भारत

सीबीआई ने कोल आपूर्ति मामले में अडाणी, वेदांता सहित 25 कंपनियों पर केस दर्ज किया

सीबीआई का आरोप है कि महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड के चार पूर्व वरिष्ठ अधिकारियों ने नामजद कंपनियों के साथ मिलकर कोयला आपूर्ति के एक मामले में महानदी कोलफील्ड्स को 97 करोड़ रुपये का चूना लगाने की साजिश रची.

तालचेर में स्थित महानदी कोल्डफील्ड्स लिमिटेड की खदान. (फोटो:  रॉयटर्स)

तालचेर में स्थित महानदी कोल्डफील्ड्स लिमिटेड की खदान. (फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: सीबीआई ने महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड के चार पूर्व वरिष्ठ अधिकारियों तथा अडाणी पावर लिमिटेड, जिंदल स्टील, एसीसी और वेदांता समेत 25 कंपनियों को एक मामले में नामजद किया है.

यह मामला महानदी कोलफील्ड्स को 97 करोड़ रुपये का चूना लगाने से संबंधित है. अधिकारियों ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी.

अधिकारियों ने कहा कि 2013 से 2017 के बीच कथित साजिश रचने को लेकर महानदी कोलफील्ड्स के वित्त विभाग के चार पूर्व अधिकारियों मुख्य प्रबंधक कावेरी मुखर्जी, वरिष्ठ प्रबंधकों अनिल कुमार भौमिक व देवज्योति चक्रवर्ती तथा उप प्रबंधक श्रीपल्ली वीरगंथा को नामजद किया है.

इनके अलावा 25 बड़ी कंपनिसों को भी नामजद किया गया है. इन कंपनियों में एसीसी, अडाणी पावर लिमिटेड, अडाणी पावर महाराष्ट्र यूनिट-3, अडाणी पावर महाराष्ट्र यूनिट-1, वेदांता, सीसा स्टर्लाइट लिमिटेड, जेके पेपर लिमिटेड, जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड, इफको और ईमामी बायोटेक लिमिटेड शामिल हैं.

सीबीआई का आरोप है कि इन अधिकारियों ने नामजद कंपनियों के साथ मिलकर कोयला आपूर्ति के एक मामले में महानदी कोलफील्ड्स को चूना लगाने की साजिश रची.

इस मामले में शिकायतकर्ता कोल इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अनिल कुमार झा हैं, जिन्होंने जनवरी 2020 में सीबीआई को आरोप भेजे थे. द वायर ने एफआईआर में नामित कंपनियों से एक बयान के लिए कहा है. उनकी प्रतिक्रिया मिलने के बाद हम इस खबर को अपडेट करेंगे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)