भारत

कोरोना वायरस: मुस्लिम सब्ज़ी वाले से आधार कार्ड मांगा गया, हिंदुओं के ठेले पर भगवा झंडा लगाया

कोरोना वायरस संकट के बीच मुसलमानों के ख़िलाफ़ सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही नफ़रत की वजह से उनके साथ भेदभाव के कई मामले सामने आए हैं.

Ghaziabad: A vendor sells vegetables at the sealed KDP society, identified as a COVID-19 hotspot, during the nationwide lockdown to curb the spread of coronavirus, in Ghaziabad, Friday, April 10, 2020. (PTI Photo/Arun Sharma)(PTI10-04-2020_000158B)

(प्रतीकात्मक तस्वीर: पीटीआई)

नई दिल्ली: कोरोना वायरस को लेकर तब्लीगी जमात का मामला सामने आने बाद से सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाह और नफरत का असर देश के विभिन्न हिस्सों में देखने को मिल रहा है.

कहीं मुसलमान होने की वजह से सब्जी वाले को गली में घुसने नहीं दिया जा रहा, कहीं उनसे आधार कार्ड मांगा जा रहा, कहीं जबरदस्ती लोगों ने मुस्लिमों की दुकानें बंद करा दीं तो कहीं हिंदू फेरी वालों के ठेले पर भगवा झंडा लगा दिया जा रहा है, ताकि उसकी पहचान की जा सके.

कोरोना महामारी संकट के बीच मुसलमानों के खिलाफ सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही नफरत की वजह से ऐसी ही अनेकों खबरें आ रही हैं और इससे जुड़े वीडियो वायरल हो रहे हैं.

बीते सोमवार को परेशान होकर उत्तर प्रदेश के महोबा के मुस्लिम सब्जी विक्रेताओं ने डीएम को ज्ञापन सौंपा और कार्रवाई की मांग की. ये वो लोग हैं जिन्हें लॉकडाउन में गांवों और शहरों में सब्जी बेचने की अनुमति दी गई है.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, दिल्ली की एक कॉलोनी के एक वायरल वीडियो में एक व्यक्ति सब्जी वाले से आधार कार्ड मांग रहा है. जब सब्जी वाला आधार कार्ड देने में असमर्थता जताता है तो वो व्यक्ति उसे कॉलोनी से बाहर निकाल देता है और कहता है अगली बार तब आना जब पास में आधार कार्ड हो.

उत्तर प्रदेश में लखनऊ के ऐसे ही एक अन्य वीडियो में एक मुस्लिम सब्जी वाले को मजबूरन अपना नाम बदलकर सब्जी बेचना पड़ रहा था, लेकिन वो पकड़ा गया. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे नफरत वाले वीडियो देखकर उसे लगा कि अगर वो अपना नाम जावेद बताएगा तो लोग सब्जी नहीं लेंगे.

इसके चलते जावेद को मजबूरी में अपना नाम संजय कर लिया, लेकिन पकड़े जाने पर आस-पास के लोगों ने उसे काफी खरी-खोटी सुनाई और उस पर सांप्रदायिक टिप्पणी की.

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि एक व्यक्ति जावेद को कह रहा है, ‘आप संजय कैसे हो गए? क्या चाहते हो आप, हिंदुओं को मिटाना? तुम लोग सैकड़ों की संख्या में रोज नमाज पढ़ रहे हो. मोदी जी मना कर रहे हैं की भीड़-भाड़ न करो लेकिन फिर भी तुम लोग नहीं मान रहे.’

हालांकि प्रशासन का ये दावा है कि जो भी फेक न्यूज फैला रहा है उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. बावजूद इसके मुसलमानों के खिलाफ सोशल मीडिया पर नफरत भरे मैसेज और वीडियो का जो सैलाब आया है वो थमने का नाम नहीं ले रहा.

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से कुछ ऐसे वीडियो सामने आए हैं जहां पर कुछ हिंदूवादी संगठनों के लोगों ने हिंदू सब्जी वालों के ठेले पर भगवा झंडा लगा दिया है. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि कोई हिंदू इनके अलावा यानी कि मुस्लिमों से सब्जी न खरीदे.

वीडियो में सब्जी विक्रेता कहते हैं कि ये भगवा झंडा हिंदू-मुस्लिम की वजह से लगाया गया है. उन्होंने कहा कि इससे हमारी सब्जियां ज्यादा बिकती हैं.

मालूम हो कि दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जो सब्जी वाले से उसका धर्म पूछकर उसकी पिटाई कर रहा था. आरोपी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया. आरोपी का नाम प्रवीण बब्बर है और ये बदपुर का रहने वाला है.