भारत

दिल्ली हिंसाः दंगों की आंच में बीएसएफ जवान का घर जलकर ख़ाक, सेना मदद को आगे आई

उत्तर पूर्वी दिल्ली की हालिया हिंसा में खजूरी खास इलाके में रहने वाले बीएसएफ जवान मोहम्मद अनीस का घर भी उपद्रवियों ने जला दिया था. ओडिशा में पोस्टिड मोहम्मद अनीस के घर के पुनर्निर्माण में अब बीएसएफ मदद करेगी.

बीएसएफ जवान मोहम्मद अनीस का घर (फोटोः द वायर)

बीएसएफ जवान मोहम्मद अनीस का घर (फोटोः द वायर)

नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के उत्तरपूर्वी इलाकों में पिछले एक हफ्ते में जो दंगे हुए, उसमें खजूरी खास का इलाका भी शामिल था. 25 फरवरी को खजूरी खास की गली नंबर पांच में दंगाइयों ने जिन करीब 40 मकानों को निशाना बनाया, उनमें बीएसएफ के एक जवान मोहम्मद अनीस का घर भी शामिल था.

अनीस की पोस्टिंग फिलहाल ओडिशा में है. घटना की जानकारी मिलने के बाद हाल ही में घर लौटे हैं. उनके परिवार में कुल आठ लोग हैं, जो घटना के दौरान घर में ही थे.

द वायर  की टीम 27 फरवरी को अनीस के घर पहुंची. उनके मोहल्ले में सन्नाटा पसरा हुआ था. गली के अधिकतर घर जलकर खाक हो गए थे, गली मलबे से पटी पड़ी थी.

गली में खड़ी सभी गाड़ियां जला दी गई हैं. घर जलकर खाक होने की वजह से अनीस की गली के सभी लोग सामने वाली गली में एक अस्थाई जगह पर शिफ्ट हो गए हैं. पेट्रोल बम और सिलेंडर विस्फोट के कारण अनीस के घर की छत ढह चुकी है, घर के बाहर मलबे का ढेर है.

घर में घुसते ही दिखाई देता है कि सारा सामान जलकर खाक हो चुका है. फिर चाहे वो रसोई का सामान हो या फिर फर्नीचर. सामने के कमरे में एक जला हुआ बेड मिला, जिससे रह-रहकर धुंआ निकल रहा था. तपिश और जलने की गंध साफ महसूस की जा सकती थी.

अनीस के परिवार के लोग अभी भी डरे हुए हैं. पहली मंजिल पर पहुंचने पर हमें जले हुए सामान का ढेर मिला, पूछने पर अनीस के पिता ने बताया कि ये उनकी बेटी की शादी का सामान था.

अनीस और उनकी बहन की इसी साल शादी होनी है. ऐसे में बीएसएफ उनके परिवार की मदद के लिए आगे आया है. बीएसएफ उनके घर के पुनर्निर्माण में मदद करेगा और उन्होंने आर्थिक सहयोग का भी वादा किया है.

मोहम्मद अनीस के चचेरे भाई गुलशेर ने द वायर  को बताया, ’माहौल बिगड़ने की खबर के साथ ही हमने घर से निकलना बंद कर दिया था. 25 फरवरी की रात लगभग 500 से अधिक दंगाइयों की भीड़ जय श्री राम के नारे लगाते हुए पेट्रोल बम, असलहा-बारूद के साथ हमारी गली में घुसी और गली में खड़ी सभी गाड़ियों को आग लगा दी. भीड़ ने पथराव करना शुरू कर दिया. हमने भीड़ से बचने के लिए छत पर चले गए. दंगाई पेट्रोल बम जलाकर छतों पर फेंकने लगे.’

अनीस के पिता मोहम्मद मुनिस ने बताया, ‘मैंने जिंदगी में कभी नहीं सोचा था कि ऐसा माहौल देखने को मिलेगा. हम लोग घर में फंस गए थे, अगर फोर्स नहीं आती तो हम बच नहीं पाते. दंगाइयों की भीड़ पाकिस्तानियों बाहर निकलो, देश के गद्दारों को गोली, मारो सालों को और जय श्री राम के नारे लगा रही थी.’