नॉर्थ ईस्ट

त्रिपुरा: भीड़ द्वारा मवेशी चोरी के संदेह में युवक की पीट-पीटकर हत्या

घटना भारत बांग्लादेश सीमा के पास त्रिपुरा के सिपाहीजाला ज़िले के गोरुबंद इलाके की है. युवक को कथित तौर पर दो गायों के साथ भीड़ ने पकड़ा था.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

अगरतला: त्रिपुरा के सिपाहीजाला जिले में मवेशी चोरी के संदेह में भीड़ ने 29 वर्षीय एक व्यक्ति की बुरी तरह पिटाई की, जिसके बाद अस्पताल में उसकी मौत हो गई. पुलिस ने यह जानकारी दी.

सोनमूरा के उप-संभागीय पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) सौविक डे ने बताया कि भारत-बांग्लादेश सीमा के पास सोनमूरा के गोरुरबंद इलाके में रविवार को सुबह मतीन मियां को दो गायों के साथ पकड़ा गया था.

उन्होंने कहा, ‘ग्रामीणों के एक समूह ने उसे दो गायों के साथ पकड़ा, जिसके बाद अन्य ग्रामीणों ने उनके साथ मिलकर उसे बुरी तरह पीटा.’

अधिकारी ने बताया, ‘उसे मेलाघर अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उसकी मौत हो गई.’

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पुलिस अधिकारियों ने बताया कि स्थानीय पुलिस स्टेशन में दो शिकायतें दर्ज की गई हैं- एक मारपीट के लिए और दूसरी पशु चोरी के लिए.

डे ने यह भी बताया कि मतीन के पिता शफीक मियां (60) ने सोनमूरा पुलिस स्टेशन में दो लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि उसके बेटे को हत्या करने के लिए उसे पीटा गया था.

पुलिस ने इसके आधार पर एक प्राथमिकी दर्ज की है. डे ने बताया कि तपन भौमिक नामक व्यक्ति ने उनके घर से मवेशी चोरी का आरोप लगाते हुए एक प्राथमिकी दर्ज कराई है.

उन्होंने बताया कि मामले की जांच चल रही है और अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

रिपोर्ट के अनुसार, इससे पहले बीते सितंबर में उत्तर त्रिपुरा जिले के कुमारघाट गांव में एक व्यक्ति की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. उसके पास कथित तौर पर चोरी का सामान मिला था. इसी तरह जुलाई में त्रिपुरा के ढलाई जिले के सीमावर्ती गांव रायश्यबारी में एक व्यक्ति की मवेशी चोर होने के संदेह में पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी.

पिछले साल जून महीने में भी त्रिपुरा सूचना एवं संस्कृति विभाग के एक सदस्य सहित तीन लोगों की बच्चा चोर होने के संदेह में पीट-पीट कर हत्या की दी गई थी. ये तीनों लोग बच्चा चोरी की अफवाह के खिलाफ इलाके में जागरूकता फैला रहे थे. मृतक की पहचान 33 वर्षीय सुकांत चक्रवर्ती के रूप में हुई थी.

सुकांत के अलावा पिछले साल जून महीने में ही पश्चिम त्रिपुरा के मुराबारी में बच्चा चोर होने के संदेह में एक अन्य व्यक्ति की कथित रूप से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी और सिपाहीजाला ज़िले के बिशालगढ़ में भी एक महिला की पीट-पीट कर हत्या की गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)