भारत

आप की जीत पर विपक्ष ने केजरीवाल को दी बधाई, कहा- दिल्ली में सांप्रदायिक राजनीति की हार हुई

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा ने दिल्ली में छात्रों और महिलाओं का शोषण किया. पार्टी को दिल्ली विधानसभा चुनाव में करारा जवाब मिला है. बंगाल में 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में भी भाजपा को इसी तरह के परिणामों का सामना करना होगा. केवल विकास के कदम ही लोगों पर छाप छोड़ेंगे.

New Delhi: Delhi Dy CM and AAP leader Manish Sisodia waves a flag as he celebrates along with his supporters after winning from the Patpadganj Assembly seat, in New Delhi, Tuesday, Feb. 11, 2020. (PTI Photo) (PTI2_11_2020_000114B)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा में आम आदमी पार्टी (आप) की जीत पर देशभर की विपक्षी पार्टियों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई दी और भाजपा की हार को सांप्रदायिक राजनीति की हार बताया है. इन प्रमुख विपक्षी पार्टियों में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), डीएमके, एनसीपी, माकपा, भाकपा व अन्य पार्टियां शामिल हैं.

बता दें कि, दिल्ली विधानसभा चुनाव में 70 सीटों के आधिकारिक रुझान सामने आ चुके हैं जिसमें आप 63 सीटों पर आगे है जबकि भाजपा सात सीटों पर आगे चल रही है. पिछले चुनाव में शून्य पर रही कांग्रेस इस बार भी खाता खोलते हुए नहीं दिख रही है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दिल्ली में सत्ता में शानदार वापसी की राह पर दिख रहे आम आदमी पार्टी (आप) के सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल को मंगलवार को बधाई दी.

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख बनर्जी ने कहा कि धर्म और विभाजनकारी राजनीति का दांव खेल रहे नेताओं को इस संकेत को समझना चाहिए को जो अपने वादे पूरे करते हैं, जीत उन्हीं को मिलती है.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘बधाई अरविंद केजरीवाल क्योंकि दिल्ली के परिणाम आम आदमी पार्टी को फिर से जबर्दस्त बहुमत के साथ दिल्ली चुनाव 2020 जिताते हुए दिखा रहे हैं. घृणा भाषणों और विभाजनकारी राजनीति के जरिए धर्म पर खेल खेल रहे नेताओं को इस इशारे को समझना चाहिए कि जो वादे पूरे करता है उसी को फल मिलता है.’

इससे पहले बनर्जी ने बांकुरा जिले में संवददाताओं से कहा कि लोगों ने भाजपा की नीतियों को खारिज कर दिया और यह ‘लोकतंत्र की जीत है.’

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा की निश्चित हार को लेकर उसका उपहास उड़ाया और कहा कि भगवा पार्टी को राष्ट्रीय राजधानी में छात्रों और महिलाओं का उत्पीड़न करने के लिए ‘करारा जवाब’ मिला है.

बनर्जी ने यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि एक के बाद एक राज्य भाजपा के हाथ से फिसल रहे है, पार्टी जल्द ही अपने नियंत्रण वाले सभी राज्यों को खो देगी.

उन्होंने कहा, ‘भाजपा ने दिल्ली में छात्रों और महिलाओं का शोषण किया. पार्टी को दिल्ली विधानसभा चुनाव में करारा जवाब मिला है. बंगाल में 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में भी भाजपा को इसी तरह के परिणामों का सामना करना होगा. केवल विकास के कदम ही लोगों पर छाप छोड़ेंगे, सीएए, एनआरसी और एनपीआर को खारिज कर दिया जाएगा.’

डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में शानदार जीत हासिल करने के लिए आम आदमी पार्टी (आप) और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई देते हुए मंगलवार को कहा कि यह विकास की राजनीति की जीत है.

स्टालिन ने ट्विटर पर केजरीवाल को बधाई देते हुए कहा, ‘मैं अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी को दिल्ली में फिर से भारी जनादेश के साथ सरकार बनाने के लिए बधाई देता हूं.’

उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट तौर पर सांप्रदायिक राजनीति पर विकास की राजनीति की जीत है. हमारे देश के हित में संघीय अधिकारों और क्षेत्रीय आकांक्षाओं को मजबूत होना चाहिए.

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने मंगलवार को दावा किया कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे इस बात के संकेत हैं कि देश में ’बदलाव की हवा’ चल रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा ने मतदाताओं के ध्रुवीकरण की कोशिश की, लेकिन वह नाकाम रही.

पवार ने कहा कि भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिये क्षेत्रीय दलों को साथ आने की जरूरत है.

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख पवार ने पत्रकारों से कहा, ’दिल्ली चुनाव के नतीजे इस बात के संकेत हैं कि देश में बदलाव की हवा चल रही है. नतीजों ने मुझे हैरान नहीं किया.’

पूर्व केन्द्रीय मंत्री पवार ने कहा कि भाजपा ने हर बार की तरह इस बार भी वोटों के ध्रुवीकरण के लिये चुनाव को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की, लेकिन वह नाकाम रही.’

वामदल माकपा और भाकपा ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) के शानदार प्रदर्शन के लिये पार्टी संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई देते हुये कहा कि दिल्ली वालों ने भाजपा की नफरत और हिंसा की राजनीति को माकूल जवाब देकर संकीर्ण राजनीति को नकार दिया है.

माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने ट्वीट कर कहा, ‘आप, अरविंद केजरीवाल और दिल्ली की जनता को बधाई, जिसने भाजपा की नफरत और हिंसा की राजनीति को माकूल जवाब दिया है. गाली और गोली की भाषा बोल रहे केन्द्रीय मंत्रियों को जनता ने सही जवाब दिया है.’

येचुरी ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा का मतलब लोगों की जिंदगी, आजीविका, शिक्षा और स्वास्थ्य को सुरक्षित बनाना है. येचुरी ने कहा कि देश के आर्थिक संकट, बेरोजगारी और लोकतंत्र पर संकट के बारे में सवाल उठाने वालों को धमकाने वालों को चुनाव में जनता ने जवाब दे दिया है.

भाकपा के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार अनजान ने भी केजरीवाल को बधाई देते हुए कहा कि नफरत की राजनीति से हटकर दिल्ली वालों ने भारत के संविधान को मजबूत करने के लिये जनादेश दिया है. अनजान ने कहा कि संविधान पर होने वाले हमले को नाकाम करने के लिए सभी धर्मनिरपेक्ष ताकतों को एक साथ मिलकर सांप्रदायिक ताकतों को परास्त करना चाहिये.

उन्होंने कहा कि दिल्ली के चुनाव में जिस प्रकार से सांप्रदायिकता और संकीर्णतापूर्ण राजनीति की गई, उसे मतदाताओं ने नकार दिया. उन्होंने कहा, ‘दिल्ली में भाजपा को इस हार से सबक लेना चाहिए कि धार्मिक संकीर्णता का नारा लगाकर लोगों के वोट हासिल करने का दौर अब खत्म हो रहा है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)