भारत

राजस्थानः कोटा में बच्चों की मौत को लेकर केंद्र विशेषज्ञों की एक उच्चस्तरीय टीम भेजेगा

राजस्थान के कोटा जिले के सरकारी जेके लोन अस्पताल में दिसंबर के अंतिम दो दिन में कम से कम नौ और शिशुओं की मौत के बाद मृतक बच्चों की संख्या बढ़कर 104 हो गई है.

कोटा स्थित जेके लोन अस्पताल. (फोटो साभार: ट्विटर/@Pintuchoudhry3)

कोटा स्थित जेके लोन अस्पताल. (फोटो साभार: ट्विटर/@Pintuchoudhry3)

जयपुरः राजस्थान के कोटा के जेके लोन अस्पताल में दिसंबर महीने में अब तक 104 बच्चों की मौत के बाद केंद्र सरकार ने एक उच्चस्तरीय दल शुक्रवार को कोटा भेजने का फैसला किया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कोटा के अस्पताल में नवजात बच्चों की मौत के मामले में राजस्थान सरकार को इस तरह की घटनाओं को भविष्य में होने से रोकने के लिये अतिरिक्त केंद्रीय सहायता देने का आश्वासन भी दिया है.

केंद्र सरकार के विशेषज्ञों का एक उच्चस्तरीय दल शुक्रवार को कोटा जायेगा.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की विशेष टीम में जोधपुर एम्स के विशेषज्ञ डॉक्टर, स्वास्थ्य, वित्त और क्षेत्रीय निदेशक शामिल होंगे. इसके अलावा जयपुर से भी विशेषज्ञों को इसमें शामिल किया गया है.

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से फोन पर बात कर स्थिति का जायजा लेने के बाद उन्हें केंद्र सरकार की तरफ से हरसंभव मदद देने का भरोसा दिलाया है.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘मैंने गहलोत जी को कहा है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) की आगामी बैठक में वह राजस्थान को मिलने वाली केंद्रीय सहायता के रूप में अतिरिक्त राशि देने का प्रस्ताव पेश करें.’

मालूम हो कि कोटा जिले के जेके लोन अस्पताल में चिकित्सा सुविधाओं में तकनीकी खामियों के कारण बीते सप्ताह 30 और 31 दिसंबर को कम से कम नौ और शिशुओं की मौत हो गई. इसके साथ ही इस महीने अस्पताल में मरने वाले शिशुओं की संख्या लगभग 100 हो गई है.

हर्षवर्धन ने कहा,  ‘मैंने गहलोत जी को पूरा अश्वासन दिया है कि बच्चों की मौत को रोकने के लिये हम हरसंभव उपाय करेंगे.’

उन्होंने कहा कि बाल रोग विशेषज्ञों सहित अन्य क्षेत्रों के विशेषज्ञों का दल स्वास्थ्य मंत्रालय ने भेजने का फैसला किया है, जिससे बच्चों की मौत की घटनाओं को रोकने के लिये तात्कालिक उपाय सुनिश्चित किये जा सकें.

उन्होंने कहा, ‘स्वास्थ्य मंत्रालय का उच्चस्तरीय दल शुक्रवार को कोटा पहुंचेगा. इसमें एम्स जोधपुर और जयपुर से क्षेत्रीय निदेशक, स्वास्थ्य सेवा सहित अन्य विशेषज्ञ शामिल होंगे. गहलोत जी को पत्र लिखकर भी मैंने भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिये उन्हें हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है.’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘मैंने गहलोत जी को बताया कि जेके लोन अस्पताल को एनएचएम के तहत 2019-20 में 91.7 लाख रुपये की अग्रिम राशि पहले ही जारी कर दी है.’

कोटा अकेला जिला है जिसे 2019-20 के लिये 27.45 करोड़ रुपये आवंटित किये गये. वार्षिक बजट में राजस्थान को 1788.97 करोड़ रुपये आवंटित किये गये हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)