भारत

जम्मू कश्मीर: राष्ट्रविरोधी पोस्ट के आरोप में महिला फोटो पत्रकार के खिलाफ यूएपीए का मामला दर्ज

वाशिंगटन पोस्ट और अल जज़ीरा जैसे अंतरराष्ट्रीय मीडिया संस्थानों के साथ काम करने वाली 26 वर्षीय महिला फोटो पत्रकार मसरत जहरा कश्मीर की दूसरी पत्रकार हैं जिन पर यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया गया है.

Kashmir-press-gag-protest The Wire

श्रीनगर: अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर कथित तौर पर राष्ट्रविरोधी पोस्ट करने के आरोप में जम्मू कश्मीर पुलिस ने कश्मीर में एक महिला फोटो पत्रकार के खिलाफ बेहद सख्त गैरकानूनी गतिविधि (निवारक) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, जम्मू कश्मीर पुलिस द्वारा सोमवार को जारी बयान के अनुसार, उन्होंने कश्मीर जोन के साइबर पुलिस स्टेशन में यूएपीए की धारा 13 और आईपीसी की धारा 505 के तहत मसरत जहरा के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है.

26 वर्षीय जहरा एक स्वतंत्र फोटो पत्रकार में और विभिन्न अंतरराष्ट्रीय समाचार संगठनों में के साथ काम करती हैं. उनके द्वारा ली गई तस्वीरें वाशिंगटन पोस्ट, अल जज़ीरा, कारवां और कई अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित हुई हैं.

सोमवार को जम्मू कश्मीर पुलिस द्वारा जारी बयान के अनुसार, ‘साइबर पुलिस स्टेशन को विश्वसनीय स्रोतों के माध्यम से जानकारी मिली कि एक फेसबुक उपयोगकर्ता मसरत जहरा युवाओं को उकसाने और सार्वजनिक शांति के खिलाफ अपराधों को बढ़ावा देने के आपराधिक इरादे से राष्ट्रविरोधी पोस्ट अपलोड कर रही हैं.’

आगे कहा गया, ‘माना जाता है कि फ़ेसबुक उपयोगकर्ता तस्वीरों को अपलोड करता है जो कानून और व्यवस्था को बिगाड़ने के लिए जनता को उत्तेजित कर सकता है. उपयोगकर्ता उन पोस्टों को भी अपलोड कर रहा है जो देश विरोधी गतिविधियों का महिमामंडन करने और देश के खिलाफ असहमति पैदा करने के अलावा कानून लागू करने वाली एजेंसियों की छवि को धूमिल करती हैं.’

जहरा कश्मीर की दूसरी पत्रकार हैं जिन पर यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया गया है. इससे पहले, श्रीनगर स्थित पत्रकार आसिफ सुल्तान को भी प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन का सहयोग करने के लिए इसी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था. उन्हें अभी भी हिरासत में रखा गया है.

शनिवार को जहरा से जम्मू कश्मीर पुलिस के साइबर सेल ने संपर्क करके तत्काल पेश होने के लिए कहा था लेकिन कश्मीर प्रेस क्लब और जम्मू कश्मीर के सूचना निदेशक के हस्तक्षेप के बाद उन्हें बताया गया कि मामला सुलझा लिया गया है.

जहरा ने कहा कि उन्हें आधिकारिक तौर पर नहीं बताया गया कि उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा, ‘मेरे सहयोगी ने इसके बारे में मुझे बताया.’

कश्मीर प्रेस क्लब ने फोटो पत्रकार के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने की निंदा की है.