भारत

दिल्ली सरकार ने आज़ादपुर मंडी को 24 घंटे खोलने की अनुमति दी

विकास मंत्री गोपाल राय ने कहा कि ऐसी खबरें मिल रही थीं कि दिल्ली में फल और सब्ज़ी की कीमतें बढ़ रही थीं और किसानों को नुकसान हो रहा था, क्योंकि वे अपनी उपज बेचने में असमर्थ थे, इसलिए यह निर्णय किया गया.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने सोमवार को आजादपुर मंडी को 24 घंटे तक खुला रखने का फैसला किया, ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से लागू लॉकडाउन में किसानों और कारोबारियों को राहत पहुंचाई जा सके.

मंगलवार से यह मंडी 24 घंटे खुली रहेगी.

आजादपुर मंडी एशिया में फल और सब्जी की सबसे बड़ी मंडी है. दिल्ली के विकास मंत्री गोपाल राय ने बताया कि मंगलवार से मंडी में सब्जियों और फलों की बिक्री सुबह छह बजे से रात दस बजे तक होगी.

इसके बाद ट्रकों को रात दस बजे से सुबह छह बजे तक मंडी में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार गोपाल राय ने कहा कि हमें ऐसी खबरें मिल रही थीं कि शहर में फल और सब्जी की कीमते बढ़ रही थी और किसानों को नुकसान हो रहा था, क्योंकि वे अपनी उपज बेचने में असमर्थ थे. इसलिए यह निर्णय किया गया कि मंगलवार से आजादपुर मंडी 24 घंटे खुली रहेगी.

कृषि उत्पाद विपणन समिति (एपीएमसी) के अध्यक्ष आदिल अहमद खान ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से हाल में समिति ने सब्जियों की बिक्री के लिए सुबह छह बजे से 11 बजे तक और फलों की बिक्री के लिए दोपहर दो बजे से शाम छह बजे तक का समय निर्धारित किया था ताकि 80 एकड़ में फैली मंडी में सामाजिक दूरी का अनुपालन कराया जा सके.

उन्होंने कहा कि किसानों और कारोबारियों ने मुख्यमंत्री के समक्ष मुद्दा उठाया था और जीविकोपार्जन बचाने की गुहार लगाई थी.

गोपाल राय ने कहा, ‘सरकार ने अब आजादपुर मंडी को 24 घंटे खुला रखने का फैसला किया है.’

खान ने बताया कि सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए टोकन प्रणाली लागू की जाएगी और प्रत्येक चार घंटे में केवल एक हजार लोगों को मंडी में दाखिल होने की अनुमति दी जाएगी.

उन्होंने बताया कि 600 सफाईकर्मी मंडी में सफाई के कार्य में लगे हैं और 900 नागरिक सुरक्षा (सिविल डिफेंस) स्वयंसेवक सामाजिक दूरी सुनिश्चित करेंगे.

खान ने कहा, ‘हमने दिल्ली पुलिस से भी मंडी में दो बटालियन तैनात करने का अनुरोध किया है.’

उन्होंने बताया कि हाल में मंडी में लागू सम-विषम का नियम जारी रहेगा. हालांकि एक कारोबारी एक ट्रक के नियम को वापस ले लिया गया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)