कैंपस

विश्व भारती यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर पर छात्रों को ‘सबक सिखाने’ का आरोप, मामला दर्ज

पश्चिम बंगाल के विश्व भारती यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर विद्युत चक्रवर्ती पर आरोप है कि उन्होंने एक रैली में कहा था कि कुछ छात्रों को सबक सिखाने की जरूरत है. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

Bidyut-chakrabarty-universitywebsite

कोलकाताः पश्चिम बंगाल के विश्व भारती यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर (वीसी) विद्युत चक्रवर्ती के खिलाफ कुछ छात्रों ने शिकायत दर्ज कराई है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, वाइस चांसलर विद्युत चक्रवर्ती पर आरोप है कि उन्होंने एक रैली में शामिल कुछ प्रतिभागियों से कुछ छात्रों को सबक सिखाने को कहा है.

इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसी वीडियो के आधार पर वीसी विद्युत चक्रवर्ती पर मामला दर्ज किया गया है.

इस वीडियो में वह कहते सुने जा सकते हैं, ‘कल दोपहर 3.30 बजे व्याख्यान के समय आना ताकि उन्हें कोई बाधा पैदा करने से रोका जा सके. अगर जरूरत हो तो अपनी बाइक बटालियन के साथ आना जिससे उनका इलाज किया जा सके.’

यह वीडियो सात जनवरी का है, इससे एक दिन पहले ही वामपंथी संगठन से जुड़े कुछ छात्रों ने नागरिकता संशोधन कानून पर हो रही सेमिनार को रोक दिया था. इस सेमिनार को भाजपा सांसद स्वप्न दासगुप्ता संबोधित करने वाले थे.

वाइस चांसलर ने इस मामले पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है. इस मामले पर उनके पब्लिक रिलेशंस ऑफिसेर (पीआरओ) अनिर्बान सरकार ने वीडियो में चक्रवर्ती के होने से इनकार किया है.

उन्होंने कहा, ‘वीडियो में जो आवाज सुनाई दे रही है, वो हमारे वाइस चांसलर की नहीं है. इस वीडियो से छेड़छाड़ की गई है. यूनिवर्सिटी की प्रतिभा धूमिल करने के लिए ऐसा किया गया है.’

बता दें कि आठ जनवरी के प्रदर्शन में शामिल दो छात्रों की 15 जनवरी को कैंपस में पिटाई की गई थी और इस हमले के लिए तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था. इस वीडियो में वाइस चांसलर कह रहे हैं, ‘इन्हें कुछ दवा दे दो.’

इसके जवाब में एक शख्स कहता है कि आपके ग्रीन सिग्ननल के बिना हम कुछ नहीं कर सकते. हालांकि यह शख्स वीडियो में स्पष्ट रूप से दिखाई नहीं दे रहा है.

बीरभूम जिले के पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह कहते हैं, ‘हमें वीडियो क्लीपिंग मिल गई है. एफआईआर दर्ज हो गई है और हमने जांच शुरू कर दी है.’

मालूम हो कि नागरिकता कानून, राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के विरोध में प्रदर्शनों के मद्देनजर वाइस चांसलर चक्रवर्ती ने आठ जनवरी को एक लेक्चर का आयोजन किया था.

छात्रों का कहना है कि यह वीडियो इस बात का प्रमाण है कि वाइस चांसलर इस लेक्चर के जरिए उनके प्रदर्शन को बाधित करना चाहते थे.

छात्रों ने अपनी शिकायत में कहा है कि वीडियो से सिद्ध होता है कि वाइस चांसलर ने 15 जनवरी के हमले में सीधे तौर पर मदद की और वह इस षडयंत्र का हिस्सा थे.

विश्व भारती यूनिवर्सिटी के फैकल्टी एसोसिएशन के अध्यक्ष सुदिप्ता भट्टाचार्य ने कहा कि अभी इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि की जानी बाकी है. वीडियो में एक शख्स को छात्रों पर हिंसा के लिए गिरफ्तार किया गया है और ऐसा लगता है कि उसे वाइस चांसलर से निर्देश मिले थे.

भट्टाचार्य ने कहा कि छात्रों ने एफआईआर दर्ज कराई है, वायरल हो रहे इस वीडियो को हल्के में नहीं लिया जा सकता और प्रशासन की चुप्पी संदेहास्पद है.