भारत

बिहार: लॉकडाउन के दौरान हुए शादी के समारोह में पहुंचे ढेरों लोग, मामला दर्ज

घटना बिहार के मधुबनी ज़िले के अरेर की है. सोशल मीडिया पर वैवाहिक समारोह का वीडियो वायरल होने के बाद गांव की पंचायत समिति के एक सदस्य की शिकायत पर गांव के मुखिया सहित अन्य लोगों के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज की गई है.

Madhubani Bihar map

पटनाः कोरोना वायरस के मद्देनजर देशव्यापी लॉकडाउन के बीच सोशल डिस्टैन्सिंग के नियमों को ताक पर धरते हुए बिहार के मधुबनी जिले के अरेर थाना क्षेत्र में हुए एक वैवाहिक समारोह में बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हुए.

द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी), आपदा प्रबंधन अधिनियम और महामारी अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत गांव के मुखिया और अन्य लोगों के खिलाफ स्थानीय पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है.

इस समारोह का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. इस वीडियो में में देखा जा सकता है कि शादी में बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हुए हैं और सेहरा पहने दूल्हा भी दिखाई दे रहा है.

बताया गया है कि इस समारोह गांव के मुखिया अजीत पासवान और अन्य भी मौजूद थे.

ऐसा कहा जा रहा था कि यह विवाह जबरन करवाया जा रहा था, जिसे बिहार में पकडुआ विवाह कहा जाता है लेकिन बाद में यह खबर गलत पाई गई.

गांव के मुखिया अजीत पासवान ने एक स्थानीय पत्रकार को बताया कि यह शादी 27 मार्च को हुई थी और अन्य ग्रामीणों की रजामंदी के बाद ही शादी के आयोजन का फैसला किया गया था. अजीत ने जबरन शादी की के दावे से भी इनकार किया है.

गांव की पंचायत समिति के एक सदस्य पलटन पासवान ने गांव के मुखिया औऱ अन्य लोगों के खिलाफ अरेर पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कराई.

एफआईआर में कहा गया है कि शादी आठ अप्रैल 2020 को हुई थी.

अरेर पुलिस थाने के प्रभारी राजकिशोर कुमार ने कहा, ‘पलटन पासवान की शिकायत और हमारे एक जांच अधिकारी की जांच के आधार पर एफआईआर दर्ज की गई है.’

मधुबनी के जिलाधिकारी निलेश दियोर ने ट्वीट कर लोगों से घरो में रहने के अपील करते हुए यह बताया है कि इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है.