दुनिया

कोरोना वायरस: चार महीने में दूसरे अधिकारी ने अमेरिकी नौसेना प्रमुख पद छोड़ा

अमेरिकी विमान वाहक पोत यूएसएस थियोडोर रूज़वेल्ट के 100 से अधिक सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. नौसेना प्रमुख थॉमस मोडली पर आरोप था कि उन्होंने पोत के कप्तान को हटा दिया था, जिन्होंने इस बारे में पत्र लिखा, जो मीडिया में लीक हो गया था.

अमेरिकी नौसेना प्रमुख थॉमस मोडली (फोटोः रॉयटर्स)

अमेरिकी नौसेना प्रमुख थॉमस मोडली (फोटोः रॉयटर्स)

वॉशिंगटनः विमान वाहक पोत यूएसएस थियोडोर रूज़वेल्ट पर कोरोना वायरस की स्थिति से निपटने और फिर उसके कप्तान को हटाने के बाद उठे सवालों के बीच अमेरिका के कार्यवाहक नौसेना सचिव (प्रमुख) थॉमस मोडली ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया.

अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने यह जानकारी दी.

मालूम हो कि यूएसएस थियोडोर रूज़वेल्ट के 100 से अधिक सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं.

यह पोत बीते 11 दिन से गुआम (प्रशांत महासागर में अमेरिका नियंत्रिण एक द्वीप) में खड़ा है, ताकि इसके चालक दल के सदस्यों की कोरोना वायरस की जांच की जा सके.

इस विमान वाहक पोत के कप्तान ब्रेट क्रोजियर ने अपने क्रू के सदस्यों की मदद के लिए एक पत्र लिखा था, जो मीडिया में लीक हो गया था.

इस पत्र में उन्होंने पोत पर कोविड-19 के प्रकोप से क्रू सदस्यों के संक्रमित होने की जानकारी दी थी और पेंटागन (अमेरिकी रक्षा विभाग का मुख्यालय) से इसे खाली करने की अनुमति मांगी थी.

उन्होंने इसके साथ ही पेंटागन पर इस पर गौर नहीं करने का आरोप भी लगाया था.

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, कैप्टन क्रोजियन ने बीते 30 मार्च को यह पत्र लिखकर विमान वाहक पोत पर कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर सहायता देने का अनुरोध किया था. इस पोत पर चार हजार से ज़्यादा लोग सवार हैं.

इस घटना के सामने आने के बाद मोडली ने करीब पांच दिन पहले ही ‘रूज़वेल्ट’ के कप्तान ब्रेट क्रोजियर को उनके पद से हटा दिया था.

आरोप है कि क्रोजियर को बिना जांच के जल्दबाजी में उनके पद से हटा दिया गया था.

इसके बाद वॉशिंगटन से सोमवार को गुआम पहुंचे मोडली को उनके फैसले को लेकर काफी आलोचना का सामना करना पड़ा.

उन्होंने अपने फैसले को चालक दल के सदस्यों के समक्ष सही ठहराने की कोशिश भी की.

इसके कुछ घंटे बाद वॉशिंगटन लौटते ही मोडली ने माफी मांगी लेकिन अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने क्रोजियर पर की गई कार्रवाई पर सवाल उठाए और मामले में प्रत्यक्ष रूप से हस्तक्षेप करने की बात कही.

रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा कि मोडली ने नौसेना और नाविकों को ऊपर रखते हुए खुद इस्तीफा दिया है ताकि रूज़वेल्ट और नौसेना एक प्रतिष्ठान के तौर पर आगे बढ़ सकें.

एस्पर ने कहा कि सेना के सेवानिवृत्त एडमिरल एवं मौजूदा अपर सचिव जिम मैकफर्सन कार्यवाहक नौसेना प्रमुख के तौर पर मोडली की जगह लेंगे.

बता दें कि चार महीने में नौसेना प्रमुख के पद से इस्तीफा देने वाले मोडली दूसरे व्यक्ति हैं.

बीते नवंबर में रक्षा मंत्री एस्पर ने एक सील कंमाडो को लेकर लेकर तत्कालीन नौसेना सचिव रिचर्ड स्पेंसर को बर्खास्त कर दिया था. स्पेंसर ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के रुख के खिलाफ जाकर इस सील कंमाडो की बर्खास्तगी की प्रक्रिया शुरू की थी.

यह मामला नौसेना के विशेष बल सील के कमांडो एडवर्ड गैलाघेर से जुड़ा है. गैलाघेर पर 2017 में इराक में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के एक बंधक की हत्या और उसके शव के साथ फोटो खिंचवाने का आरोप था.

गैलाघेर को बंधक की हत्या के आरोप में बरी कर दिया गया था, लेकिन शव के साथ फोटो खिंचाने का दोषी ठहराया गया था. इसके लिए नौसेना ने गैलाघेर का डिमोशन कर दिया था.

राष्ट्रपति ट्रंप ने गत 15 नवंबर को इस मामले में दखल देते हुए गैलाघेर को क्षमा कर दिया और उनकी रैंक बहाल करने का आदेश दिया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)