भारत

उन्नावः आरोपियों को ज़मानत मिलने पर खुद को आग लगाने वाली बलात्कार पीड़िता की अस्पताल में मौत

उत्तर प्रदेश के उन्नाव ज़िले में पुलिस कार्यालय के सामने 16 दिसंबर को युवती ने ख़ुद को आग लगा ली थी. पीड़िता ने दो अक्टूबर को अवधेश नाम के शख्स पर बलात्कार का आरोप लगाकर उसके खिलाफ मामला दर्ज कराया था. इस मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट से उसे ज़मानत मिल गई थी.

(फोटो साभार: IndiaRail Info)

(फोटो साभार: IndiaRail Info)

कानपुर: उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में पुलिस कार्यालय के सामने खुद को आग लगाने वाली कथित बलात्कार पीड़िता ने शनिवार रात दम तोड़ दिया. पीड़िता आरोपी को हाईकोर्ट से जमानत मिलने और पुलिस की कार्रवाई से दुखी थी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्नाव के पुलिस अधीक्षक (एसपी) के कार्यालय के बाहर खुद को आग लगाने वाली बलात्कार पीड़िता की अस्पताल में शनिवार रात मौत हो गई.

पीड़िता लगभग 70 फीसदी झुलस गई थी और उसे कानुपर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

डॉक्टरों का कहना है कि महिला के पेट और श्वसन तंत्र में सूजन आ गई थी और वह शनिवार सुबह से वेंटिलेटर पर थी.

मालूम हो कि बलात्कार के आरोपी अवधेश सिंह को 28 नवंबर को अदालत से अग्रिम जमानत मिल गई थी. उसे आत्महत्या के लिए मजबूर करने के लिए गिरफ्तार किया गया था.

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, उसके और तीन अन्य लोगों के खिलाफ बलात्कार और आपराधिक धमकी के लिए दो अक्टूबर को एफआईआर दर्ज की गई.

उन्नाव के एसपी विक्रांत वीर ने कहा, ‘जिस महिला ने आत्महत्या की कोशिश की थी, उनकी शनिवार शाम को अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. उन्हें उन्नाव के अस्पताल से कानुपर के अस्पताल में भर्ती किया गया था. इस मामले में आरोपी को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था.’

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, महिला ने एसपी ऑफिस के बाहर खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा ली थी. पुलिसकर्मियों ने आग बुझाने की कोशिश की लेकिन वह तब तक 70 फीसदी झुलस चुकी थी.

दो अक्टूबर को दर्ज एफआईआर के मुताबिक, महिला का आरोप था कि आरोपी शादी का वादा कर बीते 10 साल से उसका बलात्कार करता रहा. वह पैसों के लिए उसे ब्लैकमेल भी करता था.

एफआईआर में कहा गया है कि आरोपी ने तीन लोगों के साथ मिलकर 30 सितंबर को उसे मारने की भी कोशिश की थी.

चार आरोपियों के खिलाफ 13 दिसंबर को चार्जशीट दाखिल की गई.

पीड़िता ने दो अक्‍टूबर, 2019 को चार लोगों के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कराया था. इस मामले में आरोपियों को हाईकोर्ट से जमानत मिल गई थी.

हसनगंज थाना इलाके के एक गांव की युवती हाथ में मिट्टी का तेल लेकर सुबह करीब 11 बजे पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंची.

प्रत्यक्षदर्शियों बताया कि युवती ने कार्यालय के बाहर खुद पर केरोसिन डाल लिया और आग लगा लिया. लपटों से घिरी युवती जलते हुए कार्यालय में घुसने का प्रयास कर रही थी. तभी पुलिसकर्मियों ने कड़ी मशक्कत से आग पर काबू पाया और जिला अस्पताल लेकर गए.

उन्नाव पुलिस अधीक्षक विक्रांतवीर ने बताया कि युवक ने शादी का झांसा देकर उसका शोषण किया और बाद में शादी से मुकर गया. इसके बाद युवती ने हसनगंज थाने में बलात्कार का मामला दर्ज करवाया था. हाल ही में आरोपी को इलाहाबाद हाईकोर्ट से अग्रीम जमानत मिली थी.

उन्होंने बताया कि कानूनी कार्रवाई पूरी करके चार्जशीट दाखिल कर दी गई है और आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)