भारत

नागरिकता कानून: कर्नाटक के मंत्री ने कहा, बहुसंख्यक संयम खोएंगे तो गोधरा जैसे हालात हो सकते हैं

कर्नाटक के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सीटी रवि ने नागरिकता कानून के विरोध पर कहा कि यही मानसिकता थी जिस वजह से गोधरा में ट्रेन में आग लगाई गई थी और कारसेवकों को जिंदा जलाया गया था. मैं आपको सलाह देता हूं कि पीछे मुड़कर देखें कि तब क्या हुआ था जब हमारे धैर्य की सीमा टूटी थी.

C T Ravi-facebook

कर्नाटक के भाजपा मंत्री सीटी रवि (फोटो: फेसबुक)

बेंगलुरुः नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के कई हिस्‍सों में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच कर्नाटक के वरिष्ठ भाजपा मंत्री सीटी रवि ने एक विवादित बयान दिया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, सीटी रवि का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह कहते दिख रहे हैं कि अगर बहुसंख्यकों ने अपना संयम खोया तो गोधरा जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है.

कर्नाटक के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री रवि ने नागरिकता कानून के विरोध का हवाला देते हुए कहा, ‘यही मानसिकता थी जिस वजह से गोधरा में ट्रेन में आग लगाई गई थी और कारसेवकों को जिंदा जलाया गया था. यहां पर बहुसंख्यक समुदाय संयमित है तो आप हर जगह आग लगाने की कोशिश कर रहे हो. मैं आपको सलाह देता हूं कि पीछे मुड़कर देखें कि तब क्या हुआ था जब हमारे धैर्य की सीमा टूटी थी. हमारा सयंम हमारी कमजोरी नहीं है. हम भी देख रहे हैं कि कैसे आप सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं और राज्य में आग लगे रहे हैं.’

गुरुवार को मैंगलोर से कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री यूटी कादर ने कहा था कि अगर मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने राज्य में नागरिकता कानून लागू करने की कोशिश की तो कर्नाटक आग में जल जाएगा.’

कादर ने कहा था, ‘सोशल मीडिया के जरिए मुझे पता चला  कि कर्नाटक में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लागू करने के निर्देश दिए गए हैं. मैं चेतावनी देता हूं कि अगर मुख्यमंत्री ने नागरिकता कानून को यहां लागू किया तो मैं कसम खाता हूं कि कर्नाटक आग में जल जाएगा.’

मालूम हो कि भाजपा नेता रवि के इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इसकी आलोचना हो रही है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और गांधीनगर से विधायक दिनेश गुंडू राव ने मंत्री के इस बयान को सबसे अधिक भड़काऊ धमकी दी है.

उन्होंने कहा, ‘पुलिस को रवि के खिलाफ मामला दर्ज करना चाहिए और उन्हें एहतियातन हिरासत में लेना चाहिए. एक संवैधानिक पद पर बैठकर वे इस तरह नहीं बोल सकते.’
पर्यटन मंत्री रवि ने यह बयान कथित रूप से संवाददाताओं द्वारा बुधवार को कांग्रेस विधायक यूटी कादर के हाल के एक बयान के बारे में पूछे गए एक सवाल के उत्तर में कही.

राज्य के तटीय शहर मैंगलोर में सोमवार को कथित तौर पर पुलिस की फायरिंग में दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई थी. यहां 21 दिसंबर रात 10 बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं.

मालूम हो कि 2002 में गुजरात में गोधरा रेलवे स्टेशन पर साबरमती एक्सप्रेस में आग लगा दी गई थी, जिसमें 59 लोगों की मौत हो गई थी. इस घटना के बाद राज्य में बड़े पैमाने पर दंगे हुए थे, जिसमें लगभग 1,200 लोगों की मौत हुई थी.

बता दें कि रवि कर्नाटक के चिक्कामगलुरु से चार बार विधायक रह चुके हैं. वह अपने सांप्रदायिक बयानों के लिए जाने जाते रहे हैं.

उन्होंने 15 दिसंबर को ट्वीट कर कहा था,’जो लोग हिंदुओं से आजादी चाहते हैं, वे भारत छोड़कर जा सकते हैं.’