भारत

दिल्ली: कोरोना वायरस फैलाने की साज़िश रचने के शक़ में युवक की पिटाई

मामला दिल्ली के बवाना इलाके का है. पुलिस ने कहा कि तबलीगी जमात के एक कार्यक्रम से मध्य प्रदेश के भोपाल से लौटे 22 वर्षीय महबूब अली जब अपने गांव पहुंचा तो अफवाह फैल गई कि उसकी कोरोना वायरस फैलाने की योजना है.

Screenshot (22)

नई दिल्ली: दिल्ली के बवाना में कोरोना वायरस फैलाने की साजिश रचने के शक में लोगों ने 22 वर्षीय युवक के साथ कथित तौर पर बेरहमी से मारपीट की. पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, इससे पहले पुलिस ने समाचार एजेंसी पीटीआई से युवक की मौत की बात कही थी. हालांकि पुलिस ने बताया है कि युवक जिंदा है और उसका इलाज चल रहा है.

पुलिस के अनुसार युवक की पहचान बवाना के हरेवली गांव निवासी महबूब अली के रूप में हुई है.

पुलिस ने कहा कि अली तबलीगी जमात के एक कार्यक्रम के लिए मध्य प्रदेश के भोपाल गया था और 45 दिनों के बाद सब्जियों के एक ट्रक में बैठकर दिल्ली वापस आया.

उसे आजादपुर सब्जी मंडी से पकड़ा गया था लेकिन चिकित्सीय परीक्षण के बाद छोड़ दिया गया था.

पुलिस ने कहा कि जब वह अपने गांव पहुंचा तो अफवाह फैल गई कि अली की कोरोना वायरस फैलाने की योजना है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि रविवार को उसे खेतों में ले जा कर पीटा गया. बाद में उसे अस्पताल ले जाया गया जहां उसका इलाज चल रहा है.

पुलिस ने मामला दर्ज कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

(नोट: युवक की मौत पर पुलिस के स्पष्टीकरण के बाद इस ख़बर को अपडेट किया गया है.)