भारत

कोरोना वायरसः दिल्ली मेट्रो ने जारी की एडवाइज़री, खड़े होकर नहीं कर सकेंगे सफर

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने आठ सूत्रीय एडवाइज़री जारी कर कहा कि मेट्रो के अंदर भी यात्रियों को एक मीटर की दूरी बनानी होगी और एक सीट छोड़कर बैठना होगा. साथ ही मेट्रो में सफर कर रहे यात्रियों की रैंडम थर्मल स्कैनिंग की जाएगी.

Passengers wear masks while travelling in a Delhi metro train as a prevention measure against coronavirus. (Photo: PTI)

कोरोना वायरस के चलते अधिकतर मेट्रो यात्री मास्क का इस्तेमाल कर रहे हैं. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्लीः दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने कोरोना वायरस के मद्देनजर यात्रियों के लिए एडवाइजरी जारी की है.

डीएमआरसी की ओर से गुरुवार देर रात जारी की गई आठ सूत्रीय एडवाइजरी में कहा गया है कि यात्रियों से कहा गया है कि वे केवल बहुत जरूरी होने पर ही मेट्रो से सफर करें.

मेट्रो में या स्टेशन पर यात्रा करते समय एक-दूसरे से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाए रखें.

मेट्रो में यात्रियों को खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी. वहीं, जो यात्री मेट्रो में सवार होंगे, उन्हें एक सीट छोड़कर बैठना होगा.

एडवाइजरी के मुताबिक, मेट्रो में सफर कर रहे यात्रियों की रैंडम थर्मल स्कैनिंग की जाएगी. स्कैनिंग की व्यवस्था सभी स्टेशनों पर है. अगर किसी को बुखार या उनमें कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए तो उन्हें मेडिकल टेस्ट के लिए भेजा जाएगा या अलग (क्वारैन्टाइन) रखा जाएगा.

एडवाइजरी में कहा गया है कि ट्रेनें ऐसे स्टेशनों पर नहीं रुक सकती हैं, जहां यात्रियों की भीड़ हो सकती है. जहां यात्रियों के बीच एक मीटर की अपेक्षित दूरी से कम हो सकती है, वहां ट्रेन नहीं रुकेगी.

ट्रेनों की फ्रीक्वेंसी यानी ट्रेनों की फेरों की संख्या स्थिति के अनुसार कम हो सकती है.

इसके साथ ही मेट्रो में यात्रा करने और मेट्रो परिसर के भीतर रहने के दौरान यात्रियों को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए समय-समय पर जारी की गई सलाह का पालन करने को कहा गया है.

कोई भी यात्री जिसमें कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के समान लक्षण हैं, उन्हें मेट्रो या सार्वजनिक परिवहन के किसी अन्य तरीके से यात्रा से बचने की सलाह दी गई है.

डीएमआरसी की तरफ से लोगों से अपील की गई है कि वे इस वैश्विक संकट से निपटने के लिए धैर्य के साथ संकल्प लें और कोरोना वायरस के प्रसार को कम करने के लिए अधिकारियों के साथ सहयोग करें.