भारत

अर्णब गोस्वामी से उलझने के बाद स्टैंड-अप कॉमेडियन पर चार एयरलाइनों ने यात्रा प्रतिबंध लगाया

स्टैंड अप कॉमेडियन कुणाल कामरा ने मुंबई से लखनऊ जा रहे इंडिगो विमान में पत्रकार अर्णब गोस्वामी को कथित तौर पर परेशान किया था. इंडिगो ने कामरा पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिया था. इसके बाद केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट कर अन्य एयरलाइनों से कामरा पर ऐसा ही प्रतिबंध लगाने की अपील की थी.

अर्णब गोस्वामी और कुणाल कामरा. (फोटो साभार: फेसबुक)

अर्णब गोस्वामी और कुणाल कामरा. (फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्ली: बीते मंगलवार को इंडिगो की मुंबई-लखनऊ उड़ान में पत्रकार अर्णब गोस्वामी को कथित तौर पर परेशान करने के मामले में चार विमानन कंपनियों ने स्टैंड अप कॉमेडियन कुणाल कामरा पर अपने विमानों से यात्रा पर प्रतिबंध लगाते हुए उन्हें नो-फ्लाई लिस्ट में डाल दिया है.

बता दें कि, बीते मंगलवार को मुंबई से लखनऊ जा रहे इंडिगो की विमान में पत्रकार अर्णब गोस्वामी को कथित तौर पर परेशान किया और अपने टि्वटर हैंडल पर वीडियो क्लिप पोस्ट की. इस दौरान गोस्वामी विमान में अपने लैपटॉप में कुछ देखते हुए दिखाई दे रहे हैं और उनके कान में इयरफोन्स लगे हुए हैं.

वीडियो में कामरा कह रहे हैं, ‘दर्शक आज यह जानना चाहते हैं कि अर्णब कायर है या देशभक्त. अर्णब यह देश हित में है. मैं टुकड़े टुकड़े विमर्श का एक हिस्सा हूं. आपको मेरी हवा निकालनी चाहिए. आपको देश के दुश्मनों को बाहर निकालना चाहिए. आप यह सुनिश्चित करें कि देश नरेंद्र मोदी के हाथों में सुरक्षित है. आप जानते हैं आप मेरी विनम्रता के काबिल नहीं हैं यह आपके लिए नहीं हैं. यह रोहित वेमुला की मां के लिए है जिनकी जाति के बारे में आप अपने शो पर चर्चा कर रहे थे. मुझे पता है कि इसकी अनुमति नहीं है…’

वीडियो पोस्ट करने के बाद टि्वटर पर एक बयान में कामरा ने कहा कि उन्होंने ‘वैसा ही किया जैसा रिपब्लिक टीवी के पत्रकार लोगों की निजी जिंदगी में दखल देकर करते हैं.’ कामरा ने कहा कि उन्होंने गोस्वामी को कथित तौर पर परेशान करके कोई अपराध नहीं किया है.

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इंडिगो ने तत्काल प्रभाव से कामरा पर छह महीने का प्रतिबंध लगा दिया.

एयरलाइन ने एक ट्वीट में कहा, ‘मुंबई से लखनऊ के लिए उड़ान 6 ई 5317 में हुई ताजा घटना के आलोक में हम यह सूचित करना चाहते हैं हम श्रीमान कुणाल कामरा के इंडिगो से सफर करने पर छह महीने के लिए रोक लगाते हैं क्योंकि विमान में उनका बर्ताव अस्वीकार्य था. इस तरह, हम अपने यात्रियों को सलाह देना चाहते हैं कि वे विमान में व्यक्तिगत छींटाकशी करने से बचें क्योंकि यह साथ में सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा को संभवत: जोखिम में डाल सकता है.’

इंडिगो द्वारा कामरा की हवाई यात्रा पर छह माह की रोक पर कामरा ने ट्वीट किया, ‘शुक्रिया इंडिगो. छह माह का निलंबन यकीनन आपकी भलमनसाहत है. मोदी जी तो हमेशा के लिए एयरइंडिया को निलंबित कर देंगे.’

इंडियो द्वारा प्रतिबंध लगाए जाने के कुछ ही मिनटों बाद उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने कामरा के व्यवहार को अस्वीकार्य बताते हुए अन्य विमानन कंपनियों से भी इसी तरह का प्रतिबंध लगाने का सुझाव दिया.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘आपत्तिजनक व्यवहार जो उकसावे वाला हो और विमान के अंदर अराजकता पैदा करता हो, वह पूरी तरह से अस्वीकार्य है और हवाई यात्रा करने वाले लोगों की जिंदगियों को खतरे में डालने वाला है. हमारे पास कोई विकल्प नहीं हैं सिवाए इसके कि हम अन्य एयरलाइन्य को यह सलाह दें कि वे भी संबंधित व्यक्ति पर इसी प्रकार की रोक लगाए.’

इसके बाद एयर इंडिया ने अगले आदेश तक उनकी उड़ान पर रोक लगा दी. एअर इंडिया ने एक बयान जारी करके कहा, ‘इंडिगो-6ई में हुई घटना को देखते हुए, एयर इंडिया यह सूचित करना चाहती है कि व्यक्ति का आचरण अस्वीकार्य है. उड़ान के दौरान इस प्रकार के आचरण को हतोत्साहित करने के लिए कुणाल कामरा को आगे की नोटिस तक एअर इंडिया के विमानों द्वारा यात्रा करने पर रोक लगाई जाती है.’

एअर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कामरा सरकारी एयरलाइन से उड़ान नहीं भर पाएंगे, हालांकि उन्होंने पाबंदी की अवधि के बारे में कोई जानकारी नहीं दी.

इंडिगो और एअर इंडिया के बाद स्पाइसजेट और गोएयर ने भी बुधवार को कामरा पर अगले आदेश तक अपने विमानों में यात्रा करने पर रोक लगा दी. वहीं, एयर एशिया और विस्तारा घटना पर संज्ञान लेते हुए मामले की समीक्षा के बाद कोई कदम उठाने की बात कही है.

विस्तारा के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘विस्तारा ऐसी किसी भी हरकत को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति पर अडिग है जो यात्रियों और कर्मचारियों की रक्षा, सुरक्षा और उनकी गरिमा को चोट पहुंचाती हो. हम तय प्रक्रिया का पालन करेंगे.’

एयरएशिया इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि एयरलाइन की आंतरिक समिति मामले की समीक्षा कर रही है और वह उचित प्रक्रिया के अनुसार कार्रवाई करेगी.

बोलने के अधिकार के लिए प्रतिबंधित किया जाना हैरान करने वाला नहीं है: कामरा

चार एअरलाइनों द्वारा यात्रा पर रोक लगाने पर प्रतिक्रिया देते हुए स्टैंड-अप कॉमेडियन कुणाल कामरा ने बुधवार को दावा किया कि उन्होंने कभी अशिष्ट या खराब व्यवहार नहीं किया. उन्होंने यह भी कहा कि हवाई यात्रा करने पर रोक लगाना उनके लिए ‘‘हैरान’’ करने वाला नहीं है.

टि्वटर पर दिए एक बयान में कामरा ने कहा कि उड़ान (मुंबई-लखनऊ) में ऐसा कभी नहीं हुआ जब उन्होंने केबिन क्रू के आदेशों का पालन न किया हो.

उन्होंने कहा, ‘यह मेरे लिए कहीं से भी हैरान करने वाला नहीं है कि संविधान के अनुच्छेद 19 के तहत अभिव्यक्ति की आजादी के अधिकार का इस्तेमाल करने पर तीन एयरलाइनों ने मुझ पर यात्रा करने से अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया है. असल बात यह है कि मैंने कभी अशिष्ट व्यवहार नहीं किया और ऐसा कभी नहीं हुआ जब केबिन क्रू के आदेशों का पालन न किया हो.’

उन्होंने कहा, ‘मैंने कभी भी यात्रा करते समय किसी यात्री की सुरक्षा को खतरे में नहीं डाला, मैंने सिर्फ ‘पत्रकार’ अर्णब गोस्वामी के अहंकार को नुकसान पहुंचाया है.’

कामरा ने कहा कि उन्होंने इस कार्यक्रम में स्पाइसजेट या एयर इंडिया के साथ यात्रा नहीं की और ‘उनके अशिष्ट होने की कोई प्रवृत्ति’ नहीं है.

स्टैण्ड-अप कॉमेडियन ने ट्वीट किया, ‘यह पहली बार है कि ऐसा कुछ हुआ तो उन्होंने जल्दबाजी क्यों दिखाई और मुझ पर प्रतिबंध लगाया? मैंने पूर्व में स्पाइसजेट और एयर इंडिया के जरिए यात्रा की है. क्रू सदस्यों द्वारा ली गई सेल्फियां और दिए गए प्यार के अलावा कभी मेरे खिलाफ कोई शिकायत नहीं हुई.’

उन्होंने आगे कहा कि उनकी ‘सीमित जानकारी’ के अनुसार क्रू, गोस्वामी या विमान में सवार किसी और ने कोई औपचारिक शिकायत नहीं की. उन्होंने लिखा, ‘जब भी क्रू के किसी सदस्य ने हस्तक्षेप किया तो मैंने उसका पालन किया. अगर किसी जाने माने व्यक्ति के सामने अपने विचार व्यक्त करना अपराध है तो फिर हम दोनों अपराधी हैं.’

शशि थरूर और तेजस्वी यादव ने की निंदा

स्टैंड-अप कॉमेडियन कुणाल कामरा चार एअरलाइनों द्वारा यात्रा पर रोक लगाने की कई नेताओं ने निंदा की है. इसमें कांग्रेस नेता शशि थरूर और राजद नेता तेजस्वी यादव भी शामिल हैं जिन्हें कई बार अर्णब गोस्वामी के न्यूज चैनल रिपब्लिक टीवी के रिपोर्टरों द्वारा विमान के साथ कई अन्य जगहों पर परेशान किया जा चुका है.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘उम्मीद है कि इंडिगो6ई उड़ान के दौरान इंजन बंद हो जाने, इंजन में कंपन, केबिन प्रेशर समाप्त होने,संदिग्ध तेल रिसाव, खराब इंजन, इंजन खराब होने की खबरों पर ज्यादा ध्यान देगी जो कि यात्रियों की सुरक्षा से खिलवाड़ है न कि सत्ता में बैठे लोगों के इशारों पर काम करेगी.’

वहीं वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा, ‘सच्चाई तो यह है कि इस वक्त किसी ने उसे (गोस्वामी को) उसी की दवा का स्वाद चखाया है.’

थरूर ने ट़्वीट किया, ‘ये वह शब्द हैं जिनका इस्तेमाल वे अपने निर्दोष पीड़ितों को धमकाने के लिए करते हैं अंतर केवल इतना है कि वह यह सब इतने धमकी भरे अंदाज में, परेशान करने के अंदाज में और तेज आवाज में करते हैं जितना कुणाल कामरा अपने वीडियो में नहीं करते.’

वहीं, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव ने पत्रकार अर्णब गोस्वामी और स्टैंड-अप कॉमेडियन कुणाल कामरा बीच हवाई जहाज में हुए विवाद पर ट्वीट कर लिखा, ‘प्रिय पत्रकार, राजनेताओं को गाली देना आसान है लेकिन उनकी तरह जीवन जीना मुश्किल है. हमारे लिए कहीं भी कोई निजता नहीं है. हमलोग कृतघ्न पेशे में हैं, लेकिन आप तो अपने पैसे देने वालों के जूते चाटते हैं. कौन बिगड़ैल बच्चा है देश का वो अपने भीतर देखें.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)