भारत

दिल्ली दंगा: आईबी कर्मचारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में शरीर पर चोट के 51 निशान मिले

दिल्ली में हुए दंगे के दौरान मारे गए आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि उनके शरीर पर मिले चोट के निशान में चाकू से गोदे जाने के 12 निशान हैं.

आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा. (फोटो: एएनआई)

आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा. (फोटो: एएनआई)

नई दिल्ली: उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के दौरान मारे गए इंटेलिजेंस ब्‍यूरो (आईबी) के कर्मचारी अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि उनके शरीर पर चोट के कुल 51 निशान पाए गए हैं, जिनमें से चाकू से गोदे जाने के 12 निशान हैं.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि अंकित के शरीर पर तेज धारदार हथियार से चोट के 33 निशान भी मिले हैं. ये निशान अंकित शर्मा के पैर, सीने, जांघ और शरीर के पिछले हिस्से में हैं.

इसके साथ ही छह कट के निशान हैं, जिसमें स्क्रैच के निशान भी हैं. अंकित के सिर पर रॉड और डंडे से चोट के निशान भी मिले हैं.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट कहती है कि अंकित शर्मा की मौत फेफड़ों और सिर पर लगी गंभीर चोट से हुई थी. रिपोर्ट कहती है कि अंकित शर्मा के पूरे शरीर पर चोट के निशान मिले हैं लेकिन अधिकतर निशान उनकी पीठ और रीढ़ की हड्डी में हैं.

बता दें कि अंकित 25 फरवरी को गायब हुए थे. वह उत्तर पूर्वी दिल्ली में अपने परिवार के साथ रहते थे. हिंसा के दौरान चाकू मारने और बेरहमी से पिटाई करने के बाद उनकी हत्या कर दी गई थी. अंकित शर्मा का शव 26 फरवरी को चांदबाग में नाले से मिला था.

परिवार के मुताबिक, वो दफ्तर से आकर बाहर लोगों को समझाने गए थे, तभी ताहिर के घर के बाहर भीड़ ने उन्हें पकड़ कर पीटा, चाकुओं से हमला किया और ताहिर के घर अंदर ले जाकर और हमला किया. अब तक इस मामले में सलमान नाम के एक शख्स की गिरफ्तारी हुई है.

अकिंत शर्मा की हत्या का आरोप आम आदमी पार्टी से निष्कासित पार्षद ताहिर हुसैन पर लगा है और उन्हें इस मामले में गिरफ्तार भी किया गया.

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने ताहिर हुसैन के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग, हत्या, आगजनी और हिंसा फैलाने का मामला दर्ज किया गया है.

दिल्ली पुलिस ने ताहिर हुसैन के चांदबाग स्थित घर और खजूरी खास स्थित फैक्ट्री को सील कर दिया है.