भारत

कोरोना वायरस: पंजाब सरकार ने की कर्फ्यू की घोषणा

पंजाब सरकार ने घोषणा की है कि कर्फ्यू के दौरान ज़रूरी सेवाओं पर रोक नहीं रहेगी. कोरोना वायरस के कारण कर्फ्यू लगाने वाला पंजाब पहला राज्य है.

कोरोना वायरस के चलते राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों ने लॉकडाउन की घोषणा की है. (फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना वायरस के चलते राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों ने लॉकडाउन की घोषणा की है. (फोटो: रॉयटर्स)

चंडीगढ़: कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर पंजाब सरकार ने राज्यभर में कर्फ्यू की घोषणा कर दी. कर्फ्यू के दौरान जरूरी सेवाओं को छूट दी जाएगी.

मालूम हो कि सुरक्षा के मद्देनजर देश के विभिन्न शहर में लॉकडाउन की घोषणा की गई है. कोरोना वायरस के कारण कर्फ्यू लगाने वाला पंजाब पहला राज्य बन गया है.

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि मुख्य सचिव, राज्य पुलिस प्रमुख के साथ स्थिति की समीक्षा के बाद कर्फ्यू की घोषणा कर दी गई है. किसी भी व्यक्ति को एक खास समय और उद्देश्य को लिए ही विशेष परिस्थितियों में ही कर्फ्यू के दौरान छूट दी जाएगी.

सभी जिलों के उपायुक्तों को इसके हिसाब से आदेश जारी करने का निर्देश दिया गया.

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा है, ‘मैंने जरूरतमंदों के लिए मुफ्त भोजन, रहने और दवाइयों का प्रबंध करने का निर्देश दिया है और मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 20 करोड़ रुपये जारी कर दिए है. इसके अलावा उपायुक्त और एसडीएम को जरूरतमंदों के लिए सहायता बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए हैं.’

कोरोना वायरस के कारण लोगों की आजीविका को हो रहे नुकसान को देखते हुए पंजाब काडर के सभी आईएएस अधिकारी और पंजाब सतर्कता विभाग के सभी अधिकारी अपनी एक दिन की तनख्वाह मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करेंगे.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना वायरस से सुरक्षा के मद्देनजर असाधारण कदम उठाते हुए पूरे देश के 22 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 75 जिलों में लॉकडाउन की घोषणा की गई है. इसके अलावा कई शहरों में धारा 144 लागू कर दी गई है.

इसके अलावा सभी पैसेंजर ट्रेनें, अंतरराज्यीय बसें और मेट्रों ट्रेन सेवा को भी 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है. मुंबई की लोकल ट्रेनों को भी 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है.

कोरोना वायरस के कारण देश में अब तक कुल सात लोगों की मौत हो चुकी है.