भारत

यूपी: ज़मानत पर छूटे छेड़छाड़ के आरोपियों ने नाबालिग की मां पर किया हमला, अस्पताल में हुई मौत

उत्तर प्रदेश के कानपुर का मामला. साल 2018 में 15 वर्षीय लड़की के साथ छेड़छाड़ के आरोप में चार लोगों को गिरफ़्तार किया गया था. बीते नौ जनवरी को इनमें से तीन ने तीन अन्य के साथ मिलकर लड़की के परिवार पर लाठी और तेज़ धार हथियार से हमला किया था.

(फोटो: गूगल मैप)

(फोटो: गूगल मैप)

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में नाबालिग से छेड़छाड़ के आरोपियों ने पिछले हफ्ते तेजधार हथियार से हमला कर उसकी मां को बुरी तरह घायल कर दिया था. बीते शुक्रवार को अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

इन छह आरोपियों में से तीन कथित तौर पर नाबालिग से दो साल पहले छेड़छाड़ करने के आरोपी हैं.

इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से बताया है कि बीते नौ जनवरी की नाबालिग लड़की की 40 वर्षीय मां और उनकी एक महिला रिश्तेदार पर आरोपियों द्वारा हमला किया गया था. यह हमला इसलिए किया गया, क्योंकि लड़की की मां ने पुलिस से शिकायत की थी कि आरोपी उनके बेटे को शराब का आदी बनाने की कोशिश कर रहे हैं.

कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव ने कहा, ‘अब तक की जांच में पता चला है कि साल 2018 में पीड़ित परिवार ने चार लोगों पर अपनी 15 साल की बेटी के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया था. तब पॉक्सो समेत कई अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया था.’

उन्होंने बताया, ‘इसके कुछ दिनों बाद चारों आरोपियों को जमानत मिल गई. दोनों परिवारों में तनाव था, इस बीच पीड़ित लड़की के भाई की एक आरोपी से दोस्ती हो गई. हालांकि लड़की की मां और दूसरे सदस्य इससे परेशान थे और इसकी शिकायत पुलिस से की थी कि आरोपी उनके बेटे को शराब का आदी बनाने की कोशिश कर रहे हैं.’

रिपोर्ट में कानपुर डीजीपी कार्यालय से जारी विज्ञप्ति के आधार पर बताया गया है कि नौ जनवरी की रात कथित तौर पर छेड़छाड़ के आरोपियों में से तीन ने तीन अन्य लोगों के साथ पीड़ित परिवार के लोगों पर उनके घर के बाहर ही लाठी और तेज धार हथियार से हमला किया था. हमले के बाद गंभीर रूप से घायल पीड़ित लड़की की मां और उनकी एक रिश्तेदार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

विज्ञप्ति के अनुसार, ‘हमले के बाद आरोपी वहां से भाग निकले. इस संबंध में हत्या और दंगा करने से जुड़ी आईपीसी की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है. रविवार 12 जनवरी को आरोपी महबूब को गिरफ्तार किया गया, एक शूटआउट में गोली लगने से वह घायल है. उसी दिन आरोपी महफूज और बशीर को भी गिरफ्तार किया गया है.’

इसमें आगे कहा गया है, ‘अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है, इस बीच शुक्रवार 17 जनवरी को पीड़ित लड़की की मां की मौत अस्पताल में हो गई. उनका शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और आगे की कानूनी कार्रवाई की जा रही है.’