भारत

बिहारः अस्पताल ने एंबुलेंस मुहैया नहीं कराई, परिवार को कंधों पर शव ले जाना पड़ा

पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल ने शव ले जाने के लिए पीड़िता के परिवार से कथित तौर पर 3,000 रुपये मांगें, जिसके बाद परिवार को चार किलोमीटर तक शव को कंधों पर उठाकर ले जाना पड़ा.

Aligarh: Medical workers escort a suspected coronavirus patient to get in an ambulance as he is shifted to a hospital for treatment during nation-wide lockdown, in Aligarh, Wednesday, March 25, 2020. (PTI Photo)(PTI25-03-2020_000259B)

(फोटोः पीटीआई)

पटनाः बिहार की राजधानी पटना में अस्पताल प्रशासन द्वारा कथित तौर पर मृतक को ले जाने के लिए एंबुलेंस मुहैया नहीं कराने पर परिवार को चार किलोमीटर पैदल चलकर शव कंधों पर ले जाना पड़ा.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एनएमसीएच) में शुक्रवार को बिहार शरीफ की 25 साल की एक महिला की मौत हो गई थी.

महिला के चाचा ह्रदय पासवान का कहना है कि अस्पताल प्रशासन ने एंबुलेंस मुहैया कराने के लिए 3,000 रुपये की मांग की, जो हम नहीं दे पाए.

पासवान ने कहा कि हमें लॉकडाउन की वजह से कोई वाहन नहीं मिला इसलिए शव को कंधे पर उठाकर शवदाह गृह ले जाना पड़ा. हमें गुल्बी घाट पहुंचने में दो घंटे का समय लगा. सड़के पूरी तरह से खाली थीं. सड़क पर एक रिक्शा तक नहीं था.

पीएमसीएच के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. बिनल कुमार ने अभी तक इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.