भारत

दिल्ली समेत उत्तर भारत में भीषण ठंड जारी, 119 सालों में सोमवार राजधानी का सबसे ठंडा दिन रहा

राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में मंगलवार सुबह न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सोमवार की सुबह से दो डिग्री अधिक है. सोमवार को अधिकतम तापमान 9.4 और न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

New Delhi: People warm themselves near a bonfire during a cold and foggy morning in New Delhi, Monday, Dec 30,2019. A thick blanket of fog engulfed the national capital on Monday morning affecting train and flight operations as visibility dropped drastically, with some observatories recording it at zero metres. (PTI Photo/Kamal Kishore) (PTI12_30_2019_000040B)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली/चंडीगढ़/श्रीनगर/भोपाल: राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली के अलावा पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान सहित उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में भीषण ठंड का कहर मंगलवार को भी जारी है. मंगलवार सुबह शहर का न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सोमवार की सुबह से दो डिग्री अधिक है.

दिल्ली में बीते सोमवार को अधिकतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था और इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में आज का दिन पिछले 119 साल में दिसंबर का सबसे सर्द दिन दर्ज किया गया.

मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्सों में हल्का कोहरा रहा, हालांकि दिल्ली हवाई अड्डे पर उड़ानों का संचालन सामान्य रहा और किसी भी उड़ान को रद्द नहीं किया गया.

सफदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो मौसम के औसत से दो डिग्री नीचे है. पालम में न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री सेल्सियस, लोधी रोड में 3.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि अयानगर में यह 4.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आर्द्रता का स्तर 91 प्रतिशत दर्ज किया गया. वायु की गुणवत्ता 401 दर्ज की गई, जो गंभीर श्रेणी में आती है.

मंगलवार को कोहरे के कारण कम से कम 34 ट्रेनें देरी से चल रही हैं, जिसमें चेन्नई-निजामुद्दीन दुरंतो एक्सप्रेस आठ घंटे से अधिक, भुवनेश्वर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस 6 घंटे और हावड़ा-नई दिल्ली दुरंतो एक्सप्रेस 3 घंटे की देरी से चल रहीं हैं.

पिछले 119 वर्षों में सोमवार रहा दिसंबर में दिल्ली का सबसे सर्द दिन

नई दिल्ली में सोमवार को अधिकतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में आज का दिन पिछले 119 साल में दिसंबर का सबसे सर्द दिन दर्ज किया गया.

राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार का दिन 1901 के बाद से दिसंबर का सबसे सर्द दिन रहा और दिसंबर से फरवरी के बीच यह 1951 के बाद सबसे ठंडा दिन था.

सफदरजंग वेधशाला के अनुसार, न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम के औसत तापमान से चार डिग्री कम है और हवा में नमी का स्तर 100 प्रतिशत दर्ज किया गया.

सोमवार की सुबह राष्ट्रीय राजधानी भीषण कोहरे की गिरफ्त में थी. कुछ वेधशालाओं में दृश्यता नहीं के बराबर दर्ज की गई. पालम में न्यूनतम तापमान 2.9, लोधी रोड में 2.2 और आयानगर में 2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया था, ‘सफदरजंग वेधशाला में अधिकतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और यह 1901 के बाद दिसंबर में सबसे ठंडा दिन रहा.’

सोमवार को घने कोहरे के चलते 530 उड़ानों में देरी हुई, 40 को रद्द करना पड़ा और 21 उड़ानों के मार्ग में परिवर्तन किया गया था. रेल अधिकारियों ने बताया था कि 71 ट्रेनें देरी से चलीं. दिल्ली-भुवनेश्वर राजधानी साढ़े सात घंटे की देरी से चली.

New Delhi: A metro train runs on a track in New Delhi, Monday, Dec. 30, 2019. Construction of Delhi Metro's Phase-IV began with a ground-breaking ceremony at Haider Badli Mor as piling work began for construction of 10 stations on Janakpuri-R K Ashram corridor. (PTI Photo/Atul Yadav)(PTI12_30_2019_000155B)

दिल्ली में शीतलहर का कहर जारी है. (फोटो: पीटीआई)

राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार, 28 दिसंबर इस मौसम के सबसे ठंडे दिन के तौर पर दर्ज किया गया जब न्यूनतम तापमान सुबह 2.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था.

इंडियन एक्सप्रेस ने मौसम विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के आधार पर बताया है कि बीते सोमवार को अधिकतम तापमान सामान्य से 11.4 डिग्री कम रहा. इससे पहले साल 1951 से 2019 के बीच सबसे ठंडा दिन 02 जनवरी 2013 को था, जब अधिकतम तापमान 9.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था.

इतना ही नहीं इससे पहले सबसे ठंडा दिसंबर 1997 में रहा था, जब औसत अधिकतम तापमान 17.35 डिग्री सेल्सियस रहा था. वहीं इस महीने औसत अधिकतम तापमान 18.61 डिग्री सेल्सियस रहा.

रिपोर्ट के अनुसार, इस दिसंबर सोमवार 30 दिसंबर तक लगातार 14 दिन कड़ाके की ठंड पड़ी. इससे पहले दिसंबर 1997 में लगातार 17 दिन कड़ाके की ठंड पड़ी थी.

सोमवार को मौसम विभाग ने बताया कि सफदरजंग वेधशाला में दोपहर ढाई बजे तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

पंजाब और हरियाणा में ठंड जारी; नारनौल सबसे ठंडी जगह

पंजाब और हरियाणा में शीतलहर का प्रकोप मंगलवार को भी जारी रहा और दोनों राज्यों में नारनौल सबसे ठंडा स्थान रहा.

यहां मौसम विभाग के एक अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि हरियाणा के नारनौल में तापमान 2.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जो सामान्य से तीन डिग्री नीचे था. दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में तापमान सामान्य से एक डिग्री कम, 4.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

इस बीच हिसार में न्यूनतम तापमान 4.5 डिग्री, अंबाला में 4.6, रोहतक में 4.8, सिरसा में 4.9 और करनाल में पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

पंजाब में अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में क्रमश: 3.4, 4.1 और 4.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. पठानकोट, आदमपुर, बठिंडा और हलवारा में न्यूनतम तापमान क्रमश: 3.5, 3.6, 4.2 और 4.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

पटियाला, पठानकोट, गुरदासपुर समेत कई अन्य स्थानों पर कोहरा भी छाया रहा जिससे दृश्यता घट गई.

कश्मीर घाटी में शीत लहर से मिली राहत, नए साल में हो सकती है बर्फबारी

कश्मीर में मंगलवार को न्यूनतम तापमान में सुधार होने के चलते लोगों को शीत लहर से कुछ राहत मिली है, हालांकि मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक बुधवार से घाटी में बर्फबारी हो सकती है.

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि घाटी में रात के तापमान में सोमवार रात सुधार हुआ, जिससे निवासियों को राहत मिली.

उन्होंने कहा कि श्रीनगर शहर में सोमवार रात पारा शून्य से 3.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. इससे एक रात पहले रविवार को तापमान शून्य से 6.5 डिग्री नीचे था. यानी तापमान में करीब तीन डिग्री का सुधार दर्ज किया गया.

अधिकारी ने बताया कि उत्तरी कश्मीर के गुलमर्ग स्थित स्की रिजॉर्ट में बीती सोमवार रात तापमान शून्य से 7.2 डिग्री नीचे दर्ज किया गया, जो इससे पिछली रात शून्य से 7.8 डिग्री नीचे था.

उन्होंने बताया कि उत्तरी कश्मीर के बारामूला में स्थित गुलमर्ग घाटी में सबसे ठंडा रहा. अधिकारी ने कहा कि पहलगाम रिसॉर्ट में रात का तापमान, शून्य से 5.3 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा, जबकि इससे एक रात पहले यह आंकड़ा शून्य से 10.2 डिग्री सेल्सियस नीचे था.

Srinagar: A man looks at icicles hanging from a bridge after snowfall at Tangmarg near Srinagar, Monday, Dec. 30, 2019. (PTI Photo) (PTI12_30_2019_000134B)

जम्मू कश्मीर में श्रीनगर के पास तंगमार्ग में बने एक पुल के पास जमा बर्फ. (फोटो: पीटीआई)

दक्षिण कश्मीर में स्थित पहलगाम वार्षिक अमरनाथ यात्रा के लिए आधार शिविरों में एक है. उन्होंने बताया कि लद्दाख केंद्र शासित राज्य के लेह में पारा शून्य से 15.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो पिछली रात के शून्य से नीचे 20.1 डिग्री के तापमान से पांच डिग्री कम है.

द्रास में तापमान शून्य से 22.6 डिग्री नीचे दर्ज किया गया.

कश्मीर में ‘चिल्लई कलां’ का समय चल रहा है, जिसका अर्थ है सर्दियों के 40 सबसे ठंडे दिन. यह 21 दिसंबर से 31 जनवरी तक चलता है. कश्मीर में इसके बाद भी शीत लहर जारी रहती है.

मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि बुधवार से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित प्रदेशों में मध्यम से भारी बर्फबारी हो सकती है.

अधिकारी ने कहा, ‘एक जनवरी की दोपहर से तीन जनवरी तक कश्मीर के मैदानी इलाकों में हल्की बर्फबारी और जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख के पहाड़ी इलाकों में मध्यम से भारी बर्फबारी हो सकती है.’

मध्यप्रदेश में अधिकांश हिस्सों में रही शीत लहर

नई दिल्ली की तरह मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में सोमवार को शीत लहर को प्रकोप रहा तथा उत्तरी भाग एवं कुछ अन्य इलाकों में घना कोहरा छाया रहा.

भारतीय मौसम विभाग के भोपाल केंद्र के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक जीडी मिश्रा ने बताया कि मध्य प्रदेश में सोमवार सबसे कम न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस ग्वालियर, उमरिया एवं दतिया में दर्ज किया गया. उन्होंने कहा कि ग्वालियर में अधिकतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस रहा.

उन्होंने कहा कि सतना, रीवा, दमोह, दतिया, शहडोल, सागर एवं ग्वालियर जिलों में घना कोहरा छाया रहा. उमरिया, सिवनी, दतिया एवं ग्वालियर जिलों में तीव्र शीतलहर तथा कुछ स्थानों पर शीतलहर चली.

मिश्रा ने बताया था कि जिन जिलों में मंगलवार को कहीं-कहीं पर हल्की से सामान्य बारिश होने की संभावना है, उनमें भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, धार, इंदौर, देवास, रतलाम, शाजापुर, उज्जैन, दतिया, भिंड, मुरैना, श्योपुर, उमरिया, डिंडौरी, कटनी, छिंदवाड़ा, जबलपुर, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, सागर, दमोह, बैतूल, हरदा एवं होशंगाबाद शामिल हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)