भारत

कोरोना वायरस: विदेश से लौटे केरल के आईएएस अधिकारी क्वारंटाइन नियम तोड़ने पर सस्पेंड

केरल के आईएएस अधिकारी अनुपम मिश्रा मलेशिया से भारत लौटे थे. कोरोना वायरस के मद्देनज़र प्रशासन द्वारा 14 दिनों तक घर में ही रहने की हिदायत के बावजूद वे कथित तौर पर कानपुर चले गए थे.

आईएएस अधिकारी अनुपम मिश्रा (फोटो साभारः इब्सना)

आईएएस अधिकारी अनुपम मिश्रा (फोटो साभारः इब्सना)

तिरुवनंतपुरमः केरल के कोल्लम जिले में सब कलेक्टर पद पर तैनात आईएएस अधिकारी अनुपम मिश्रा को कथित रूप से क्वारंटाइन नियमों का उल्लंघन करने पर सस्पेंड कर दिया गया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, विदेश से भारत लौटने पर आईएएस अधिकारी को 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन करने को कहा गया था लेकिन कथित तौर पर इसका उल्लंघन करने पर उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है.

इसके साथ ही विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं. अधिकारी के खिलाफ आपराधिक मामला भी दर्ज कर लिया गया है.

2016 बैच के आईएएस अधिकारी मिश्रा को कोल्लम जिला कलक्टर बी. अब्दुल नज़र की रिपोर्ट के आधार पर सस्पेंड किया गया है.

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि सब-कलक्टर अनुपम मिश्रा का व्यवहार अनुचित था.

बता दें कि अनुपम मिश्रा 18 मार्च को सिंगापुर से भारत लौटे थे. भारत लौटने पर जिला कलेक्टर ने उन्हें 14 दिनों तक के अनिवार्य क्वारंटाइन रहने को कहा था, जिस पर अधिकारी ने सहमति दी थी.

हालांकि, जब स्वास्थ्य अधिकारी नियमित चेकअप के लिए गुरुवार को सब-कलक्टर के घर पहुंचे तो घर पर ताला लगे देखा. जिला कलक्टर ने उनसे संपर्क किया गया तो अधिकारी ने कहा कि उन्होंने बंगलुरु में अपने भाई के घर पर खुद को क्वारंटाइन रखा है.

आईजी (दक्षिण जोन) हर्षिता अतालुरी ने कहा, ‘पड़ताल करने पर उनके मोबाइल लोकेशन कानपुर की थी. आईपीसी की धारा 269 के तहत उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.’

जिला कलक्टर ने सब-कलक्टर अनुपम मिश्रा के गैरजिम्मेदाराना और गैरकानूनी कदम को लेकर राज्य सरकार को एक रिपोर्ट सौंपी है.

शीर्ष सरकारी सूत्रों ने कहा, ‘एक जिम्मेदार नागरिक के तौर पर उन्हें समाज में एक उदाहरण पेश करना चाहिए, इस तरह की परिस्थिति में उनके इस रवैये को न्यायोचित नहीं ठहराया जा सकता. उनके खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू कर दी है और मामला दर्ज किया गया है.’