नॉर्थ ईस्ट

कोरोना वायरस: देश में 10वीं मौत, 32 राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों में लॉकडाउन

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले बढ़कर तकरीबन 500 हुए. पूर्वोत्तर में संक्रमण का पहला मामला सामने आया. मणिपुर में 23 वर्षीय युवती को वायरस से संक्रमित पाया गया.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है. इस महामारी के संक्रमण से 10वीं मौत दर्ज की गई है.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मुंबई के एक अस्पताल में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के रहने वाले कोरोना वायरस संक्रमित 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत बीते सोमवार को हो गई. कस्तूरबा गांधी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों की संख्या 101 पहुंच गई है. इनमें से तीन नए मामले पुणे और एक सतारा में सामने आए हैं. देश में संक्रमण के सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में ही दर्ज किए गए हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, मणिपुर में मंगलवार को कोरोना वायरस का पहला मामला दर्ज किया गया. इसके बाद पूरे राज्य में अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि 23 वर्षीय युवती ब्रिटेन से मणिपुर लौटी थी. मणिपुर के साथ ही पूर्वोत्तर में भी कोरोना वायरस के संक्रमण का ये पहला मामला है.

इसके साथ ही पूरे देश में वायरस के संक्रमण के मामले तकरीबन 500 हो गए हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई ने स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के हवाले से बताया है कि अब तक 492 मामले दर्ज किया गए हैं, इनमें से 446 सक्रिय मामले हैं.

बहरहाल बीते सोमवार को कोरोना वायरस से मौत के कुल तीन मामले सामने आए. मुंबई में यूएई के व्यक्ति की मौत के अलावा पश्चिम बंगाल और हिमाचल प्रदेश में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई.

दोनों राज्यों में संक्रमण से मौत का ये पहला मामला था. सोमवार को कोलकाता में 55 वर्षीय एक व्यक्ति और हिमाचल प्रदेश के टांडा में 69 वर्षीय एक तिब्बती शरणार्थी की मौत हो गई थी.

इससे पहले बीते रविवार को तीन लोगों की मौत महाराष्ट्र, गुजरात और बिहार में हुई थी. बिहार में 38 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हुई, जो अब तक मरने वालों में सबसे युवा थे. बिहार और गुजरात में कोरोना वायरस से मौत का यह पहला मामला था.

वहीं महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में अब तक कुल तीन मौतें दर्ज की जा चुकी हैं.

देश में कोराना वायरस से मौत का सबसे पहला मामला कर्नाटक में ही सामने आया है. कर्नाटक में कलबुर्गी के रहने वाले 76 वर्षीय एक बुजुर्ग की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण से बीते 10 मार्च की रात को हुई थी. यह व्यक्ति सउदी अरब से लौटे थे.

32 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में पूर्ण लॉकडाउन

कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए अब तक 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पूर्ण लॉकडाउन (बंद) की घोषणा कर दी गई है. इसके साथ ही अब लॉकडाउन किए गए जिलों की संख्या बढ़कर 560 हो गई है.

इसमें दिल्ली, पश्चिम बंगाल, केरल, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, गुजरात, कर्नाटक, असम, उत्तराखंड आदि राज्य शामिल हैं. इसके अलावा कुछ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने अपने यहां पूर्ण कर्फ्यू की भी घोषणा कर दी है. इनमें पंजाब, महाराष्ट्र, चंडीगढ़, पुदुचेरी आदि शामिल हैं.

अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि तीन अन्य राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने अपने यहां के कुछ इलाकों में बंद लागू किया है जिसके दायरे में 58 जिले आ रहे हैं. एक केंद्र शासित प्रदेश ने अपने क्षेत्र में कुछ गतिविधियों पर रोक लगाई है.

सरकार के एक अधिकारी ने कहा, ‘केंद्र सरकार की ओर से राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को जारी निर्देश के अनुपालन में कुल 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पूर्ण बंद की घोषणा कर दी गई है. इसका मतलब है कि कुल 560 जिलों में लॉकडाउन है.’

देश में कुल 28 राज्य और आठ केंद्र शासित प्रदेश हैं.

पिछले कुछ दिनों में संक्रमण के मामले अचानक बढ़ने के बाद देश के तमाम हिस्सों में धारा 144 भी लागू कर दी गई है. चार से अधिक लोगों के एकत्र होने पर प्रतिबंध हैं और सड़क, रेल एवं हवाई यातायात पर 31 मार्च तक रोक लगा दी गई है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)