राजनीति

भाजपा की स्टार प्रचारक सूची से अनुराग ठाकुर, प्रवेश वर्मा को हटाने का चुनाव आयोग ने दिया आदेश

केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता अनुराग ठाकुर ने दिल्ली में एक रैली के दौरान देश के गद्दारों को… जैसे नारे लगवाए थे. वहीं, भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने कहा था कि शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारी आपके घरों में घुस सकते हैं और आपकी बहन-बेटियों का बलात्कार कर सकते हैं.

भाजपा नेता प्रवेश वर्मा और अनुराग ठाकुर. (फोटो: फेसबुक/पीटीआई)

भाजपा नेता प्रवेश वर्मा और अनुराग ठाकुर. (फोटो: फेसबुक/पीटीआई)

नई दिल्लीः चुनाव आयोग ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान विवादित बयान देने के आरोप में बुधवार को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा का नाम भाजपा की स्टार प्रचारकों की सूची से हटाने का आदेश दिया.

अनुराग ठाकुर को यह नोटिस नई दिल्ली में भाजपा की एक रैली के दौरान ‘देश के गद्दारों को…’ का नारा लगाने के लिए जारी किया गया है. वहीं चुनाव आयोग ने पश्चिमी दिल्ली से भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा को उनके एक बयान के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी आपके घरों में घुस सकते हैं और आपकी बहन-बेटियों के साथ बलात्कार कर सकते हैं.

आयोग के अवर सचिव पवन दीवान द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में ठाकुर और वर्मा के विवादित बयानों से आचार संहिता का उल्लंघन होने के मामले में दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) की रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई की गई है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर कहा कि अनुराग ठाकुर के बयान से सांप्रदायिक सौहार्द प्रभावित हो सकता है और सामाजिक एवं धार्मिक समुदायों के बीच मौजूदा मतभेद बढ़ सकता है.

चुनाव आयोग ने जवाब दाखिल करने के लिए अनुराग ठाकुर को 30 जनवरी दोपहर 12 बजे तक का समय दिया था.

अनुराग ठाकुर को भेजे गए नोटिस में कहा गया, ‘चुनाव आयोग को 28 जनवरी 2020 को दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी से एक पत्र मिला, जिसमें आपने ‘देश के गद्दारों को’ कई बार कहा और इसके जवाब में भीड़ द्वारा कई बार ‘गोली मारो सालों को’ दोहराया गया. 27 जनवरी 2020 को भी एक रैली को संबोधित करते हुए आपने कुछ आपत्तिजनक बयान दिए थे.’

बता दें कि भाजपा नेताओं के विवादित बयान को लेकर दिल्ली कांग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत कर इन पर प्रतिबंध लगाने का आग्रह किया था. कांग्रेस ने चुनाव आयोग से कहा था कि दिल्ली चुनाव से पहले सांप्रदायिक हिंसा भड़काने के लिए इस तरह के भड़काऊ बयान दिए जा रहे हैं.

दूसरी और पश्चिमी दिल्ली के भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा पर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का विरोध करने वालों के बारे में विवादित टिप्पणी करने का आरोप है. बीते मंगलवार को समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में प्रवेश वर्मा ने कहा था कि अगर शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन जारी रहा तो प्रदर्शनकारी आपके घरों में घुस सकते हैं और आपकी बहन-बेटियों का बलात्कार कर सकते हैं.

भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने कहा था कि आज समय है, आज अगर दिल्ली के लोग जाग जाएंगे तो अच्छा रहेगा. वो तब तक सुरक्षित महसूस करेंगे जब तक देश के प्रधानमंत्री मोदी जी हैं. इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि बटन इतने गुस्से से दबाना कि करंट शाहीन बाग़ में लगे.

बता दें कि दिल्ली की कुल 70 विधानसभा सीटों पर आठ फरवरी को मतदान है जबकि मतगणना 11 फरवरी को होगी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)