भारत

नागरिकता क़ानून के समर्थन में भाजपा द्वारा ऋत्विक घटक की फिल्मों के उपयोग पर परिजनों की आपत्ति

भारतीय जनता पार्टी के यूथ विंग द्वारा हाल ही में नागरिकता क़ानून के पक्ष में जारी किए वीडियो में बंगाली फिल्मकार ऋत्विक घटक की फिल्मों के क्लिप इस्तेमाल किए गए हैं. घटक के परिवार ने इसकी निंदा करते हुए कहा है कि ऋत्विक सेकुलर थे और यह क़ानून उन सिद्धांतों के ख़िलाफ़ है, जिन्हें वे मानते थे.

एक फिल्म के दृश्य में ऋत्विक घटक. (फोटो साभार: विकीपीडिया)

एक फिल्म के दृश्य में ऋत्विक घटक. (फोटो साभार: विकीपीडिया)

बीते दिनों भाजपा के यूथ विंग भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में जारी किए गए एक छह मिनट के वीडियो में विभाजन पर बनी प्रतिष्ठित बंगाली फिल्मकार ऋत्विक घटक की तीन फिल्मों- मेघे ढाका तारा, सुबर्णरेखा और कोमल गांधार के कुछ हिस्से शामिल थे.

द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार घटक के परिवार ने इस पर आपत्ति जताई है. परिवार द्वारा जारी एक बयान में ‘घटक की राजनीति और सिनेमा के दुरूपयोग’ की निंदा की गयी है.

बयान में यह भी कहा गया है कि ऋत्विक सेकुलर थे और यह क़ानून उन सिद्धांतों के ख़िलाफ़ है, जिन्हें वे मानते थे.

गौरतलब है कि बीते दिनों पारित हुए संशोधित नागरिकता कानून का देश भर के विभिन्न हिस्सों में विरोध हो रहा है. इस कानून में अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान किया गया है.

घटक की 94 वर्षीय जुड़वां बहन प्रतीति देवी समेत इस बयान पर उनके परिवार के 24 सदस्यों ने दस्तखत किए हैं, जिनमें लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्मेंस में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर मैत्रीश घटक और अभिनेता और निर्देशक परमब्रत चट्टोपाध्याय भी शामिल हैं.

बयान में कहा गया है, ‘श्री घटक के सिनेमा में हमेशा वंचितों- विशेष रूप से राजनीतिक और सामाजिक उथल-पुथल के शिकार विस्थापित और हाशिए पर पड़े लोगों के लिए उनकी गहरी सहानुभूति प्रतिबिंबित होती है. … उनकी फिल्मों का कोई हिस्सा- जिसे बिना इसके संदर्भ के, एक ऐसे कानून, जो इस देश के सभी नागरिकों को अपनी नागरिकता साबित करने और एक समुदाय, मुस्लिमों, के लाखों लोगों को प्रभावित कर उन्हें स्टेटलेस बना सकता है- को सही ठहराने के लिए इस्तेमाल को हम अस्वीकार्य करते हैं.’

उन्होंने घटक की फिल्मों के हिस्से वाले वीडियो को फौरन वापस लेने की मांग भी की है.

वीडियो जारी होने के बाद भाजपा नेता सामिक भट्टाचार्य ने समाचार एजेंसी आईएएनएस से बात करते हुए कहा था कि यह वीडियो बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि ‘विभाजनकारी’ लोग बंटवारे के इतिहास को ‘मिटाने’ की कोशिश कर रहे हैं.

उन्होंने कहा था, ‘कुछ लोग राजनीति के एक विभाजनकारी ब्रांड का समर्थन कर विभाजन के इतिहास को मिटाने का अथक प्रयास कर रहे हैं और अपने अभियानों में गलत सूचना के माध्यम से देश की युवा पीढ़ी को अंधेरे में रखना चाहते हैं. ये फिल्में वर्तमान स्थिति में बहुत महत्वपूर्ण हैं.’

हालांकि भट्टाचार्य ने टेलीग्राफ को बताया कि उन्होंने अब तक घटक के परिवार का बयान नहीं देखा है.