भारत

कोरोना वायरसः देश में मृतकों की संख्या 17 हुई, संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 726

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने लॉकडाउन के बीच लोगों से मस्जिदों में इकट्ठा नहीं होने और घरों में ही रहकर जुमे की नमाज़ अदा करने की अपील की है.

(फोटोः पीटीआई)

(फोटोः पीटीआई)

नई दिल्लीः कोरोना वायरस के संकट के बीच देश में मृतकों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है. शुक्रवार को राजस्थान में कोरोना से मौत का दूसरा मामला सामने आया.

राजस्थान के भीलवाड़ा में 60 साल के एक शख्स की कोरोना से मौत हो गई है. डॉक्टरों का कहना है कि पीड़ित को उच्च रक्तचाप और किडनी संबंधी समस्याएं भी थीं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोरोना के 88 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 724 हो गई है. इनमें 47 विदेशी भी हैं.

कोरोना वायरस के मद्देनजर लॉकडाउन के बीच ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने अपील की है कि जुमे की नमाज़ के लिए मस्जिदों में लोग इकट्ठा नहीं हो और अपने-अपने घरों में ही नमाज़ पढ़ें.

दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने ऐलान किया है कि जुमे की नमाज़ अदा नहीं की जाएगी.
फतेहपुरी मस्जिद के इमाम मुकर्रम अहमद ने भी लोगों से कहा है कि दिशानिर्देशों का पालन कर घर से ही नमाज़ अदा की जाए.

वित्त मंत्री ने कहा कि ये पैकेज ज्यादातर असंगठित क्षेत्रों के मजदूरों खासकर दिहाड़ी मजदूरों और गरीबों के लिए लाभकारी होगा. हालांकि वित्त मंत्री द्वारा घोषित राशि में पीएम-किसान, उज्ज्वला योजना जैसी उन योजनाओं की भी राशि शामिल है जोकि पहले से ही चल रही हैं और तय समय पर उसको जारी किया जाना था.

वैश्विक स्तर पर बात करें तो मृतकों की संख्या हो गई है. इटली में अब तक 8,215 लोगों की मौत हो गई है. इसके बाद स्पेन में 4,365, चीन में 3.169, ईरान में 2,234 और फ्रांस में 1,696 लोगों की मौत हो चुकी है.

अमेरिका में अकेले गुरुवार को ही कोरोना के 16,000 से अधिक मामलों की पुष्टि हुई है, जिसके साथ ही वहां इससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 85,088 हो गई है.

जॉन्स हॉप्किंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, दुनियाभर में कोरोना वायरस से 24,057 लोगों की मौत हुई है जबकि संक्रमित लोगों की संख्या पांच लाख से अधिक हो गई है.

इससे पहले गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना संकट के मद्देनजर 1.75 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान किया.

वित्त मंत्री ने कहा कि ये पैकेज गरीबों के कल्याण के लिए है और इसे गरीब कल्याण योजना के तहत घोषित किया गया है.

इस योजना के तहत देश के 80 करोड़ गरीबों या दो तिहाई जनसंख्या को अगले तीन महीने पांच किलो चावल और गेहूं मुफ्त मिलेगा. ये पहले से मिल रहे पांच किलो के ऊपर होगा. इसके साथ ही हर महीने एक किलो दाल भी मिलेगी.

इसके अलावा अगले तीन महीने के लिए स्वास्थ्यकर्मियों जैसे कि डॉक्टरों, आशा वर्कर आदि के लिए 50 लाख रुपये का बीमा होगा.