भारत

कोरोनाः ओडिशा, पंजाब के बाद चार और राज्यों में लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ा

देश में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने के मुद्दे पर शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी ने विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा की. इसके बाद महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल ने अपने-अपने राज्यों में लॉकडाउन को बढ़ा दिया.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्लीः कोरोना वायरस के मद्देनजर देश में लगे लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाने के मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा की.

ऐसे संकेत हैं कि 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन की अवधि बढ़ सकती है.

मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्रियों से कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए उठाए गए कदमों के प्रभावों को जानने के लिए आगामी तीन से चार सप्ताह बहुत ही महत्वपूर्ण हैं.

इस दौरान कई मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने की सिफारिश की.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव, पुड्डुचेरी के मुख्यमंत्री नारायणसामी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वे अगले दो सप्ताह तक के लिए लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने के पक्ष में हैं.

ओडिशा

ओडिशा देश का पहला राज्य है, जिसने 14 अप्रैल को समाप्त हो रही लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाने का फैसला किया.

राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने नौ अप्रैल को ऐलान किया कि ओडिशा में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी रहेगा.

मुख्यमंत्री ने जारी बयान में कहा, ‘राज्य की कैबिनेट बैठक में हमने फैसला लिया है कि हमारे लिए हमारे लोगों के जीवन की रक्षा करना शीर्ष प्राथमिकता है. हमने लॉकडाउन की अवधि को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का फैसला किया है. हमने भारत सरकार से भी इस समान अवधि तक लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाने की सिफारिश करते हैं. हम केंद्र सरकार से 30 अप्रैल तक विमान और रेल सेवाएं बहाल नहीं करने का भी आग्रह करते हैं.’

पंजाब

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बीते शुक्रवार को कैबिनेट मंत्रियों के साथ बैठक में राज्य में लॉकडाउन की अवधि को एक मई तक बढ़ाने का फैसला किया. ऐसा करने वाला पंजाब देश का दूसरा राज्य बना.

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य में लॉकडाउन की अवधि को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का ऐलान किया. ऐसा करने वाला महाराष्ट्र देश का तीसरा राज्य बन गया है.

मुख्यमंत्री ने यह फैसला शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक के बाद लिया.

बता दें कि महाराष्ट्र में अभी तक कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं. राज्य में 110 लोगों की मौत हो गई है जबकि संक्रमित मामले 1,574 हैं.

इस लॉकडाउन में कुछ स्थानों पर प्रतिबंधों में ढील दी जाएघी लेकिन कुछ स्थानों पर ये प्रतिबंध अधिक सख्त हो जाएंगे.

कर्नाटक

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने भी राज्य में लॉकडाउन की अवधि को 30 अप्रैल तक बढ़ाने की घोषणा की है.

प्रधानमंत्री मोदी के साथ चर्चा के बाद उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि किसी भी कारण से फिलाहल लॉकडाउन में कोई राहत नहीं मिल सकती. लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर सुझाव मांगे गए हैं. कुछ दिनों में अगले पंद्रह दिनों के दौरान लॉकडाउन की क्रियान्वयन को लेकर दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे.’

उन्होंने कहा कि कृषि और आर्थिक गतिविधियों में कुछ छूट दी जाएगी.

आंशिक क्षमता के साथ सरकारी कार्यालयों में कामकाज को मंजूरी दी जाएगी. केंद्र सरकार अगले दो दिनों में इस संबंध में दिशानिर्देश जारी कर सकती है.

तेलंगाना

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने भी राज्य में लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दिया है.

राव ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखे पत्र में कहा, ‘लॉकडाउन की वजह से अर्थव्यवस्था की रफ्तार थम गई है. मेरा विचार है कि लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दिया जाना चाहिए. आर्थिक गतिविधियों को दुरुस्त किया जा सकता है लेकिन लोगों की जिंदगियां वापस नहीं आ सकती.’

राज्य में कक्षा एक से नौंवी तक के छात्रों को प्रमोट कर अगली कक्षाओं में भेजा जाएगा. एचएससी परीक्षाओं को लेकर अगले सप्ताह फैसला लिया जाएगा.

पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल सरकार ने भी राज्य में लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दिया है.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने संवाददाताओं को बताया, ‘पश्चिम बंगाल में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन को बढ़ाया जाएगा. हम अप्रैल के अंत में एक बार फिर स्थिति की समीक्षा करेंगे.’

राज्य में 10 जून तक सभी स्कूलों और कॉलेजों को बंद कर दिया गया है.

बता दें कि देश में कोरोना वायरस से अब तक 273 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि संक्रमित लोगों की संख्या 8,356 हो गई है.