भारत

दिल्ली का जनादेश स्वीकार, नवनिर्माण का संकल्प लिया: कांग्रेस

दिल्ली विधानसभा चुनाव के आधिकारिक रुझानों में कांग्रेस का एक बार फिर से खराब प्रदर्शन जारी रहा और उसे एक भी सीटें मिलती नहीं दिख रही हैं. वह सभी सीटों पर तीसरे स्थान पर चल रही है.

कांग्रेस प्रदेश कमिटी के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा. (फोटो: एएनआई)

कांग्रेस प्रदेश कमिटी के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा. (फोटो: एएनआई)

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त का सामना करने वाली कांग्रेस ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई देते हुए कहा कि वह जनादेश स्वीकार करती है और राष्ट्रीय राजधानी में पार्टी के नवनिर्माण का संकल्प लेती है.

बता दें कि, दिल्ली विधानसभा चुनाव के आधिकारिक रुझानों में आम आदमी पार्टी 60 से अधिक सीटों पर आगे चल रही है और एक बार फिर से बड़ी जीत हासिल करने की ओर बढ़ रही है. भाजपा 8 सीटों पर आगे चल रही है.

हालांकि, कांग्रेस का एक बार फिर से खराब प्रदर्शन जारी रहा और उसे एक भी सीटें मिलती नहीं दिख रही हैं. वह सभी सीटों पर तीसरे स्थान पर चल रही है.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने हार की नैतिक जिम्मेदारी स्वीकार की और भाजपा एवं आम आदमी पार्टी पर ध्रुवीकरण का आरोप लगाया.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘जनता ने अपना जनादेश दे दिया. जनादेश कांग्रेस के विरूद्ध भी दिया है. हम कांग्रेस और डीपीसीसी की तरफ से इस जनादेश को विनम्रता से स्वीकार करते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘हम निराश नहीं हैं. कांग्रेस को जमीनी स्तर पर और नए सिरे से मजबूत करने का संकल्प दृढ़ हुआ है. कांग्रेस के कार्यकर्ता और साथी का हम धन्यवाद करते हैं. हम नवनिर्माण का संकल्प लेते हैं.’

सुरजेवाला ने कहा, ‘हम सजग विपक्ष के तौर पर दिल्ली के ढांचागत विकास और विभिन्न मुद्दों पर नजर भी रखेंगे और जनता की आवाज उठाते रहेंगे.’ सुभाष चोपड़ा ने कहा, ‘ हम जनादेश के समक्ष सिर झुकाते हैं और केजरीवाल को मुबारकबाद देते हैं. कांग्रेस हारी है, लेकिन हताश नहीं है. हमने जनता के समक्ष अपने विचार रखे और 15 साल के कांग्रेस के शासन के विकास के बारे में जनता को बताया.’

उन्होंने दावा किया, ‘ दोनों पार्टियों ने ध्रुवीकरण करने की कोशिश की और कुछ हद तक वो कामयाब भी रहे.’

चोपड़ा ने कहा, ‘मैं पार्टी के कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करता हूं. मैं इस हार की नैतिक जिम्मेदारी लेता हूं. मैंने अपनी क्षमता के हिसाब से पूरा काम किया है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)