दुनिया

कोरोना वायरस: विश्व में एक लाख से ज़्यादा लोगों की मौत, भारत में आंकड़ा 239 पहुंचा

दुनिया में कोरोना वायरस महामारी से अब तक 1,699,019 संक्रमित लोगों में से 102,782 लोगों की मौत हो चुकी है. अमेरिका में एक दिन 2,100 लोगों की मौत के साथ मृतक संख्या 18 हज़ार से ज़्यादा हुई. इटली में यह आंकड़ा 19 हज़ार के क़रीब पहुंचा, तीन मई तक लॉकडाउन बढ़ाया गया.

A woman who wears a mask to avoid contracting the coronavirus reacts when employees of a disinfection service company disinfect a traditional market in Seoul, South Korea. February 26, 2020. (REUTERS / Kim Hong-Ji)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली/रोम/पेरिस/बीजिंग: दुनिया भर में कोरोना वायरस यानी कोविड 19 से लोगों की मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. विश्व में जहां इससे जान गंवाने वाले लोगों की संख्या एक लाख के पार हो गई है, वहीं भारत में इस महामारी के चलते मृतकों का आंकड़ा शनिवार को 239 पर पहुंच गया और कुल संक्रमितों की संख्या 7,477 हो गई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, अब भी 6,565 लोग संक्रमण की चपेट में हैं, जबकि 642 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और एक व्यक्ति विदेश चला गया है.

मंत्रालय ने बताया कि शुक्रवार शाम से अब तक 33 लोगों की मौत हुई है. इनमें 17 मौत मध्य प्रदेश में, 13 महाराष्ट्र में, दो गुजरात में और एक असम में हुई है.

कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा 110 मौत महाराष्ट्र में हुई है. इसके बाद मध्य प्रदेश में 33, गुजरात में 19 और दिल्ली में 13 लोगों की मौत हुई है.

पंजाब में 11 मौत जबकि तमिलनाडु में आठ और तेलंगाना में सात लोगों की मौत हुई है. आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में छह-छह लोगों की मौत जबकि पश्चिम बंगाल में पांच लोगों की मौत हुई है.

जम्मू कश्मीर और उत्तर प्रदेश में जहां चार-चार मौत हुई है वहीं हरियाणा और राजस्थान में तीन-तीन लोगों ने वायरस के कारण अपनी जान गंवाई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, केरल में दो लोगों की मौत हुई है. बिहार, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, झारखंड और असम प्रत्येक से एक-एक व्यक्ति की मौत की खबर है.

कुल 7,447 संक्रमितों में 71 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं. मृतकों का आंकड़ा शुक्रवार की शाम तक 206 था.

हालांकि विभिन्न राज्यों से शुक्रवार रात 9:30 बजे तक प्राप्त आंकड़ों पर आधारित समाचार एजेंसी पीटीआई के अध्ययन के मुताबिक देश भर में 7,510 लोग संक्रमण की चपेट में हैं और कम से कम 251 लोगों की मौत हुई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों और विभिन्न राज्यों के आंकड़ों में अंतर है. अधिकारी इसके पीछे प्रक्रियात्मक देरी को वजह बता रहे हैं जो इसे लेकर हो रही है कि कौन सा मामला किस राज्य से जुड़ा है.

मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में संक्रमण के सबसे अधिक 1,574 मामले महाराष्ट्र से आए हैं. इसके बाद तमिलनाडु से 911 और दिल्ली से 903 मामले सामने आए.

राजस्थान में मामले बढ़कर 553 हो गए जबकि तेलंगाना में 473, मध्य प्रदेश में 435 और उत्तर प्रदेश में 431 मामले दर्ज किए गए.

केरल में 364 और आंध्र प्रदेश में 363 मामले सामने आए. गुजरात में अब तक 308 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हई है. कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 207, जबकि जम्मू कश्मीर और हरियाणा दोनों में 177 हो गए हैं.

पंजाब में अब तक 132 जबकि पश्चिम बंगाल में 116 मामले सामने आए. बिहार में इस विषाणु से 60 लोग संक्रमित पाए गए जबकि ओडिशा में कोरोना वायरस के 48 मामले दर्ज किए गए हैं.

उत्तराखंड में 35 और असम में 29 मरीज सामने आए हैं. इसके बाद हिमाचल प्रदेश में 28 मामले हैं. चंडीगढ़ और छत्तीसगढ़ में 18-18 मामले सामने आए जबकि लद्दाख में 15 और झारखंड में 14 लोग संक्रमित पाए गए.

Palghar: A worker sprays disinfectant outside a sanitizer cabin to curb the spread of coronavirus, during the nationwide lockdown, in Palghar, Friday, April 10, 2020. (PTI Photo)(PTI10-04-2020_000203B)

(फोटो: पीटीआई)

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 11 मामले दर्ज किए गए हैं. गोवा में संक्रमण के सात मामले सामने आए. इसके बाद पुदुचेरी में पांच मामले सामने आए. मणिपुर में दो जबकि त्रिपुरा, मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश में एक-एक मामला सामने आया है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा है, ‘राज्यवार आंकड़ों की अभी और पुष्टि एवं मिलान किया जा सकता है.’

दुनियाभर में कोरोना वायरस से मरने वाले की संख्या एक लाख के पार हुई

दुनिया भर में कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से मरने वाले लोगों की संख्या शुक्रवार को एक लाख के आंकड़े को पार कर गई. विश्वभर में करोड़ों लोगों को कोविड-19 महामारी के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के कारण घरों में ही ईस्टर (गुड फ्राइडे) मनाना पड़ा.

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, पिछले वर्ष दिसंबर में चीन के वुहान शहर में इस विषाणु के सामने आने के बाद से शनिवार तक 1,699,019 संक्रमित लोगों में से 102,782 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 376,976 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं.

इनमें से करीब 70 प्रतिशत लोगों की मौत यूरोप में हुई हैं. यूरोप में अब तक 70,245 लोगों की मौत हुई है.

इसके संक्रमण के कारण इटली में 18,849 लोगों की मौत हुई हैं. यह विश्व भर में किसी देश में सबसे अधिक मृतक संख्या है, जबकि उसके बाद अमेरिका में 17,925 लोगों की मौत हुई है. वहीं, स्पेन में 16,081 लोगों की मौत हुई है.

स्थिति बहुत भयावह होती जा रही है, ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सख्त चेतावनी जारी की है कि समय से पहले बंद हटाने से बीमारी बहुत तेजी से फैल सकती है. दुनिया की आधी से अधिक आबादी बंद लागू होने के कारण अपने घरों में हैं.

न्यूयॉर्क से लेकर नई दिल्ली और नेपल्स तक में वायरस को फैलने से रोकने के लिए असाधारण कदम उठाए गए हैं. व्यवसाय ठप हैं और स्कूल बंद हैं.

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने कहा कि आर्थिक गतिविधियां बंद होने से दुनिया 1930 के दशक की महामंदी के बाद अब सबसे बड़ी मंदी की ओर जा रही है.

अमेरिका में यह वायरस बहुत तेज गति से फैला है, जहां अब तक पांच लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि करीब 18,000 लोगों की मौत हो चुकी है.

अमेरिका और यूरोप के स्थिति लगातार खराब होती जा रही है, लेकिन अधिकारियों ने स्थिति में सुधार की उम्मीद जताई है.

गुड फ्राइडे पर आमतौर पर दुनिया भर के गिरजाघरों में भारी भीड़ होती है, लेकिन शुक्रवार को दुनिया के अधिकांश हिस्सों में लागू बंद के कारण करोड़ों लोगों ने अपने घर से ही यीशु को याद किया.

Volunteers in protective suits disinfect a residential compound in Wuhan, the epicentre of the novel coronavirus outbreak, in Hubei province, China. Reuters

(फोटो: रॉयटर्स)

लोग ईस्टर भी अपने घरों में रहकर मनाने पर मजबूर हैं. यहां तक कि पोप फ्रांसिस के ईस्टर संदेश की भी लाइव-स्ट्रीमिंग की जाएगी.

जर्मनी में श्रद्धालुओं ने गुड फ्राइडे मनाने के दौरान सामाजिक दूरी बनाए रखने के नियमों का पालन किया.

दुनिया भर में चार अरब से अधिक लोग अपने घरों में ही रहने को मजबूर हैं क्योंकि कई देशों की सरकारों ने इस घातक वायरस को फैलने से रोकने के लिए अभूतपूर्व कदम उठाए हैं.

इस हफ्ते चीन ने वुहान में लॉकडाउन को हटा दिया और प्रतिबंधों को कम करना शुरू कर दिया गया.

कारोबारियों के दबाव के बावजूद इटली में तीन मई तक लॉकडाउन

इटली के प्रधानमंत्री ग्युसेपे कोंते ने शुक्रवार को कारोबारियों के दबाव के आगे झुकने से इनकार करते हुए देश में लॉकडाउन की अवधि तीन मई तक बढ़ा दी.

इटली में कोविड-19 के कारण 570 और लोगों की मौत हो गई और मृतकों की संख्या 18,849 पर पहुंच गई, जो किसी भी अन्य देश के मुकाबले सर्वाधिक है. यहां इस महामारी के शनिवार तक 147,577 मामले दर्ज किए जा चुके हैं और 30,455 लोग इससे ठीक हो चुके हैं.

कारोबारी संघों ने कोंते को पत्र लिखकर कहा था कि अगर बंद जारी रहा तो कंपनियां वेतन का भुगतान नहीं कर पाएंगी.

अमेरिका में एक दिन में 2,100 से ज़्यादा मौत

वॉशिंगटन: अमेरिका में पिछले 24 घंटों में 2,108 लोगों की मौत होने के बाद वह विश्व का पहला ऐसा देश है जहां एक ही दिन में कोविड-19 से 2,000 से ज्यादा मौत हुई हो.

जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के आंकड़ों के मुताबिक संक्रमित व्यक्तियों के लिहाज से भी अमेरिका विश्व में सबसे ऊपर है और यहां संक्रमितों की संख्या 5,00,000 के पार पहुंच गई है.

विश्वविद्यालय के आंकड़ों में कहा गया है कि मृतकों के हिसाब से देखें तो अमेरिका जल्द ही इटली से आगे निकल जाएगा, जहां अब तक कोविड-19 मृतकों की संख्या 18,849 है.

शुक्रवार रात तक अमेरिका में 18,679 मौत हुई जो इटली से कुछ ही कम है. स्पेन में 16,000 से ज्यादा लोगों की और जर्मनी में करीब 13,000 लोगों की मौत हुई है.

इसमें बताया गया कि शुक्रवार रात तक कोरोना वायरस से 2,108 अमेरिकियों की मौत हो गई और 5,00,399 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई. अमेरिका में संक्रमितों की संख्या अन्य शीर्ष देशों के आंकड़ें साथ मिला देने से भी ज्यादा हैं.

स्पेन में संक्रमितों की संख्या 1,58,000, इटली में 1,47,000, जर्मनी में 1,22,000 और फ्रांस में 1,12,000 है.

कोविड-19 मृतकों के केंद्र के तौर पर उभरे न्यूयॉर्क में कुल 1,70,000 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है जो किसी अन्य देश से ज्यादा है.

न्यूयॉर्क में कोरोना वायरस से 7,800 से अधिक लोगों की मौत हुई है. वहीं न्यू जर्सी में करीब 2,000 मौत हुई है और 54,000 से अधिक संक्रमित हैं.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रीय आपदा की घोषणा की है और लगभग सभी 50 राज्यों के लिए बड़ी आपदा की घोषणा अधिसूचित की है तथा 33 करोड़ आबादी में से 95 प्रतिशत से अधिक घरों के भीतर रहने के आदेश के तहत जीवन बिता रहे हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

हालांकि कुछ अमेरिकी राज्यों ने घरों पर रहने संबंधी आदेश जारी करने से मना कर दिया है. वहीं दो राज्य – दक्षिण डकोटा और आयोवा ने ईस्टर नजदीक आने के साथ ही बीमारी के खात्मे को लेकर कई दिनों तक सामूहिक प्रार्थना करने का आधिकारिक आह्वान किया है.

इसके अलावा उत्तरी डकोटा, नेब्रास्का, अरकनसास, उत्तरपूर्वी ओहियो में भी इसी तरह की स्थिति है.

फ्रांस में बीते 24 घंटे में 987 लोगों की मौत, मृतक संख्या 13 हज़ार के पार

फ्रांस में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 987 लोगों की मौत हुई है. हालांकि आईसीयू में भर्ती रोगियों की संख्या में लगातार दूसरे दिन गिरावट आई है.

फ्रांस के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी जेरोम सेलोमोन ने पत्रकारों को बताया कि 554 लोगों की मौत अस्पतालों में, जबकि 433 मौतें नर्सिंग होम में हुईं. इसके साथ ही देश में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 13,197 हो गई है.

कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए दस साल के एक बच्चे की भी मौत हो गई है. हालांकि सेलोमोन ने कहा कि उसकी मौत के कई कारण हैं.

सेलोमोन ने कहा कि अच्छी खबर यह है कि आईसीयू में अब केवल 62 रोगी बचे हैं. बृहस्पतिवार से इसमें लगातार गिरावट आ रही है.

ब्रिटेन में एक दिन में सर्वाधिक 980 लोगों की मौत

लंदन: ब्रिटेन में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण से 980 लोगों की मौत हो गई. स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

ब्रिटेन में एक दिन में हुई मौत का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है. इसके साथ ही देश में शनिवार तक कोरोना वायरस के संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 8,958 हो गई है. इसके अलावा संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 74,605 हो गई है.

ईरान में पिछले 24 घंटे में 122 लोगों की मौत

तेहरान: ईरान में शुक्रवार को कोरोना वायरस से 122 लोगों की मौत हो गई जिसके बाद कोविड-19 के संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 4,232 पर पहुंच गई.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटे में 1,972 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है जिसके बाद संक्रमण का शिकार हुए व्यक्तियों की कुल संख्या 68,192 हो गई है.

ईरान अपनी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कम खतरे वाले व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को खोलने की तैयारी कर रहा है. ईरान के बाहर आशंका जताई जा रही है कि देश में कोविड-19 से होने वाली मौतों की वास्तविक संख्या बताई जा रही संख्या से अधिक हो सकती है.

चीन में 46 नए मामले आए सामने, तीन लोगों की मौत

चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 46 नए मामले दर्ज किए हैं जिनमें चार घरेलू संक्रमण के मामले शामिल हैं. चीन में कोरोना वारयस के 34 मामले ऐसे सामने आए जिनमें संक्रमण के कोई लक्षण दिखाई नहीं दे रहे.

चीन में इस वैश्विक महामारी से तीन और लोगों की मौत हो जाने से मृतक संख्या बढ़कर 3,339 हो गई है. स्वास्थ्य अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार चीनी मुख्य भूभाग में शुक्रवार तक विदेशों से आए संक्रमित लोगों की संख्या 1,183 दर्ज की गई. इनमें से 449 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 734 लोगों का इलाज किया जा रहा है, जिनमें से 37 लोगों की हालत गंभीर है.

New Delhi: Central Reserve Police Force (CRPF) personnel manufacture personal protective equipments (PPE) during the nationwide lockdown to curb the spread of coronavirus, in New Delhi, Friday, April 10, 2020. (PTI Photo/Ravi Choudhary)(PTI10-04-2020_000098B)

(फोटो: पीटीआई)

देश में संक्रमित लोगों की कुल संख्या शनिवार तक को 83,003 हो गई जिनमें 1,089 मरीजों का अभी उपचार चल रहा है, 77,525 लोगों को उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है और 3,339 लोगों की इस संक्रमण के कारण मौत हो गई है.

चीन के हुबेई प्रांत और उसकी राजधानी वुहान में कोरोना वायरस को काबू करने के बाद नए मामलों की संख्या बढ़ने के बीच चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कार्यस्थलों पर सुरक्षा कदमों पर कड़ी निगरानी रखे जाने का आदेश दिया.

चिनफिंग का यह आदेश ऐसे समय में आया है जब चीन ने इस वैश्विक महामारी के खिलाफ दो महीने से अधिक समय तक चले संघर्ष के बाद हाल में काम और उत्पादन आरंभ किया है.

ब्राजील में मरने वालों की संख्या 1000 से अधिक हुई

ब्रासीलिया: कोरोना वायरस महामारी से सबसे बुरी तरह प्रभावित लातिन अमेरिकी देश ब्राजील में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 1000 के पार पहुंच गई है.

ब्राजील में कोविड-19 संक्रमण के अब तक कुल 19,943 मामले सामने आए हैं और यहां 1,074 लोगों की मौत हो चुकी है और 173 लोग ठीक हो चुके हैं.

इस बीच ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो को कोविड-19 को ज्यादा तवज्जो न देकर उसे ‘मामूली फ्लू’ बताने के कारण आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है.

गैर जरूरी कारोबार बंद करने और लोगों को घरों में रहने की हिदायत देने के स्थानीय एवं राज्य प्राधिकारियों के फैसले को लेकर उनके और बोलसोनारो के बीच मतभेद पैदा हो गया है.

बोलसोनारो संक्रमण को रोकने संबंधी अपनी ही सरकार की सिफारिशों का सम्मान नहीं करते हुए शुक्रवार को अपने समर्थकों से मिलने ब्रासीलिया की सड़कों पर आए.

फेस मास्क पहने बिना और सामाजिक दूरी बनाए रखने की अनिवार्यता को नजरअंदाज करते हुए बोलसोनारो ने एक बुजुर्ग महिला से हाथ मिलाया और एक समय पर अपने दाएं हाथ से अपनी नाक भी पोंछी जिसे लेकर उनकी आलोचना हो रही है.

तुर्की में 1000 से अधिक लोगों की मौत

अंकारा: तुर्की में 1000 से अधिक लोग कोरोना वायरस से मारे गए हैं जबकि इस बीमारी के 4,747 नए मामले सामने आये हैं.

स्वास्थ्य मंत्री फाहरेट्टीन कोका ने ट्विटर पर यह आंकड़ा साझा किया और बताया कि पिछले 24 घंटे में 98 और लोगों की इस रोग से जान चली गयी.

इसके साथ ही इस महामारी से देश में अबतक 1,006 लोगों की मौत हो गई है. कोविड-19 के नये मामलों के साथ ही देश में अब तक इस वायरस के कुल 47,029 मामले सामने आए हैं.

पुर्तगाल मई तक आपातकाल बढ़ाएगा

लिस्बन: पुर्तगाल कोरोना वायरस से निपटने के लिए देश में लगाए गए आपातकाल को एक मई तक बढ़ाएगा.

राष्ट्रपति मार्सेलो रिबेलो डी सोसा ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘इस निर्णायक मौके पर हम अपनी निगरानी को कम नहीं कर सकते.’

उन्होंने कहा कि देश में 19 मार्च को शुरू हुआ आपातकाल अभी 19 अप्रैल तक लागू है जिसे अगले हफ्ते के अंत में औपचारिक रूप से बढ़ा दिया जाएगा.

Medical staff members wait for patients at a triage area at the Santa Maria hospital while the spread of the coronavirus disease (COVID-19) continues in Lisbon, Portugal April 9, 2020. REUTERS/Rafael Marchante

(फोटो: रॉयटर्स)

देश में सभी हवाई अड्डे सोमवार तक पूरी तरह बंद हैं और लोगों को सिर्फ काम के लिए अपने गृह नगर को छोड़ने की इजाजत है.

शनिवार तक पुर्तगाल में कोरोना वायरस के 15,472 मामले सामने आए हैं और यहां वायरस से 435 लोगों की मौत हो चुकी है.

ग्रीस में रोमा समुदाय के लोगों में संक्रमण पाए जाने के बाद लॉकडाउन

थेंस: मध्य ग्रीस में रोमा समुदाय के स्थानीय निवासियों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आने के बाद उस क्षेत्र में दो सप्ताह के लिए लॉकडाउन कर दिया गया है.

एथेंस के उत्तर में 350 किलोमीटर दूर स्थित लरिसा के पास निया स्मिरनी क्षेत्र में दर्जन भर से अधिक लोगों में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद बीते बृहस्पतिवार को यह निर्णय लिया गया.

स्थानीय अधिकारी कोस्तास अगोरास्टोस के अनुसार, लॉकडाउन के दौरान क्षेत्र के निवासियों की कोरोना वायरस की जांच की जाएगी. उन्होंने कहा कि क्षेत्र में रह रहे रोमा समुदाय के अन्य लोगों की भी जांच की जाएगी.

देश में शनिवार तक कोरोना वायरस के 2,011 मामलों की पुष्टि हुई है जिनमें से 92 लोगों की मौत हो चुकी है.

पाकिस्तान ने घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध की अवधि बढ़ाई

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के प्रयास तेज करते हुए घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध की अवधि 21 अप्रैल तक बढ़ा दी है.

इस बीच देश में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 4,788 तक पहुंच गई है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के मुताबिक, अब तक 54,706 लोगों की जांच की गई है, जिनमें से 2,478 लोगों की जांच गत 24 घंटे में हुई है.

मंत्रालय ने बताया कि अब तक 727 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं जबकि 71 लोगों की मौत हुई हैं और 45 की हालत गंभीर है.

पंजाब प्रांत में कोरोना वायरस से संक्रमण के 2,287 मामले, सिंध में 1214, खैबर-पख्तूनख्वा में 620, बलूचिस्तान में 219, गिलगित बाल्टिस्तान में 215, इस्लामाबाद में 107 तथा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 33 मामले सामने आए.

इस बीच देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान पंजाब प्रांत के मुल्तान में जरूरतमंद लोगों को नकद राशि वितरित किए जाते समय भगदड़ मच गई, जिसमें एक महिला की मौत हो गई और बीस अन्य घायल हो गए. पाकिस्तानी पुलिस और बचाव अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

पाकिस्तान की सरकार ने देश भर के एक करोड़ बीस लाख गरीब परिवारों को आर्थिक सहायता देने की घोषणा की थी जिसकी शुरुआत मुल्तान में हुई.

बांग्लादेश ने राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की अवधि 25 अप्रैल तक बढ़ाई

ढाका: बांग्लादेश में कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर देश में जारी लॉकडाउन को 11 और दिन के लिए बढ़ाते हुए उसे 25 अप्रैल तक प्रभावी कर दिया है.

A volunteer sprays disinfectant inside a bus amid concerns about the spread of coronavirus disease (COVID-19) in Dhaka, Bangladesh, March 18, 2020. REUTERS/Mohammad Ponir Hossain

(फोटो: रॉयटर्स)

अधिकारियों ने बताया कि पिछले 24 घंटे में वायरस के संक्रमण से छह लोगों की मौत होने के बाद देश में कर्फ्यू जैसा लॉकडाउन लागू किया गया है.

देश में अब तक संक्रमण से 27 लोगों की मौत हुई है और शनिवार तक 424 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

बांग्लादेश में कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला आठ मार्च को आया था.

नाईजीरिया में लॉकडाउन से आपूर्ति श्रृंखला प्रभावित, आम लोगों को दिक्कत

लागोस: नाईजीरिया के शहर लागोस के बाहरी इलाके में स्थित एक बाजार में जिमीकंद का व्यवसाय करने वाले ओलटुंजी ओकेसानया माल जुटाने के लिए संघर्षरत हैं, क्योंकि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए किए गए उपायों के कारण उन्हें माल नहीं मिल रहा है.

उन्होंने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, ‘आवाजाही में प्रतिबंधों के कारण आपूर्ति बाधित है और किसानों को अपने उत्पाद लागोस तक पहुंचाने में दिक्कतें आ रही हैं.’

उन्होंने कहा कि जो लोग सक्षम हैं वे सुरक्षा एजेंटों को रिश्वत दे रहे हैं और इससे कीमतें बढ़ रही हैं.

अफ्रीका के सबसे घनी आबादी वाले देश में अधिकारी कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए संघर्षरत हैं, जिसके कारण शनिवार तक 305 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है और सात लोगों की मौत हो चुकी है.

दो करोड़ की आबादी वाला शहर लागोस आर्थिक केंद्र है और यहां दूसरे हफ्ते भी लॉकडाउन जारी है. राजधानी आबुजा भी बंद है और देश के अन्य राज्यों ने भी बंद की घोषणा कर रखी है.

अधिकारियों का कहना है कि बीमारी को फैलने से रोकने के लिए ये उपाय जरूरी हैं, क्योंकि स्वास्थ्य व्यवस्था कमजोर होने के कारण देश में वायरस का खतरा अधिक है.

वहीं किसानों, विक्रेताओं और उपभोक्ताओं की शिकायत है कि वायरस के खिलाफ लड़ाई ने नाईजीरिया को प्रतिबंधों और नियमनों की तरफ धकेल दिया है जिससे व्यवसाय प्रभावित हुआ है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)