भारत

यूपी: बलात्कार के मामले में भाजपा विधायक को क्लीन चिट, भतीजा गिरफ़्तार

महिला ने बीते 10 फरवरी को आरोप लगाया था कि उसके साथ भाजपा विधायक रवींद्रनाथ त्रिपाठी सहित उनके तीन बेटों और तीन भतीजों ने बारी-बारी से बलात्कार किया. पुलिस ने इस मामले में त्रिपाठी के साथ उनके दो बेटों और दो भतीजों को क्लीन चिट दे दी है.

उत्तर प्रदेश के भदोही से भाजपा विधायक रवींद्र नाथ त्रिपाठी (फोटो साभार: www.facebook.com/ravindranath.tripathi.54)

उत्तर प्रदेश के भदोही से भाजपा विधायक रवींद्र नाथ त्रिपाठी (फोटो साभार: www.facebook.com/ravindranath.tripathi.54)

लखनऊः उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में सामूहिक बलात्कार के आरोपी भाजपा विधायक रविंद्रनाथ त्रिपाठी और तीनों बेटों और भतीजों को पुलिस ने क्लीन चिट दे दी है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने सबूत नहीं होने का हवाला देकर शनिवार को विधायक त्रिपाठी, उनके दो बेटों और दो भतीजों को क्लीन चिट दे दी.

विधायक त्रिपाठी का भतीजा संदीप तिवारी बलात्कार और अन्य अपराधों में मुख्य आरोपी है और उसे शनिवार को गिरफ्तार किया गया था.

इस मामले में मंगलवार को दर्ज एफआईआर में कुल सात लोगों के नाम दर्ज हैं, जिनमें विधायक रविंद्रनाथ त्रिपाठी, उनके भतीजे संदीप तिवारी, चंद्रभूषण तिवारी, दीपक तिवारी, उनके बेटे सचिन, प्रकाश और नीतेश तिवारी शामिल हैं.

विधायक के बेटे नीतेश पर आपराधिक धमकी देने का भी मामला दर्ज है. पुलिस ने संदीप तिवारी के ऊपर से जबरन गर्भपात कराने का आरोप हटा दिया था.

पुलिस ने मंगलवार को आईपीसी की धारा 376डी, 313, 504 और 506 के तहत मामला दर्ज किया था.

भदोही के एसपी राम बदान सिंह ने बताया, ’10 फरवरी को एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई की शादी का वादा करके संदीप तिवारी और उसके संबंधियों ने उसका बलात्कार किया. महिला ने शिकायत में रविंद्रनाथ त्रिपाठी का नाम भी लिखाया है. मैंने मामले की जांच की और मामला दर्ज किया. जांच के दौरान इस मामले में सिर्फ दो लोगों की भागीदारी का पता चला, जिसमें से एक संदीप तिवारी और एक नीतेश है.’

हालांकि महिला का कहना है कि वह अपनी लड़ाई जारी रखेगी.

उन्होंने कहा, ‘जांच के बीच में पुलिस ने उन्हें क्लीन चिट दे दी, मेरा पक्ष सुना भी नहीं और जांच भी पूरी नहीं होने दी.’

भदोही के एसपी ने कहा, ‘प्राप्त सभी सबूतों से यह पता नहीं चल रहा था कि विधायक और उसके बेटे इसमें शामिल थे. महिला ने मेडिकल जांच से इनकार कर दिया. महिला द्वारा दर्ज कराई गई पहली शिकायत में आरोप लगाया गया है कि उसका यौन शोषण हुआ. उसने बाद में कहा कि उसका बलात्कार हुआ. हमने दोनों आरोपों की जांच की है.’

बता दें कि महिला ने गत 10 फरवरी को तहरीर देकर आरोप लगाया था कि उसके साथ भाजपा विधायक रवींद्रनाथ त्रिपाठी और उनके भतीजों संदीप तिवारी, सचिन तिवारी, चंद्रभूषण तिवारी, दीपक तिवारी, प्रकाश तिवारी और नीतेश तिवारी ने एक होटल में एक महीने तक बारी-बारी से बलात्कार किया.

इसके अलावा एक बार जब वह गर्भवती हुई तो ज़बरदस्ती उसका गर्भपात करा दिया गया.