कैंपस

गुजरात: एनआईडी ने दीक्षांत समारोह टाला, मल्लिका साराभाई थीं मुख्य अतिथि

अहमदाबाद स्थित राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान का सालाना दीक्षांत समारोह 7 फरवरी को होना था. इस कार्यक्रम में प्रसिद्ध नृत्यांगना मल्लिका साराभाई को बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया गया था.

मल्लिका साराभाई. (फोटो साभार: फेसबुक/Mallika Sarabhai)

मल्लिका साराभाई. (फोटो साभार: फेसबुक/Mallika Sarabhai)

अहमदाबाद: गुजरात में यहां स्थित राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान (एनआईडी) ने सात फरवरी को निर्धारित अपना सालाना दीक्षांत समारोह ‘अप्रत्याशित परिस्थितियों’ के चलते टाल दिया है.

कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुखर आलोचक और प्रख्यात नृत्यांगना मल्लिका साराभाई को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया था. संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर भी साराभाई ने भाजपा सरकार की आलोचना की है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक साराभाई ने बताया कि उन्हें संस्थान की ओर से सूचना दी गई कि आगामी शुक्रवार को होने वाल 40वां दीक्षांत समारोह टाल दिया गया है.

अख़बार द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या यह फैसला उनको मुख्य अतिथि बनाए जाने को लेकर हुई आपत्ति के चलते लिया गया, साराभाई ने कहा, ‘जमशेद गोदरेज (मैनेजिंग डायरेक्टर और गोदरेज एंड बोये) ने चार महीने पहले एक खत के जरिये मुझे आमंत्रित किया था और मैंने सहज रूप से उसे स्वीकारा था. मैं एनआईडी से जुड़ी रही हूं और उनके बोर्ड में भी काम किया है.’

एनआईडी केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के उद्योग प्रोत्साहन एवं आंतरिक व्यापार विभाग के तहत एक स्वायत्त संस्थान है. 1961 में केंद्र ने साराभाई परिवार और फोर्ड फाउंडेशन की मदद से इसकी स्थापना की थी. वर्तमान में इसकी गांधीनगर और बेंगलुरु में शाखाएं भी हैं.

साराभाई ने बताया, ‘मुझे इस कार्यक्रम के रद्द होने के बारे में एक पत्र से पता चला, जो सभी को भेजा गया था. मेरी इस बारे में किसी से बात नहीं हुई है न ही किसी  में कोई सवाल किया है. किसी ने नहीं कहा कि मैं अब उनकी मेहमान नहीं हूं.’

वहीं, एनआईडी के एक अधिकारी ने बताया कि दीक्षांत समारोह की नयी तारीख के बारे में शीघ्र ही फैसला किया जाएगा.

कार्यक्रम के लिए साराभाई को दिए गए आमंत्रण के बारे में पूछे जाने पर एक अधिकारी ने मंगलवार को समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, ‘विभिन्न लोगों के सुझाव पर कुछ लोगों को संभावित मुख्य अतिथि चुना गया था और अंतिम निर्णय दी गई तारीखों पर उनकी उपलब्धता के आधार पर लिया गया था.’

इससे पहले एनआईडी ने स्नातक की उपाधि हासिल कर रहे छात्रों को एक पत्र में कहा, ‘एनआईडी, अहमदाबाद की संचालन परिषद की ओर से हमें आपको यह सूचित करते हुए खेद है कि शुक्रवार सात फरवरी 2020 को निर्धारित दीक्षांत समारोह अप्रत्याशित परिस्थितियों के चलते टाल दिया गया है.’

अधिकारी ने बताया कि यह फैसला संस्थान की संचालन परिषद ने लिया. संचालन परिषद में वाणिज्य एवं उद्योग, मानव संसाधन विकास और इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आई टी मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारी तथा उनके सदस्य शामिल हैं.

गौरतलब है कि प्रख्यात नृत्यांगना मृणालिनी साराभाई और अंतरिक्ष वैज्ञानिक विक्रम साराभाई की बेटी मल्लिका मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री रहने के समय से उनकी मुखर आलोचक हैं.

उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में गांधीनगर सीट पर 2009 का लोकसभा चुनाव लड़ा था, हालांकि वह हार गई थी. वह हाल ही में सीएए के खिलाफ प्रदर्शनों में भी शामिल हुई हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)