भारत

सीएए के ख़िलाफ़ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर युवक ने चलाई गोली, कथित तौर पर कहा- ये लो आज़ादी

दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया के पास हुई घटना. दिल्ली पुलिस ने गोली चलाने वाले युवक को हिरासत में लिया. फायरिंग के दौरान जामिया का एक युवक घायल. एम्स में भर्ती कराया गया.

New Delhi: Police detain an unidentified person (face blurred as his being an adult could not be ascertained), after he allegedly brandished a gun and opened fire towards students protesting against the Citizenship Amendment Act, near Jamia Millia Islamia University, in New Delhi, Thursday, Jan. 30, 2020. (PTI Photo) (PTI1_30_2020_000178B) *** Local Caption ***

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर गोली चलाने वाला युवक. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया के पास बृहस्पतिवार को नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे एक समूह पर एक व्यक्ति ने पिस्तौल से गोली चला दी और हथियार लहराते हुए आराम से निकल गया.

पुलिस की भारी संख्या में तैनाती के बीच उसने कथित तौर पर ‘ये लो आजादी’ का नारा भी लगाया. प्रत्यक्षदर्शियों ने यह जानकारी दी. हालांकि बाद में व्यक्ति को पुलिस ने पकड़कर हिरासत में ले लिया.

यह पूरी घटना टेलीविजन कैमरों ने रिकॉर्ड हो गई जिसमें दिखा कि हल्के रंग की पैंट और गहरे रंग की जैकेट पहना व्यक्ति पुलिस द्वारा बैरिकेड की गई खाली सड़क से निकलता है और मुड़कर कथित तौर पर प्रदर्शनकारियों पर चिल्लाता है, ‘ये लो आजादी.’

समाचार एजेंसी एएनआई ने दिल्ली पुलिस के सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि गोली चलाने वाला युवक उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर ज़िले (नोएडा) के जेवर इलाके के रहने वाला है.

जामिया में अर्थशास्त्र की छात्रा आमना आसिफ ने बताया, ‘हम होली फैमिली अस्पताल की ओर बढ़ रहे थे जहां पुलिस ने बैरिकेड लगाए हुए हैं. अचानक पिस्तौल लिए हुए व्यक्ति आया और गोली चला दी. एक गोली मेरे मित्र के हाथ पर लगी.’

उन्होंने बताया कि उनका मित्र शादाब फारुक घायल हो गया और उसे एम्स ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया है. आमना ने बताया कि शादाब जनसंचार का छात्र है.

एक अन्य छात्र अल अमीन ने कहा कि व्यक्ति अपनी पिस्तौल लहरा रहा था और चिल्ला रहा था, ‘ये लो आजादी.’

जब यह घटना हुई उस समय वहां पुलिस की भारी तैनाती थी और बड़ी संख्या में मीडिया भी मौजूद था. छात्र जामिया से महात्मा गांधी की समाधि राजघाट जा रहे थे. छात्रों के इस मार्च को विश्वविद्यालय के पास होली फैमिली अस्पताल के करीब रोक दिया गया.

छात्र इसी क्षेत्र में बैठ गए और ‘पुलिस वापस जाओ’ के नारे लगाने लगे. जब वे नारे लगा रहे थे पुलिस अधिकारियों ने छात्रों से शांति बनाए रखने और शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने के लिए कहा.

डीसीपी (दक्षिण) चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि छात्र जामिया से राजघाट तक एक मार्च निकालना चाहते थे लेकिन उन्हें अनुमति नहीं दी गई.

बिस्वाल ने कहा, ‘उन्हें बार बार कहा जा रहा था कि प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढंग से किया जाना चाहिए. हमने होली फैमिली अस्पताल से ठीक पहले सड़क पर बैरिकेड लगा दिए थे. इस बीच एक युवक को भीड़ में देखा गया जो कोई चीज लहरा रहा था जो एक हथियार प्रतीत हुआ.’

उन्होंने कहा, ‘हमने उसे हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ कर रहे हैं. एक व्यक्ति घायल भी हुआ है.’ उन्होंने बताया कि फायरिंग से शादाब फारुक नामक युवक के बाएं हाथ जख्मी हुआ है. एम्स के डॉक्टरों ने बताया है वह खतरे से बाहर हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)