाव किया. ये ओर्टल कम्युनिकेशंस के सह संस्थापक जागी मंगत पांडा, फोर्थ डायमेंशन के शंकर बाला, प्राग न्यूज के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक संजीव नारायण और आईटीवी नेटवर्क के कार्तिकेय शर्मा हैं. वे संचालन मंडल का हिस्सा होंगे.

न्यूज ब्रॉडकास्टर्स फेडरेशन का गठन इस साल जुलाई में 50 समाचार चैनलों के साथ किया गया था. सदस्यों ने बोर्ड की बैठक से पहले सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात की और अपना पहला ज्ञापन प्रस्तुत किया. मंत्री ने क्षेत्रीय समाचार चैनलों के महत्व को समझते हुए एनबीएफ और उसके सदस्यों से एक मजबूत स्व-नियामक तंत्र बनाने का आग्रह किया.

इसमें एक अध्यक्ष और चार प्रख्यात व्यक्ति और चार संपादक होंगे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)