भारत

कोरोना: आईसीएमआर ने कहा, सार्वजनिक स्थान पर तंबाकू का न तो सेवन करें और न ही थूकें

देश की शीर्ष स्वास्थ्य अनुसंधान निकाय आईसीएमआर ने कहा है कि सार्वजनिक स्थानों पर थूकना कोरोना वायरस को और फैला सकता है.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने लोगों से अपील की कि वे तंबाकू का सेवन न करें और न ही सार्वजनिक स्थानों पर थूकें.

शीर्ष स्वास्थ्य अनुसंधान निकाय ने कहा कि तम्बाकू उत्पादों (गुटखा, पान मसाला तंबाकू के साथ, पान और अन्य चबाने वाले तम्बाकू उत्पाद) और सुपारी लार के उत्पादन को बढ़ाते हैं जिसके बाद थूकने की बहुत तीव्र इच्छा होती है.

आईसीएमआर ने कहा, ‘सार्वजनिक स्थानों पर थूकना कोरोना वायरस को और फैला सकता है. महामारी के बढ़ते खतरे के मद्देनजर, यह आम जनता से अपील है कि तम्बाकू उत्पादों के सेवन और सार्वजनिक स्थानों पर थूकने से परहेज करें.’

मालूम हो कि सोमवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना वायरस के चलते मृतकों की संख्या 109 हो गई, जबकि कुल संक्रमितों की संख्या 4,067 हो गई है.

आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब भी 3,666 संक्रमित लोग हैं जबकि 291 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. कुल मामलों में 65 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.

कोरोना वायरस इसके संक्रमण के कारण बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती है. छींकने, खांसने के अलावा थूकने से इस वायरस के फैलने का खतरा हो सकता है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)