दुनिया

कोरोना वायरस: देश में मौत का आंकड़ा 400 के पार, अमेरिका में सर्वाधिक 26,708 लोगों की मौत

दुनिया में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 2,069,819 मामले हैं और 137,193 लोगों की मौत हुई है. ईरान में संसद की एक रिपोर्ट में आशंका जताई गई है कि आधिकारिक आंकड़ों की तुलना में देश में लगभग दोगुनी मौतें हुई हैं. चीन में बिना लक्षण वाले कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली/पेरिस/न्यूयॉर्क: देश में कोरोना वायरस यानी कोविड-19 के कारण मरने वाले लोगों की संख्या बृहस्पतिवार को 414 हो गई और मामलों की संख्या बढ़कर 12,380 तक पहुंच गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी.

मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 के 10,477 मरीजों का अभी भी इलाज चल रहा है, जबकि 1,488 लोग ठीक हो चुके हैं और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है और एक विदेशी नागरिक अपने देश चला गया है.

कुल मामलों में 76 विदेशी नागरिक शामिल हैं.

मंत्रालय ने अपने अद्यतन आंकड़ों में कहा है कि बुधवार शाम से 22 मौतें हुई हैं. इनमें से महाराष्ट्र में नौ, आंध्र प्रदेश में पांच, गुजरात में तीन, दिल्ली और तमिलनाडु में दो-दो और कर्नाटक में एक-एक मौत हुई है.

अब तक कुल 414 मौतों में से सबसे ज्यादा 187 मौतें महाराष्ट्र में हुई हैं, इसके बाद मध्य प्रदेश में 53, गुजरात में 33, दिल्ली में 32 और तेलंगाना में 18 मौतें हुई हैं.

तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में 14-14 लोगों के मारे जाने की सूचना है. पंजाब में 13 मौतें हुई हैं जबकि कर्नाटक में 12 मौतें हुई हैं और उत्तर प्रदेश में 11 मौतें हुई हैं. पश्चिम बंगाल में सात मौतें दर्ज की गई हैं.

जम्मू कश्मीर में चार लोगों की जान चली गई है, जबकि केरल, हरियाणा और राजस्थान में तीन-तीन मौतें हुई हैं. झारखंड में दो मौतें हुई हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, मेघालय, बिहार, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा और असम में एक-एक मौत हुई है.

मंत्रालय के सुबह के अपडेट के अनुसार, देश में सबसे अधिक मामलों की संख्या महाराष्ट्र में है, जहां 2,916 मामले हैं, इसके बाद दिल्ली में 1,578 और तमिलनाडु में 1,242 मामले हैं.

राजस्थान में कोविड-19 के मामले 1,023 हो गए हैं, जबकि मध्य प्रदेश में 987, गुजरात में 766 और उत्तर प्रदेश में 735 मामले हैं. तेलंगाना में 647 मामले, जबकि आंध्र प्रदेश में 525 और केरल में 388 मामले हैं.

जम्मू कश्मीर में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 300 हो गई है. कर्नाटक में 279, पश्चिम बंगाल में 231 और हरियाणा में 205 है. पंजाब में अब तक 186 संक्रमण के मामले सामने आए हैं.

बिहार में कोरोना वायरस के 70 मामले सामने आए हैं, जबकि ओडिशा में 60 मामले हैं. उत्तराखंड में 37 लोग वायरस से संक्रमित हैं, जबकि हिमाचल प्रदेश में 35 मामले हैं. असम और छत्तीसगढ़ में 33-33 मामले दर्ज किए गए हैं.

झारखंड में 28 मामले, चंडीगढ़ में 21 मामले और लद्दाख में 17 मामले दर्ज किए गए हैं.

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह से 11 मामले सामने आए हैं.

मेघालय, गोवा और पुदुचेरी से कोविड-19 के सात-सात मामले सामने आए हैं. मणिपुर और त्रिपुरा में दो-दो मामले हैं, जबकि मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश में एक-एक मामला दर्ज किया गया है.

मंत्रालय की वेबसाइट पर यह भी कहा गया कि नगालैंड के एक कोविड-19 मरीज को असम में स्थानांतरित कर दिया गया है.

यूरोप में कोरोना वायरस संक्रमण के 10 लाख से अधिक मामले सामने आए

यूरोप में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक 10 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं.

आधिकारिक सूत्रों के आधार पर समाचार एजेंसी एएफपी की गणना के मुताबिक यूरोप में बुधवार तक संक्रमण के 10,03,284 मामले सामने आए है, जिनमें से 84,465 लोगों की मौत हुई है. यूरोप कोरोना वायरस से सबसे प्रभावित महाद्वीप है.

(फोटोः रॉयटर्स)

(फोटोः रॉयटर्स)

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, बृहस्पतिवार तक दुनियाभर में कोविड-19 संक्रमण के 2,069,819 मामले हैं और 137,193 लोगों की मौत हुई है.

इटली में मामलों की संख्या 165,155 है, जबकि 21,645 लोग मारे गए हैं. इसी तरह फ्रांस में 1,34,582 मामले सामने आये हैं और 17,167 लोगों की मौत हुई है.

ये वे यूरोपीय देश हैं जहां संक्रमण के मामलों की संख्या एक लाख से अधिक है.

अमेरिका में 24 घंटे के भीतर करीब 2,600 लोगों की मौत

वॉशिंगटन: अमेरिका में कोरोना वायरस से 24 घंटे के भीतर बुधवार को करीब 2,600 लोगों की मौत हो गई जो किसी भी देश में इस संक्रामक रोग से मरने वाले लोगों की सर्वाधिक संख्या है.

अमेरिका के जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार, 24 घंटे में 2,569 लोगों की मौत हुई. इसके साथ ही अमेरिका में मरने वाले लोगों की कुल संख्या 26,708 पहुंच गई है, जो किसी भी देश के मुकाबले मृतकों की सबसे अधिक संख्या है.

कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित इस देश में अब तक इसके कुल 629,264 मामले सामने आ चुके हैं और 47,763 लोग इससे ठीक भी हो चुके हैं.

न्यूयॉर्क में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना जरूरी

न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो ने कहा है कि यहां के लोगों को अब सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनकर या चेहरा ढंककर ही निकलना होगा.

उन्होंने कहा कि न्यूयार्क कोरोना वायरस से बुरी तरह से प्रभावित है और ऐसी स्थितियों में जहां सामाजिक दूरी को बनाए नहीं रखा जा सकता है, जैसे कि सार्वजनिक परिवहन में, वहां अब मास्क पहना या चेहरा ढकने की आवश्यकता होगी.

अमेरिका में न्यूयार्क कोरोना वायरस का गढ़ बना हुआ है जहां बुधवार को इसके 11,571 और मामले सामने आए है जिससे यहां कुल मामलों की संख्या 2,13,779 हो गई है.

क्यूमो ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि वह एक कार्यकारी आदेश जारी करेंगे जिसके तहत न्यूयार्क के सभी लोगों को सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना जरूरी होगा और यह आदेश 17 अप्रैल से प्रभावी हो जाएगा.

उन्होंने बताया कि न्यूयार्क में अस्पतालों में लोगों को भर्ती कराए जाने और आईसीयू में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में कमी आ रही है जोकि एक ‘अच्छी खबर’ है.

न्यूयार्क में 14 अप्रैल को 752 लोगों की मौत हुई, 707 लोगों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया.

अमेरिका: मिशिगन में सामाजिक दूरी बनाने के आदेश के खिलाफ प्रदर्शन

मिशिगन: कोरोना वायरस प्रकोप के मद्देनजर अमेरिका के मिशिगन में लोगों को घर में रहने और व्यवसायों को बंद रखने के गवर्नर ग्रेचेन व्हिमर के आदेश को लेकर अपनी नाराजगी जताने के लिए बड़ी संख्या में लोगों ने बुधवार को यहां विरोध प्रदर्शन किया.

सैकड़ों प्रदर्शनकारी पोस्टर लहरा रहे थे. जिनमें से एक पर लिखा था, ‘गवर्नर व्हिमर हम कैदी नहीं हैं.’ एक अन्य पोस्टर पर लिखा था, ‘मिशिगन के लोग ग्रेचेन के खराब रवैये के खिलाफ हैं.’

प्रदर्शन के कुछ घंटे बाद व्हिमर ने पत्रकारों से कहा कि रैली ने लोगों के स्वास्थ्य को खतरे में डाल दिया है.

‘ऑपरेशन ग्रिडलॉक’ विरोध प्रदर्शन मिशिगन कंजर्वेटिव कोलिशन ने आयोजित किया था.

संगठन के सदस्य मेशॉ मैडॉक ने कहा, ‘व्यवसायों को बंद करने, इन सभी कर्मचारियों को व्यवसाय से बाहर करने का यह मनमाना फैसला सिर्फ एक आपदा है. यह मिशिगन के लिए एक आर्थिक आपदा है. लोग इससे थक चुके हैं.’

A woman puts cloth face masks on a string to dry before distributing it for free around the neighbourhood, amid the spread of coronavirus disease (COVID-19) outbreak, in Tangerang, on the outskirts of Jakarta, Indonesia, April 9, 2020. (REUTERS/Willy Kurniawan)

(फोटो: रॉयटर्स)

डेमोक्रेट नेता व्हिमर ने 30 अप्रैल तक लोगों को घर में रहने और स्कूलों और गैर-जरूरी व्यवसायों को बंद करने का आदेश दिया है.

कोरोना वायरस से मिशिगन में 1,900 से अधिक लोगों की जान चुकी है.

स्पेन में रोजाना होने वाले मौत के मामलों में कमी

मैड्रिड: स्पेन में कोरोना वायरस से मृत्यु के दैनिक मामलों में कमी के साथ बुधवार को यह संख्या मात्र 523 दर्ज की गई.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में इस आंकड़े के साथ ही महामारी से मरने वालों की कुल संख्या अब 18,812 हो गई है.

महामारी से सर्वाधिक प्रभावित देशों में से एक स्पेन में संक्रमण के मामलों में लगातार छह दिन तक गिरावट के बाद संक्रमित लोगों की संख्या में पांच हजार से अधिक की वृद्धि हुई है.

देश में अब इस घातक विषाणु के संक्रमण के मामलों की कुल संख्या बृहस्पतिवार को 180,659 हो गई है.

ब्रिटेन में पिछले 24 घंटे में 761 लोगों की मौत, आंकड़ा 12,868 पहुंचा

लंदन: ब्रिटेन में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण से 761 लोगों की मौत हो गई. इसके साथ ही देश में इससे मरने वालों का आंकड़ा 12,868 पर पहुंच गया.

बृहस्पतिवार तक इस देश में कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या 99,489 हो गई है.

ईरान में आधिकारिक आंकड़ों की तुलना में हुई लगभग दोगुनी मौत: संसद की रिपोर्ट

तेहरान: ईरान की संसद की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में कोरोना वायरस से मौतों का जो आधिकारिक आंकड़ा है, उसकी तुलना में संभवत: दोगुनी मौत हुई हैं.

देश के स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार को जारी इस रिपोर्ट पर कोई टिप्पणी नहीं की है जिसमें सर्वोच्च स्तर से इस्लामिक गणराज्य सरकार के आंकड़ों पर सवाल उठे हैं.

अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ भी काफी समय से ऐसी ही आशंका जता रहे थे. ईरान ने बुधवार को कोरोना वायरस से मरने वालों की आधिकारिक संख्या 4,777 और संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 76,389 बताई.

संसद की रिपोर्ट ऐसे समय आई है जब ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी देश की आर्थिक गतिविधियों को धीरे-धीरे पुन: शुरू करने पर जोर दे रहे हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन को सौंपे गए इसके आंकड़े यदि गलत हैं तो इससे यह डर पैदा हो सकता है कि लोगों के काम पर लौटने से संक्रमण का दौर एक बार फिर जोर पकड़ सकता है.

संसद की रिपोर्ट में कहा गया है कि स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में सिर्फ उन्हीं लोगों के आंकड़े दर्ज किए गए हैं जिनकी मौत अस्पतालों में हुई और जो जांच में संक्रमित पाए गए. इनमें उन लोगों को छोड़ दिया गया जिनकी मौत अपने घरों में हुई और जिनकी जांच नहीं हुई.

रिपोर्ट में कहा गया है कि ईरान में मौतों का असल आंकड़ा दर्ज मौतों से 80 प्रतिशत अधिक या दोगुना हो सकता है. इसमें कहा गया है कि संक्रमित लोगों की संख्या दर्ज आंकड़ों के मुकाबले आठ से 10 गुना अधिक हो सकती है.

जर्मनी में तीन मई तक बढ़ सकती है लॉकडाउन की अवधि

बर्लिन: कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के उद्देश्य से जर्मनी में लॉकडाउन की अवधि तीन मई तक बढ़ाई जा सकती है. चांसलर एंजेला मर्केल के साथ हुई एक महत्वपूर्ण बैठक से पहले सरकारी सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी.

Two women wearing masks speak to each other at Kuala Lumpur International Airport in Sepang, Malaysia, January 27, 2020. REUTERS/Lim Huey Teng TPX IMAGES OF THE DAY

(फोटो: रॉयटर्स)

सूत्रों के अनुसार जर्मनी के 16 राज्यों और प्रतिनिधियों ने प्रतिबंध बढ़ाए जाने को लेकर लिखित में सहमति जताई है. लॉकडाउन की अवधि 19 अप्रैल से आगे बढ़ाकर तीन मई तक की जा सकती है. इस दौरान स्कूल भी बंद रहेंगे.

जर्मनी में कोरोना वायरस के अब तक 134,753 मामले सामने आए हैं. इनमें से 3,804 लोगों की मौत हो चुकी है.

चीन में बिना लक्षण वाले कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी

बीजिंग: चीन में कोरोना वायरस के 46 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें 34 विदेशों से आए हुए लोग शामिल हैं. सीमा पार से आने वाले चीनी नागरिकों के कारण अचानक तेज हुए संक्रमण के मामले को रोकने के लिए प्रशासन ने रूस से सटी देश की उत्तर-पूर्वी सीमा पर चिकित्सा सुविधाओं को मजबूत किया है.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने गुरुवार को अपनी दैनिक रिपोर्ट में कहा कि स्थानीय संक्रमण के 12 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें ग्वांगदोंग प्रांत में पांच, हेइलोंगजियांग प्रांत में चार और बीजिंग में तीन मामले सामने आये हैं, जबकि कोरोना वायरस का सबसे बड़ा केंद्र रहे वुहान में कोई नया मामला दर्ज नहीं किया गया.

रिपोर्ट में कहा गया कि बुधवार को देश में कोविड-19 के 46 नए पुष्ट मामले सामने आए, जिनमें से 34 लोग विदेशों से आए हुए हैं. इसे मिलाकर देश में बाहर से आए संक्रमितों की कुल संख्या 1,534 हो गई है, जिनमें से 898 लोगों का अभी इलाज चल रहा है.

इसके अलावा बिना लक्षण वाले मामलों की बढ़ती संख्या चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए एक प्रमुख चिंता का विषय बन गई है, क्योंकि बुधवार को 64 लोग बिना किसी लक्षण के संक्रमित पाए गए, जिनमें से 61 स्थानीय लोग हैं.

ये ऐसे लोग हैं, जिनमें वायरस के बुखार, खांसी, गले में दर्द जैसे कोई लक्षण नहीं थे, लेकिन फिर भी ये जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए. ये लोग संक्रमित हैं और इनसे दूसरों लोग भी संक्रमित हो सकते हैं.

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, एनएचसी के प्रवक्ता एमआई फेंग के अनुसार, चीन में मंगलवार को बिना लक्षण के कोरोना वायरस संक्रमण के 6,764 मामले दर्ज किए गए, जिनमें से 588 विदेशों से लौटे हुए नागरिक हैं.

वुहान ने बिना लक्षण वाले मामलों की घटनाओं का पता लगाने के लिए स्थानीय निवासियों पर एक सर्वेक्षण शुरू किया है.

एनएचसी ने कहा कि बुधवार तक चीन में पुष्टि किए गए कोविड-19 के कुल मामले 82,341 तक पहुंच गए. अब तक कुल 3,342 लोगों की इस बीमारी से मृत्यु हो चुकी है. 1,107 रोगियों का अभी भी इलाज चल रहा है, जबकि 77,892 लोगों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है.

दक्षिण कोरिया में संक्रमितों की संख्या 10,613 पहुंची, मतदान में सत्तारूढ़ दल की जीत

सियोल: दक्षिण कोरिया में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 22 और मामलों की पुष्टि हुई है, जिससे देश में संक्रमितों की संख्या 10,613 पहुंच गई है, जबकि 229 लोगों की मौत हो चुकी है.

गुरुवार को दर्ज किए गए नए मामलों के साथ दक्षिण कोरिया में वायरस के संक्रमण में दैनिक वृद्धि लगातार चौथे दिन 30 से नीचे रही है.

कोरिया सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने एक बयान में कहा है कि 7,757 लोग ठीक हो चुके हैं और उन्हें पृथकवास से मुक्त कर दिया गया है.

बयान में कहा गया कि 14,268 लोगों की जांच यह पता लगाने के लिये की जा रही है कि क्या वे इस संक्रमण के संपर्क में तो नहीं आए हैं.

इस बीच दक्षिण कोरिया में सत्तारूढ़ पार्टी ने संसदीय चुनाव में बड़ी जीत हासिल की है. देश में कोरोना वायरस के संकट के बीच हुए मतदान के बावजूद लोग अपने घरों से बाहर निकलकर आए थे और मतों के प्रतिशत ने पिछले तीन दशक का रिकॉर्ड तोड़ दिया था.

New Delhi: Central Reserve Police Force (CRPF) personnel manufacture personal protective equipments (PPE) during the nationwide lockdown to curb the spread of coronavirus, in New Delhi, Friday, April 10, 2020. (PTI Photo/Ravi Choudhary)(PTI10-04-2020_000098B)

(फोटो: पीटीआई)

निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि सत्तारूढ़ पार्टी और उसके चुनावी ब्लॉक के घटक दल ने मिलकर संसद की 300 सीटों में से 180 सीटें जीत ली हैं.

वहीं रूढ़िवादियों को सघन जनसंख्या वाले सियोल मेट्रोपोलिटन क्षेत्र में बेहद खराब हार का सामना करना पड़ा है.

इस जीत से राष्ट्रपति मून जेई-इन के अपने मुख्य घरेलू और विदेशी उद्देश्यों को पूरा करने का मौका फिर से मिल गया है. खास तौर पर इसमें परमाणु हथियार रखने वाले उत्तर कोरिया के साथ राजनयिक संबंधों को पुनर्जीवित करना शामिल है.

इसके साथ ही उनके सामने ऐतिहासिक स्वास्थ्य संकट भी है जो दक्षिण कोरिया के कारोबार को भी प्रभावित कर रहा है जिससे लोगों के रोजगार पर संकट के बादल छाए हुए हैं.

राष्ट्रीय चुनाव आयोग ने बताया कि बुधवार को मतदान 66.2 फीसदी दर्ज किया गया जो कि 1992 के 71.9 फीसदी मतदान से अब तक हुए मतदान का सबसे ज्यादा है.

पाकिस्तान में संक्रमण के मामले 6,400 के पार

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की संख्या 6,500 को पार कर गई.

इस बीच प्रधानमंत्री इमरान खान ने गैरजिम्मेदाराना रवैया अपनाने और बीमारी को रोकने के लिए सरकार के प्रयासों के बारे में न्यायालय को जानकारी देने में विफल रहने के लिए अपने स्वास्थ्य सलाहकार को फटकार लगाई है.

देश शीर्ष अदालत ने मंगलवार को महामारी से निपटने के सरकार के प्रयासों को लेकर नाराजगी व्यक्त की थी और देश में कोविड-19 के प्रकोप से निपटने में विफल रहने के लिए प्रधानमंत्री के विशेष स्वास्थ्य सहायक डॉ. जफर मिर्ज़ा को हटाने का निर्देश दिया था.

बुधवार को मंत्रिमंडल की बैठक में प्रधानमंत्री खान ने अदालत के समक्ष हालिया पेशी के दौरान गैर जिम्मेदाराना रवैये के लिए मिर्जा को फटकार लगाई.

हालांकि मिर्जा को हटाना इमरान खान सरकार के लिए एक बड़ा झटका होगा क्योंकि वह पाकिस्तान में कोविड-19 के खिलाफ अभियान का नेतृत्व कर रहे हैं और इसके प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में रोज मीडिया को बताते हैं.

मिर्जा को राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त है और उन्हें पिछले साल स्वास्थ्य मामलों पर प्रधानमंत्री का विशेष सहायक नियुक्त किया गया था.

देश में दवाओं की बढ़ती कीमतों को काबू करने में विफल रहने को लेकर स्वास्थ्य मंत्री अमीर कयानी को पद से हटाए जाने के बाद मिर्जा को प्रधानमंत्री के विशेष सहायक के रूप में नियुक्त किया गया था.

विभिन्न अधिकारियों और मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, पाकिस्तान में कोरोना वायरस के 6,505 मामले दर्ज किए हैं. अब तक 1,645 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 124 लोगों की मौत हो गई.

फिनलैंड ने राजधानी समेत दक्षिणी क्षेत्र से नाकेबंदी हटाई

हेल्सिंकी: फिनलैंड की सरकार ने देश के दक्षिणी हिस्से की नाकाबंदी खत्म कर दी है. इसी क्षेत्र में देश की राजधानी हेल्सिंकी भी है. यह कोविड-19 की वजह से लगाई गई पाबंदियों में ढील देने की दिशा में पहला कदम है.

 A nurse in protective gear takes a blood sample of a patient potentially infected with coronavirus disease (COVID-19) at the Turku University Hospital Tyks in Turku, Finland, April 3, 2020. Roni Lehti/Lehtikuva/via REUTERS

(फोटो: रॉयटर्स)

न्याय मंत्री अन्ना माजा हेनरिक्सन ने बीते बुधवार को बताया कि सरकार ने उसिम्मा क्षेत्र में नागरिकों की आवाजाही पर रोक जारी रखने का कोई कानूनी औचित्य नहीं पाया. इस क्षेत्र में आने-जाने पर 28 मार्च को पाबंदी लगाई थी.

उल्लेखनीय है कि उसिम्मा क्षेत्र में करीब 17 लाख लोग रहते हैं जो देश की कुल आबादी का एक तिहाई है. इसी क्षेत्र में राजधानी हेल्सिंकी भी है, जहां की आबादी करीब छह लाख 50 हजार है.

कोरोना वायरस से यह सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र रहा है और देश के अन्य हिस्सों में संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए यहां के लोगों की आवाजाही पर पाबंदी लगाई गई थी.

प्रधानमंत्री सना मारिन ने कहा कि अन्य कोरोना वायरस संबंधी पाबंदियां फिनलैंड में लागू रहेंगी, जिनमें बड़ी संख्या में लोगों के एक जगह पर एकत्र होने और स्कूलों के खुलने पर रोक शामिल है.

फिनलैंड में कोरोना वायरस संक्रमण 3,237 मामले सामने आए हैं जिनमें 72 लोगों की मौत हुई है.

सिंगापुर में 447 नए मामले, कुल 3,699 लोग संक्रमित

सिंगापुर: सिंगापुर में कोरोना वायरस संक्रमण के 447 नए मामले सामने आने के बाद देश में इससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 3,699 हो गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने दैनिक अपडेट में कहा, विदेशी कामगारों के कक्षों में कोरोना वायरस संक्रमण के 404 नए मामले सामने आए हैं, जबकि पांच लोग इन कक्षों से अलग रहते हैं.

मंत्रालय के अनुसार देश में कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)