भारत

पश्चिम बंगाल: शिक्षिका और उनकी बहन को रस्सी से बांधकर घसीटा, टीएमसी नेता शामिल

घटना दक्षिण दीनाजपुर ज़िले के फाटानगर गांव की है, जहां कथित तौर पर सड़क बनाने के लिए पंचायत द्वारा तय ज़मीन से ज़्यादा भूमि लेने का विरोध कर रही एक अध्यापिका और उनकी बहन को पंचायत के एक टीएमसी नेता की अगुवाई वाले समूह ने पांव बांधकर घसीटा और मारपीट की.

फोटो साभार: एनडीटीवी

फोटो साभार: एनडीटीवी

पश्चिम बंगाल में दो महिलाओं के साथ अमानवीय रूप से मारपीट करने का वीडियो सामने आया है, जहां इन दोनों महिलाओं को रस्सी से पांव बांधकर घसीटा जा रहा है.

एनडीटीवी के अनुसार यह एक अध्यापिका और उनकी बहन हैं, जिनके साथ पंचायत के एक टीएमसी नेता अमल सरकार की अगुवाई वाले समूह द्वारा यह बदसलूकी की गई है.

घटना दक्षिण दीनाजपुर ज़िले के फाटानगर गांव की है. बताया जा रहा है कि इन महिलाओं द्वारा सड़क बनाने के लिए ग्राम पंचायत द्वारा जमीन लेने का विरोध कर रही थीं. ग्राम पंचायत में तृणमूल कांग्रेस का नेतृत्व है.

यह वीडियो सामने आने के बाद रविवार को टीएमसी की जिला प्रमुख अर्पिता घोष ने सरकार को उनके पद से बर्खास्त कर दिया है. हालांकि रविवार शाम तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई थी.

यह अध्यापिका स्मृतिकोना दास हैं, जो पास के एक हाई स्कूल में पढ़ाती हैं. सोशल मीडिया पर साझा किए गए वीडियो में स्मृति मैरून कपड़े पहने हुए जमीन पर पड़ी दिखती हैं और उन्हें पीटा जा रहा है. एक व्यक्ति उनके घुटनों के पास रस्सी बांधता है और लोगों का एक समूह उनके हाथ पकड़कर उन्हें मिट्टी की सड़क पर घसीटता है.

इसके बाद वहां मौजूद उनकी बहन सोमा दास इन आदमियों पर चिल्लाती हैं, जिसके बाद उन्हें भी जमीन पर धक्का दे दिया गया और घसीटकर उनकी बहन के पास ले जाया गया.

इन बहनों के मुताबिक, उन्हें शुरुआत में बताया गया था कि उनके घर के बाहर 12 फीट चौड़ी सड़क बनाई जाएगी, जिसके लिए उन्होंने जमीन देने के लिए सहमति जताई थी. लेकिन इसके बाद कथित तौर पर पंचायत द्वारा चौड़ाई बढ़ाकर 24 फीट कर दिया गया, तब उन्होंने इस पर आपत्ति जताई.

इसके बाद शुक्रवार को जब सड़क पर काम शुरू करने के लिए बुलडोजर और रोड रोलर आये, तब उन्होंने विरोध जाते तब उनके साथ यह बदसलूकी की गई.

इसके बाद दोनों बहनों अस्पताल ले जाया गया, जहां से बड़ी बहन सोमा दास को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गयी, जबकि स्मृति को शनिवार को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया है.

रविवार को स्मृति ने ग्राम पंचायत के उप प्रधान अमल सरकार के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है. पास के एक स्कूल में पढ़ाने वाली स्मृति अपनी मां और बहन के साथ रहती हैं. उनके और उनकी बहन के साथ हुई मारपीट के दौरान उनकी मां उनको बचने आयी थीं, जिनके साथ भी धक्कामुक्की की गयी थी.