भारत

लॉकडाउन: लापरवाही के चलते दिल्ली सरकार के दो अधिकारी निलंबित, दो को कारण बताओ नोटिस

गृह मंत्रालय ने बताया कि ये अधिकारी लॉकडाउन के दौरान सार्वजनिक स्वास्थ्य व सुरक्षा को सुनिश्चित करने में विफल रहे हैं. ड्यूटी में घोर लापरवाही बरतने की वजह से अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई.

लॉकडाउन के दौरान दिल्ली से पलायन करते प्रवासी मजदूर (फोटो: पीटीआई)

लॉकडाउन के दौरान दिल्ली से पलायन करते प्रवासी मजदूर (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: केंद्र ने कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन के दौरान कर्तव्य के निर्वहन में ‘गंभीर चूक’ के कारण दिल्ली सरकार के दो वरिष्ठ अधिकारियों को निलंबित कर दिया और दो अन्य को कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं.

गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि दिल्ली सरकार के जिन दो अधिकारियों- अतिरिक्त मुख्य सचिव (परिवहन)  रेणु शर्मा और प्रधान सचिव (वित्त) राजीव वर्मा को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है.

जिन दो अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं, वे अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) सत्य गोपाल और एसडीएम सीलमपुर अजय अरोड़ा हैं.

प्रवक्ता ने बताया कि केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के संबंध में कर्तव्य का पालन करने में लापरवाही के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की सरकार के चार अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की है.

उन्होंने बताया कि आपदा प्रबंधन कानून 2005 के तहत गठित राष्ट्रीय कार्यकारी समिति के अध्यक्ष के निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार ये अधिकारी ऐसा करने में प्रथमदृष्टया असफल रहे.

अमर उजाला के मुताबिक गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है, यह नोटिस किया गया है कि इन अधिकारियों को राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति के सचिव द्वारा जारी निर्देशों का सख्ती से पालन कराना था. मगर प्रथम दृष्टया ये अधिकारी अपनी जिम्मेदारी निभाने में विफल रहे हैं. यह समिति आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अंतर्गत गठित की गई थी.

उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन की घोषणा के बाद से दिल्ली से बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरों का पलायन हुआ है और अभी भी हो रहा है. परिवहन का साधन नहीं होने से लोग पैदल ही सैकड़ों किलोमीटर सफर कर रहे हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)