दुनिया

कोरोना वायरस: दुनिया में सबसे ज़्यादा मौतें अमेरिका में; संख्या 20,000 के पार, भारत में 273 की मौत

विश्व में इस महामारी से मरने वालों की संख्या रविवार को 108,867 हो गई. पूरे विश्व में अमेरिका में अब तक सबसे ज़्यादा लोग दम तोड़ चुके हैं. इससे पहले सबसे अधिक लोगों की मौत इटली में हुई थीं. अमेरिका में रविवार तक 20,597 लोग जान गंवा चुके हैं.

FILE PHOTO: A mannequin displays disposable face masks at a safety equipment store in the Brooklyn borough of New York City, U.S., March 26, 2020. REUTERS/Stephen Yang/File Photo

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली/वॉशिंगटन/पेरिस: देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मृतकों की संख्या रविवार को 273 हो गई और कोरोना वायरस यानी कोविड-19 मरीजों की संख्या 8,356 पर पहुंच गई.

दूसरी ओर, पूरे विश्व में इस महामारी से मरने वालों की संख्या रविवार को 108,867 हो गई. पूरे विश्व में अमेरिका में अब तक सबसे ज़्यादा लोग दम तोड़ चुके हैं. इससे पहले सबसे अधिक लोगों की मौत इटली में हुई थीं. अमेरिका में रविवार तक 20,597 लोग जान गंवा चुके हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, भारत में अब भी 7,367 लोग संक्रमण की चपेट में हैं, जबकि 715 लोग ठीक हुए और एक व्यक्ति विदेश चला गया है.

मंत्रालय ने बताया कि शनिवार शाम से करीब 34 और लोगों की मौत हुई.

अब तक सबसे ज्यादा 127 मौत महाराष्ट्र में हुई है. इसके बाद मध्य प्रदेश में 36, गुजरात में 22 और दिल्ली में 19 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

पंजाब में 11 लोगों की मौत हुई है जबकि तमिलनाडु में 10 और तेलंगाना में नौ मौत हुई है.

आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में छह लोगों ने जबकि पश्चिम बंगाल में पांच लोगों ने बीमारी के चलते दम तोड़ दिया.

जम्मू कश्मीर में चार और उत्तर प्रदेश में पांच मौत हुई है. हरियाणा और राजस्थान में तीन-तीन लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, केरल में दो लोगों की मौत हुई है. बिहार, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, झारखंड और असम में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है.

शनिवार शाम तक मृतकों का आंकड़ा 242 था.

अमेरिका में अब तक मौत का आंकड़ा 20,000 के पार

अमेरिका में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 20,000 को पार कर गई है. दुनिया भर में इस भयंकर महामारी के कारण होने वाली मौतों के मामले में अमेरिका इटली से आगे निकल गया है. जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय के आंकड़ों के अनुसार यह जानकारी सामने आई है.

FDNY Emergency Medical Technicians secure a patient that was identified to have coronavirus into an ambulance in New York City, March 24. REUTERS/Stefan Jeremiah

(फोटो: रॉयटर्स)

चीन के वुहान शहर में पिछले साल दिसंबर में इस वायरस के पनपने के बाद से अब तक दुनिया के 193 देशों और क्षेत्रों में एक लाख से अधिक लोगों की मौत के साथ ही संक्रमण के 1,778,562 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं.

अब दनिया में कोविड-19 के कारण सर्वाधिक मौतें अमेरिका में हुई हैं, जहां 20,597 लोगों की जान जा चुकी है. इस मामले में अमेरिका ने शनिवार को इटली को पीछे छोड़ दिया. इटली में 19,468 लोग इस बीमारी से अपनी जान गंवा चुके हैं.

आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिका में 5.3 लाख से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं, जो अगले चार देशों- स्पेन (1,63,027), इटली (1,52,271), जर्मनी (1,25,452) और फ्रांस (93,790) के मरीजों की कुल संख्या के लगभग बराबर है.

मौतों के मामले में अमेरिका और इटली के बाद स्पेन (16,606 मौत), फ्रांस (13,832 मौत) और ब्रिटेन (9,875 मौत) का नम्बर आता हैं.

अमेरिका की आर्थिक राजधानी न्यूयॉर्क शहर दुनिया में कोरोना वायरस का सबसे बड़ा केंद्र बनकर उभरा है, जहां शनिवार रात तक 8,627 लोगों की मौत हो चुकी थी और 1,80,000 से अधिक लोग संक्रमित हैं.

यहां में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 783 लोगों की मौत हो गई. करीब 83 लाख की आबादी वाला यह शहर अमेरिका की सबसे घनी आबादी वाले शहरों में से एक है.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की है और सभी 50 राज्यों में आपदा की घोषणा का दी गई है. देश की 33 करोड़ आबादी में से 95 प्रतिशत से अधिक को घर में रहने का निर्देश दिया गया है.

ट्रंप ने कोविड-19 से निपटने के लिये सशस्त्र बलों के 50,000 से अधिक कर्मचारियों को तैनात किया है.

सामाजिक मेलजोल कम करने जैसे कई उपायों को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है. शुरुआत में कोरोना वायरस पर व्हाइट हाउस टास्क फोर्स के सदस्यों ने कोविड-19 से एक से दो लाख लोगों की मौत की आशंका जताई थी, लेकिन अब उनका कहना है कि इन उपायों के सफल कार्यान्वयन के कारण मरने वालों की संख्या में कमी आ सकती है, अब इससे 60,000 लोगों की मौत की आशंका है.

ट्रंप ने शनिवार रात फॉक्स न्यूज से कहा, ‘हमारे देश के लोग बहुत कुछ कर चुके हैं. हमने इसे सही तरीके से लागू किया है.’

इस बीच, ट्रंप ने कहा कि न्यूयॉर्क जैसे स्थानों में स्थिति में सुधार हो रहा है, जहां नए रोगियों की संख्या में कमी आई है.

उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि हालात जल्द से जल्द ठीक हो जाए और सब कुछ फिर से शुरू हो जाए.

विश्वभर में कोरोना वायरस के कारण 1,08,862 लोगों की जान जा चुकी है और 17.7 लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं.

यूरोप में 71 हज़ार से अधिक लोगों की मौत

कोरोना वायरस महामारी के चलते दुनियाभर में मरने वाले लोगों की संख्या एक लाख के आंकड़े को पार कर गई है. इनमें से 71 हज़ार से अधिक लोग सिर्फ यूरोप के हैं.

Paramedics wearing personal protective equipment take a patient to the ambulance amid the coronavirus disease (COVID-19) outbreak in Boston, Massachusetts, U.S., April 3, 2020. REUTERS/Brian Snyder

(फोटो: रॉयटर्स)

यूरोप में अब तक 8,71,047 मामले सामने आए हैं और 71,335 लोगों की मौत हुई है. वहीं, एशिया में अब तक 1,33,597 मामले सामने आए हैं और 4,718 लोगों की मौत हुई है.

पश्चिम एशिया में 95,005 मामले सामने आए हैं और मृतकों की संख्या 4,632 है.

लातिन अमेरिका और कैरीबियाई देशों में 56,888 मामले सामने आए हैं और 2,344 लोगों की मौत हुई है. अफ्रीका में 12,884 मामले दर्ज किए गए हैं और 692 लोगों की मृत्यु हुई है.

वहीं, ओसियान में कोरोना वायरस संक्रमण के 7,687 मामले सामने आए हैं और 64 लोगों की मौत हुई है.

फ्रांस में मौत के दैनिक आंकड़े में गिरावट, ब्रिटेन में 917 और लोगों की मौत

पेरिस/लंदन: फ्रांस में रोजाना जारी होने वाली मृतकों की संख्या में बीते शनिवार को कमी आई. फ्रांस के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी जेरोम सेलोमोन ने कहा कि 643 लोगों की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या 13,832 हो गई है.

इससे एक दिन पहले 987 लोगों की मौत हुई थी.

ब्रिटेन में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 917 और लोगों की मौत के साथ ही देश में इस बीमारी से मरने वालों की कुल संख्या 9875 हो गई है.
इसके साथ ही ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल ने शनिवार को लोगों को सामाजिक मेलजोल से दूरी रखने के नियम का कड़ाई से पालन करने के प्रति चेताया.

भारतीय मूल की वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री ने पटेल ने कहा, ‘कोरोना के मद्देनजर हमने जो भी कदम उठाए हैं उन्हें सख्ती से लागू करने की शक्ति हमने पुलिस को दी है जिसमें जुर्माना लगाना भी शामिल है.’

उन्होंने कहा, यदि आप अपनी भूमिका नहीं निभाते हैं तो हमारी निस्वार्थ पुलिस निडर होकर कार्रवाई करेगी और आप अपने ही परिवार, दोस्तों और प्रियजनों के जीवन को खतरे में डालेंगे.

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 के मरीजों की संख्या में 5234 की बढ़ोतरी के साथ ही वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 79,885 हो गई है.

ईरान ने संक्षिप्त लॉकडाउन के बाद पाबंदियां हटाने की शुरुआत की

तेहरान: कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए संक्षिप्त अवधि के लिए लॉकडाउन रखने के बाद ईरान ने शनिवार को सरकारी कार्यालयों को दोबारा खोलने की शुरुआत कर दी.

उल्लेखनीय है कि पश्चिम एशिया में ईरान कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित है और यहां संक्रमण से मरने वालों की संख्या 4,300 से अधिक है.

Iranian women wear masks to prevent contracting the coronavirus at the Grand Bazaar in Tehran as infections spread throughout the Middle East [File: Nazanin Tabatabaee/WANA via Reuters]

(फोटो: रॉयटर्स)

प्रशासन ने चार अप्रैल को पारसी नववर्ष नवरोज की छुट्टियां खत्म होने के बाद सरकारी एजेंसियों और सभी गैर जरूरी कारोबार को एक हफ्ते और बंद रखने का आदेश दिया था.

सरकारी मीडिया ने बताया कि राजधानी तेहरान से बाहर स्थित सरकारी कार्यालयों को शनिवार दो तिहाई कर्मचारियों के साथ खोल दिया गया जबकि एक तिहाई कर्मचारियों को घर से काम करने को कहा गया है.

इसके साथ जिन महिलाओं के छोटे बच्चे हैं, उन्हें घर से काम करने में प्राथमिकता दी गई है. तेहरान से बाहर स्थित कारोबार को भी शनिवार को खोलने की अनुमति दे दी गई.

सरकारी मीडिया ने बताया कि तेहरान में कारोबार को अगले शनिवार से खोलने की अनुमति दी जाएगी लेकिन उन्हें प्रशासन के समक्ष पंजीकरण कराना होगा और स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तैयार सामाजिक मेल मिलाप से दूरी के दिशानिर्देश का अनुपालन करना होगा.

तेहरान में सरकारी कार्यालय भी दो तिहाई कर्मचारियों के साथ खुलेंगे और शेष घर से काम करेंगे.

इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से और 125 लोगों की मौत के साथ कुल मृतकों की संख्या 4,357 हो गई है. ईरान में 70 हजार से अधिक लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं जिनमें 40 हजार से अधिक ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं.

मंत्रालय ने बताया कि अधिकतर मरीजों में संक्रमण के हल्के लक्षण देखने को मिले और वे कुछ हफ्तों में ही ठीक हो गए लेकिन बुजुर्गों और गंभीर बीमारियों के शिकार लोगों को गंभीर समस्या हो सकती है और यहां तक कि उनकी मौत हो सकती है.

उल्लेखनीय है कि ईरान ने संक्रमण फैलने और कई मौतें होने के बावजूद लॉकडाउन करने से इनकार कर दिया था, जबकि ईरान के कई वरिष्ठ अधिकारियों की भी संक्रमण से मौत हुई है.

ईरान ने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि आर्थिक नुकसान के मद्देनजर उसने यह फैसला किया, क्योंकि परमाणु कार्यक्रम के चलते लगे अमेरिकी प्रतिबंध की वजह से अर्थव्यवस्था पहले ही बुरे दौर से गुजर रही है.

अमेरिका ने कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते मानवीय आधार पर मदद की पेशकश की थी लेकिन ईरान ने अमेरिकी प्रस्ताव को अस्वीकार करते हुए प्रतिबंध हटाने की मांग की.

चीन में एक दिन में करीब 100 नए मामले, पिछले कुछ हफ्तों में सर्वाधिक

बीजिंग: चीन में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 99 नए मामले सामने आए, जो हाल के कुछ हफ्तों की तुलना में एक दिन में सामने आए मामलों के लिहाज से सबसे ज्यादा है.

स्वास्थ्य अधिकारियों ने शनिवार को यहां बताया कि 63 ऐसे मामले भी सामने आए जिनमें लक्षण नहीं थे, जिसके बाद देश में कोविड-19 मरीजों की कुल संख्या 82,052 हो गई है. इसी के साथ देश में वैश्विक महामारी के फिर से भयावह होकर लौटने की चिंताएं बढ़ गई हैं.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) के मुताबिक, शनिवार तक देश में 1,280 मामले ऐसे थे जो विदेशों से संक्रमित होकर आए हैं. इनमें से 481 को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और 799 का अब भी इलाज चल रहा है, जिसमें से 36 की स्थिति गंभीर बनी हुई है.

आयोग ने बताया कि शनिवार को चीनी भूभाग से सामने आए 99 मामलों में से 97 वे हैं जो हाल में विदेश से लौटे हैं.

एनएचसी ने कहा कि विदेशों से संक्रमण लेकर आए 332 लोगों समेत ऐसे 1,086 मामले अब भी चिकित्सीय निगरानी में हैं. वायरस के केंद्र हुबेई प्रांत और उसकी राजधानी वुहान में इसके प्रसार पर नियंत्रण पा लेने के बाद कोविड-19 मामलों का फिर बढ़ना चिंता का विषय बन गया है खासकर जब चीन ने पूरे देश में सामान्य गतिविधियों को बहाल करने की अनुमति दे दी है.

A security officer in a protective mask checks the temperature of a passenger at an expressway toll station in Xianning, Hubei province, China, January 24, 2020. (Photo: Reuters)

(फोटो: रॉयटर्स)

शनिवार तक देश में कुल 82,052 लोग संक्रमित थे. इनमें इलाज करा रहे 1,138 लोग, ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी पाने वाले 77,575 लोग और बीमारी से मरने वाले 3,339 लोग शामिल हैं.

पाकिस्तान में संक्रमण के मामले पांच हजार के पार, लॉकडाउन पर सोमवार को निर्णय

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 5,038 हो गए हैं और मरने वालों की संख्या 86 हो गई है. देश में लॉकडाउन को जारी रखने या पाबंदियों में ढील देने पर सोमवार को निर्णय किया जाएगा.

योजना एवं विकास मंत्री असद उमर ने इस्लामाबाद में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान कोविड-19 पर राष्ट्रीय समन्वय समिति की बैठक के बाद इस पर निर्णय करेंगे.

उन्होंने कहा कि राष्ट्रव्यापी बंद के कारण देश को करीब 1400 से 1500 अरब रुपये का नुकसान होगा. स्वास्थ्य पर प्रधानमंत्री के सलाहकार डॉ. जफर मिर्जा ने कहा कि पाकिस्तान में पूर्वानुमान से कम संख्या है लेकिन लोगों को इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए और पाबंदियों का पालन करना चाहिए.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय ने अपनी बेवसाइट पर जानकारी दी कि बुरी तरह प्रभावित पंजाब में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 2414, सिंध में 1,318, खैबर-पख्तूनख्वा में 656, बलूचिस्तान में 220, गिलगित-बाल्टिस्तान में 215, इस्लामाबाद में 113 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 34 हो गए हैं.

विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने शनिवार को अधिकारियों के साथ एक बैठक कर अन्य देशों में फंसे अपने 40,000 नागरिकों को वापस लाने के तरीकों पर विचार विमर्श किया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)