भारत

कोरोनाः एम्स की सभी ओपीडी सेवाएं अस्थाई तौर पर बंद

दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने कहा है कि ओपीडी के लिए नियमित पंजीकरण की प्रक्रिया भी रोक दी गई है. अब सिर्फ आपातकालीन सर्जरी ही की जा रही हैं.

नई दिल्ली स्थित एम्स. (फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्लीः कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के बीच अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने सोमवार से सभी ओपीडी सेवाओं को अगले आदेश तक बंद कर दिया है.

एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, एम्स की तमाम ओपीडी सेवाओं को अस्थाई तौर पर बंद किया गया है. इसके साथ ही ओपीडी के लिए नियमित पंजीकरण की प्रक्रिया भी रोक दी गई है.

एम्स की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया, ‘यह फैसला लिया गया है कि विशेष क्लीनिक सहित एम्स में नियमित ओपीडी के मरीजों का पंजीकरण 23 मार्च से अगले आदेश तक अस्थाई तौर पर बंद किया जा रहा है.’

इससे पहले एम्स ने शुक्रवार को एक सर्कुलर जारी कर 21 मार्च से सर्जरी रोकने की घोषणा की थी. एम्स में अब सिर्फ आपातकालीन जीवनरक्षक सर्जरी ही की जा रही है. इस संबंध में एम्स ने दिशानिर्देश भी जारी किए हैं.

इस बीच इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि हरियाणा के झज्जर में एम्स की इमारत का इस्तेमाल कोविड-19 के मरीजों के इलाज में किया जाएगा.

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देशभर के विभिन्न सरकारी अस्पतालों और चिकित्सा शिक्षा संस्थानों को पर्याप्त संख्या में वेटिलेंटर और ऑक्सीजन मास्क की व्यवस्था करने को कहा है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय देशभर के बड़े अस्पतालों को अस्पताल परिसर में भीड़ इकट्ठा नहीं होने देने को लेकर भी एडवाइजरी जारी की है.

मालूम हो कि देश में कोरोना वायरस से अब तक सात लोगों की मौत हो चुकी है और 400 से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं.