दुनिया

पाकिस्तान: प्रसिद्ध फिल्मकार ने ‘डॉन’ अख़बार के सीईओ पर लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप

पाकिस्तान के मशहूर फिल्मकार जमशेद महमूद रज़ा ने अंग्रेज़ी अख़बार ‘डॉन’ के सीईओ हमीद हारून पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं. उनका यह भी कहना है कि इन आरोपों का अख़बार से कोई लेना-देना नहीं है, वे बस यौन उत्पीड़न के अन्य पीड़ितों को हौसला देना चाहते हैं.

Haroon-Jami-Pakistan-Today

पाकिस्तानी अखबार डॉन के सीईओ हमीद हारून और फिल्मकार जमशेद महमूद (फोटो साभारः पाकिस्तान टुडे)

इस्लामाबादः पाकिस्तान के जाने-माने फिल्मकार जमशेद महमूद रजा ने देश के अंग्रेजी के प्रतिष्ठित समाचार पत्र ‘डॉन’ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) हमीद हारून पर 13 साल पहले उनका यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है.

जामी रजा के नाम से मशहूर जमशेद महमूद रजा ने शनिवार को सिलसिलेवार कई ट्वीट कर ‘डॉन’ के सीईओ हमीद हारून पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके आरोपों का समाचार पत्र से कोई लेना देना नहीं है. वह यौन उत्पीड़न के अन्य पीड़ितों को हौसला देना चाहते हैं.

एक ट्वीट में जमशेद ने कहा, ‘मुझे पता था कि मेरी कहानी को अखबार पर हमला करने का प्रयास माना जाएगा. यह डॉन बनाम जमशेद नहीं है. यह व्यक्तिगत मुद्दा है. अब मैं पीड़ितों की मदद के लिए यह सब कर रहा हूं.’

पाकिस्तान टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, जमशेद महमूद ने इस साल अक्टूबर में कहा था कि एक मीडिया संस्थान के ताकतवर शख्स ने कथित तौर पर उनका बर्बर यौन उत्पीड़न किया. हालांकि, उन्होंने इस दौरान किसी का नाम नहीं लिया था.

जमशेद ने शनिवार को सिलसिलेवार ट्वीट कर डॉन के सीईओ हमीद हारून को बलात्कारी बताते हुए कहा, ‘मैं अब तैयार हूं. डॉन क्या आप इसे प्रिंट करने के लिए तैयार हो?’

जमशेद का कहना है कि उन्होंने यौन हिंसा और मीटू आंदोलन के सर्वाइवर के प्रति एकजुटता दिखाते हुए आवाज उठाई है.

वहीं, डॉन के सीईओ ने इन आरोपों से इनकार करते हुए इसे उन्हें और उनके समाचार पत्र को चुप कराने का प्रयास बताया है.

हारून ने इन आरोपों के जवाब में एक बयान जारी किया है. उन्होंने अपने बयान में कहा, ‘जाहिर तौर पर यह कहानी फर्जी है. जानबूझकर मनगढ़ंत और काल्पनिक कहानी गढ़ी गई ताकि मुझे और अखबार को चुप कराया जा सके. मैं इस मामले में कानूनी कार्रवाई करने जा रहा हूं.’

हारून ने कहा, ‘मैं कानूनी कार्रवाई शुरू करने जा रहा हूं. यह मेरे नाम और प्रतिष्ठा के साथ प्रेस की आजादी पर चोट करने की साजिश है.’

बता दें कि पाकिस्तान के मनोरंजन उद्योग में जमशेद महमूद एक बड़ा नाम है. जमशेद महमूद ने 2014 में ‘O21’ नाम की एक फिल्म का निर्देशन किया था, जिसे काफी सराहा गया था. वहीं, उनकी फिल्म ‘मूर’ 2015 में पाकिस्तान की तरफ से ऑस्कर के लिए भेजी गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)