दुनिया

कोरोना वायरस: देश में 681 लोगों की मौत, विश्व में 1.83 लाख से अधिक की जान गई

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले 21 हज़ार से ज़्यादा हुए. दुनिया के कुछ देशों ने पांबदियों में ढील दी. चीन में बिना लक्षण के संक्रमित होने वालों की संख्या एक हज़ार के क़रीब पहुंची. ब्रिटेन में सबसे ज़्यादा प्रभावित होने वाले समूहों में भारतीय समुदाय भी शामिल.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली/पेरिस/वॉशिंगटन/बर्लिन: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश में कोरोना वायरस यानी कोविड-19 के मामले बृहस्पतिवार को बढ़कर 21,393 हो गए और मरने वालों की संख्या 681 हो गई.

उसने बताया कि देश में अब 16,454 लोगों का इलाज चल रहा है. वहीं 4,257 लोगों को ठीक होने के बाद छुट्टी दे दी गई और एक अपने देश लौट गया. वहीं कुल मामलों में 77 विदेशी नागरिक हैं.

मंत्रालय ने बताया कि बुधवार शाम से वायरस से संक्रमित 29 लोगों की जान गई, जिसमें से 18 महाराष्ट्र, आठ गुजरात, दो राजस्थान और दिल्ली का एक मामला है.

इन मारे गए 681 लोगों में से अब तक सबसे अधिक 269 मौतें महाराष्ट्र में हुई है. इसके बाद गुजरात में 103 मध्य प्रदेश में 83, दिल्ली में 48, राजस्थान में 27, आंध्र प्रदेश में 24 और तेलंगाना में 23 लोगों की मौत हुई है. उत्तर प्रदेश में मृतक संख्या 21 और तमिलनाडु में 18, कर्नाटक में 17, पंजाब में 16 और पश्चिम बंगाल में 15 है.

बीमारी के चलते जम्मू कश्मीर में पांच जबकि केरल, झारखंड और हरियाणा में तीन-तीन मौत हुई है. बिहार में दो जबकि मेघालय, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा और असम में एक-एक मौत हुई है.

आंकड़ों के अनुसार, देश में सर्वाधिक 5,652 मामले महाराष्ट्र से सामने आए हैं. इसके बाद गुजरात से 2,407, दिल्ली से 2,248, राजस्थान में 1,890, तमिलनाडु में 1,629 और मध्य प्रदेश में 1,592 मामले सामने आए हैं.

उत्तर प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 1,449, तेलंगाना में 945 और आंध्र प्रदेश में 813 है.

पश्चिम बंगाल में भी संक्रमितों की संख्या बढ़कर 456, केरल में 438, कर्नाटक में 427, जम्मू कश्मीर में 407, हरियाणा में 262 और पंजाब में 251 हो गई है.

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के 143 जबकि ओडिशा में 83 मामले हैं. झारखंड में 49 और उत्तराखंड में 46 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. हिमाचल प्रदेश में 40, छत्तीसगढ़ में 36 जबकि असम में 35 मामले हैं.

केंद्र शासित प्रदेशों में चंडीगढ़ में कोविड-19 के 27, लद्दाख तथा अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह से 18 मामले हैं.

मेघालय में 12 जबकि गोवा और पुडुचेरी से कोविड-19 के सात-सात मामले सामने आए हैं. वहीं मणिपुर और त्रिपुरा में दो-दो लोग जबकि मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश में एक-एक व्यक्ति संक्रमण की चपेट में है.

मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा, ‘हमारे आंकड़े आईसीएमआर के साथ मिलान कर सामने रखे गए हैं.’

दुनिया भर में कोरोना वायरस से एक लाख 83 हज़ार से अधिक लोगों की मौत

दुनिया भर में कोरोना वायरस से एक लाख 83 हजार से अधिक लोगों की मौत हो गई, जिसमें करीब दो-तिहाई मौतें यूरोप में हुई हैं.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

यह वायरस पहली बार पिछले वर्ष दिसंबर में चीन में सामने आया था.

अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़े के मुताबिक, दुनिया भर में अब तक एक लाख 83 हजार 489 लोगों की मौत हो चुकी है और 26 लाख 30 हजार 788 लोग संक्रमित हुए हैं.

यूरोप में एक लाख 12 हजार 848 लोगों की मौत हुई है जबकि 12 लाख 63 हजार 802 लोग इससे संक्रमित हैं.

विश्व में सर्वाधिक मौतें अमेरिका में 46,583 लोगों की हुई हैं. अमेरिका में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 1,738 लोगों की मौत हुई. हालांकि यह इससे एक दिन पहले मारे गए लोगों की संख्या से कम है.

इस वैश्विक महामारी से किसी देश में मरने वाले लोगों की यह सर्वाधिक संख्या है.

इसके बाद इटली में कोरोना वायरस से 25,085 लोगों की मौत हुई और संक्रमण के 187,327 मामले सामने आ चुके हैं. स्पेन में मरने वालों की संख्या 21,717 हो चुकी है, जबकि संक्रमण के 208,389 मामले दर्ज किए जा चुके हैं.

इसी तरह फ्रांस में अब तक 21,340 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और 157,135 लोगों के संक्रमित होने के मामले सामने आए हैं. ब्रिटेन में 18,100 लोगों की जान जा चुकी हैं और संक्रमण के 134,639 मामले दर्ज किए गए हैं.

कुछ देशों ने पांबदियों में कुछ ढील दी, लोगों में अब भी भय व्याप्त

जर्मनी की राजधानी बर्लिन में बुधवार को छोटी दुकानें दोबारा खुल गईं. इसी प्रकार कुछ देशों ने अपनी अर्थव्यवस्था को चलाने के लिए लॉकडाउन में छूट देने की शुरुआत की है.

हालांकि कुछ कामगारों और ग्राहकों ने आशंका जताई है कि सामान्य हालात होने में लंबा समय लग सकता है.

यूरोपीय देश डेनमार्क और ऑस्ट्रिया में भी पाबंदियों में ढील दी गई है. फ्रांस में मैक्डोनाल्ड की सेवाएं दोबारा बहाल होने के बाद कुछ दुकानों के सामने लंबी कतारें देखने को मिलीं.

अमेरिका के कुछ राज्य भी लोगों द्वारा लॉकडाउन का विरोध करने और काम पर लौटने की मांग के बाद पाबंदियों में ढील दे रहे हैं.

कोविड-19 के संक्रमण से बुरी तरह प्रभावित इटली, स्पेन, चीन और न्यूयॉर्क में इस वायरस के कारण रोजाना होने वाली मौत में कमी आई और अस्पताल आने वाले नए संक्रमितों की संख्या में भी गिरावट आई जबकि कुछ अन्य इलाकों में दोबारा मामले बढ़ रहे हैं.

सिंगापुर कोरोना वायरस संक्रमितों का पता लगाने और फैलने से रोकने के मामले में आदर्श के रूप में स्थापित हुआ था लेकिन अब वहां नये मामलों में तेजी से वृद्धि हो रही है, जिसकी वजह से सरकार को बुधवार को घोषणा करनी पड़ी कि देश में लॉकडाउन जून तक रहेगा.

जॉर्जिया के सावनाह में गर्वनर ब्रायन केम्प ने इस हफ्ते जिम और सैलून दोबारा खोलने की अनुमति देने घोषणा की थी, लेकिन एक जिम मालिक मार्क लेबोस का कहना है कि इस समय काम करना पेशेवर लापरवाही होगी.

जॉर्जिया के समयरना में सैलून चलाने वाली रोनिक हॉलोवे ने कहा कि वह दोबारा काम करने के लिए एक मई तक इंजतार करेंगी.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते बड़ा आर्थिक नुकसान हो रहा है जिसकी बानगी कच्चे तेल की कीमतों में ऐतिहासिक गिरावट और मंगलवार को अमेरिकी शेयर वॉल स्ट्रीट में भारी गिरावट के रूप में देखने को मिली. एशियाई शेयर बाजारों में भी बुधवार को गिरावट का दौर जारी रहा.

कोविड-19 से दुनिया के सबसे प्रभावित देशों में शामिल स्पेन ने छह हफ्तों में पहली बार बच्चों को अपने घरों से बाहर निकलने की अनुमति दी. अभिभावकों के दबाव के चलते प्रधानमंत्री पेड्रो सान्चेज़ ने सोमवार से दोबारा बच्चों को बाहर जाने की अनुमति दी.

स्पेन में स्वास्थ्य संकट में सुधार होने का संकेत मैड्रिड के आइस स्केटिंग में बने अस्थायी मुर्दाघर का बंद होना है जहां तीन हफ्ते पहले 950 दैनिक मौतों का आंकड़ा घटकर 500 से नीचे आ गया है.

पाकिस्तान में डॉक्टरों ने पत्र जारी कर देश के धार्मिक नेताओं और प्रधानमंत्री से उस फैसले को पलटने का आह्वान किया है जिसमें उन्होंने मुस्लिमों के पवित्र महीने रमजान में मस्जिदों को नमाज के लिए खोलने की अनुमति दी है. उन्होंने चेतावनी दी कि इससे कोविड-19 मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ेगी.

भारत ने दुनिया के सबसे सख्त लॉकडाउन प्रावधानों में इस हफ्ते आंशिक ढील दी लेकिन जन स्वास्थ्य अधिकारियों को मामलों में वृद्धि का भय है.

अमेरिका में टेनेसी, पश्चिमी वर्जिनिया और कोलोरोडो सहित कुछ राज्यों ने आने वाले दिनों में कारोबार को दोबारा खोलने की योजना की घोषणा की है. वहीं साउथ कैरोलिना में गर्वनर की सहमति के बाद धूप सेंकने के लिए लोग समुद्र तटों पर पहुंच गए. हालांकि यहां कोरोना वायरस के चलते पाबंदी लगाने पर राजनीतिक तनाव में कोई कमी नहीं दिखाई दे रही है.

वाशिंगटन राज्य, मिशीगन और विस्कोंसिन के कई प्रशासनिक इकाइयों ने कहा कि वे घर पर ही रहने के आदेश का अनुपालन नहीं करेंगे. अलाबामा, उत्तरी कैरोलिना और मिसौरी में कोध्रित लोगों ने पाबंदियों को हटाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया.

कोविड-19 से बुरी तरह से प्रभावित न्यूयॉर्क को मास्क, वेंटिलेटर और अन्य चिकित्सा उत्पादों को दान करने के लिए आयोजित ऑनलाइन समारोह में चीन के महावणिज्यदूत हुआंग पिंग ने परोक्ष रूप से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से अपील की कि वह उनके देश के खिलाफ अपनाए रुख में नरमी लाए.

उन्होंने कहा, ‘यह समय एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप नहीं है. यह समय एकजुटता, समन्वय, सहयोग और आपसी समर्थन का है.’

बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में लॉकडाउन के कारण चारों ओर सन्नाटा पसरा हुआ है लेकिन वहां बसें चल रही है जो प्यार का संदेश देते हुए सड़कों पर दौड़ रही हैं। इस पहल को ‘वॉयस ऑफ ब्रसेल्स’ नाम दिया गया है. ब्रसेल्स में सरकारी बसें चल रही हैं और यात्री सामाजिक दूरी का पालन करने हुए इनमें यात्रा करते हैं.

वियतनाम में पिछले तीन दिन से कोई नया मामला सामने नहीं आया है. इसलिए देश अब प्रतिबंधों में ढील देने पर विचार कर रहा है.

न्यूजीलैंड भी अगले महीने से प्रतिबंधों में ढील देने पर विचार कर रहा है जहां गुरुवार को कोरोना वायरस के केवल तीन मामले सामने आए.

चीन में बिना किसी लक्षण के संक्रमित होने के 980 के पार

बीजिंग: चीन में कोविड-19 संक्रमण के ऐसे 27 नए मामले सामने आए हैं जिनमें संक्रमित व्यक्ति में इस रोग के कोई लक्षण नहीं हैं. इन मामलों को एसिम्पटोमैटिक कहा जाता है और ऐसे मामलों की संख्या 984 हो गई है.

वहीं प्रधानमंत्री ली. केकियांग के नेतृत्व में एक उच्चस्तरीय समिति ने देश के स्वास्थ्य अधिकारियों से घातक वायरस से निपटने पर ध्यान केंद्रित करने को कहा.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

इन मामलों में कोविड-19 से संक्रमित व्यक्तियों में बुखार, खांसी या गला खराब जैसे कोई लक्षण नहीं होते लेकिन उनसे दूसरे लोगों के संक्रमित होने का खतरा है.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने कहा कि इन 27 मामलों के अलावा बुधवार को कोरोना वायरस के 10 नए मामले भी सामने आए, जिनमें विदेशों से यहां लौटे चीन के छह नागरिक शामिल हैं. चार अन्य मरीजों में से तीन रूस से लगी सीमा पर स्थित हेइलोंगजियांग प्रांत और एक गुआंगदोंग प्रांत के हैं जो स्थानीय स्तर पर संक्रमित हुए.

एनएचसी ने बताया कि बुधवार को कोविड-19 से किसी की जान नहीं गई.

उसने बताया कि बुधवार तक देश में कोरोना वायरस के कुल पुष्ट मामले 82,798 थे, जिसमें से जान गंवाने वाले 4,632 लोग और बाहर से आए 1,616 लोग शामिल हैं.

एनएचसी ने बताया कि बाहर से आए संक्रमित लोगों में से 37 की हालत गंभीर है. चीन के अधिकारियों के लिए चिंता का विषय बिना लक्षण के संक्रमित पाए जा रहे लोगों के बढ़ते मामले हैं.

ब्रिटेन में सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले समूहों में शामिल है भारतीय समुदाय

लंदन: ब्रिटेन में भारतीय समुदाय कोरोना वायरस महामारी से सबसे बुरी तरह प्रभावित होने वाले समूहों में शामिल है.

इंग्लैंड के अस्पतालों में कोविड-19 की वजह से हुई मौतों के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार यह जानकारी सामने आई है राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) इंग्लैंड द्वारा इस सप्ताह जारी किए गए आंकड़े बताते हैं कि 17 अप्रैल तक अस्पतालों में कोरोना वायरस से मरने वाले 13,918 रोगियों में 16.2 प्रतिशत मरीज अश्वेत समुदाय, एशियाई और अल्पसंख्यक जातीय (बीएएमई) पृष्ठभूमि के थे जिनमें भारतीय मूल के लोगों की संख्या 3 प्रतिशत है.

इसके बाद कैरीबियाई समुदाय दूसरा सबसे बड़े प्रभावित जातीय समूह है. कोविड-19 से मरने वाले लोगों की कुल संख्या में इस समूह की संख्या 2.9 प्रतिशत है. इसके बाद पाकिस्तानी लोगों की संख्या है, जो 2.1 प्रतिशत है.

ब्रिटेन सरकार ने बीएएमई आबादी के बीच कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की समीक्षा जारी की है.

ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने पिछले हफ्ते समीक्षा जारी करते हुए कहा, ‘बहुत अधिक अनुपात में अल्पसंख्यक पृष्ठभूमि के लोगों की मौत हुई है जिसने वास्तव में मुझे चिंता में डाल दिया है.’

बीएएमई समूहों के लोगों की मौतों का अनुपात उनकी कुल आबादी के अनुपात की तुलना में बहुत अधिक है. इन समूहों की आबादी कुल आबादी की लगभग 13 प्रतिशत है.

जर्मनी में कोरोना के टीके के क्लीनिकल परीक्षण को मंजूरी

जर्मनी ने नोवेल कोरोना वायरस के इलाज के लिए टीके के विकास के लिहाज से अपने पहले क्लीनिकल परीक्षण की मंजूरी दे दी है.

जर्मनी की नियामक संस्था ने जर्मन कंपनी बायोनटेक और अमेरिकी कंपनी फाइजर द्वारा विकसित एक आरएनए वैक्सीन के मनुष्यों पर परीक्षण के लिए हरी झंडी दे दी है.

नियामक इकाई ने एक बयान में कहा, ‘पॉल-एहरलिक-इंस्टिट्यूट ने जर्मनी में कोविड-19 के खिलाफ टीके के पहले क्लीनिकल परीक्षण की स्वीकृति दे दी है.’

उसने बताया कि संभावित जोखिम का सावधानी से आकलन करने के बाद मंजूरी दी गई है.

इस बीच जर्मनी में कोरोना वायरस संक्रमण के 150,648 मामले दर्ज किए जा चुके हैं और इस महामारी से अब तक 5,315 लोगों की जान जा चुकी है.

रमजान से पहले जकार्ता में पाबंदियों की अवधि बढ़ाई गई

बैंकॉक: दुनिया के सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाले देश इंडोनेशिया में रमजान की तैयारी शुरू होने के साथ ही राजधानी जकार्ता में सामाजिक पाबंदियों का विस्तार कर दिया गया है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

जकार्ता के गवर्नर एनीज बस्वेदान ने बताया कि बृहस्पतिवार को खत्म होने वाली पाबंदियों को 22 मई तक बढ़ा दिया गया है. बस्वेदान ने बुधवार देर रात एक संवाददाता सम्मेलन में मुस्लिमों से कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए रमजान के दौरान मस्जिद से संबंधित गतिविधियों को स्थगित करने का अनुरोध किया.

इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने पिछले महीने स्वीकार किया था कि सरकार ने दहशत को रोकने के लिए देश में कोरोना वायरस फैलने के बारे में जानकारी छिपाने का फैसला किया था. लेकिन भौतिक दूरी के नियमों में देरी और कम संख्या में जांच होने से इस संक्रामक रोग के बड़े पैमाने पर फैलने का डर पैदा हो गया है.

जकार्ता में बुधवार तक संक्रमण के 3,383 मामलों की पुष्टि हुई जिनमें से 301 लोगों की मौत हो चुकी है.

देशभर में कोरोना वायरस के 7,418 मामले सामने आए हैं और 635 लोगों की मौत हो चुकी है.

पाकिस्तान में मामले बढ़कर 10,513, मृतक संख्या 224

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में कोरोना वायरस के 742 नए मामले सामने आने के बाद देश में कोविड-19 के मामले बढ़कर 10,513 हो गए. वहीं संक्रमित 15 और लोगों की मौत के बाद वायरस के कारण जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 224 हो गई है.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘पंजाब में 4,590 मरीज, सिंध में 3,373, ख़ैबर पख़्तूनख़्वा में 1,453, बलूचिस्तान में 552, गिलगित-बाल्टिस्तान में 290, इस्लामबाद में 204 और आजाद कश्मीर (पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर) में 51 मामले हैं.’

न्यूजीलैंड में कोरोना वायरस के तीन नए मामले और दो की मौत

वेलिंगटन: न्यूजीलैंड में गुरुवार को कोरोना वायरस के सिर्फ तीन नए मामले सामने आए, जबकि दो और लोगों की मौत हो गई. देश में नए मामलों की संख्या लगातार कम हो रही है.

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 1,451 तक पहुंच गई है और मरने वालों की संख्या 16 हो गई है.

न्यूजीलैंड में पिछले एक महीने से सख्त लॉकडाउन लागू है. हालांकि अधिकारियों ने अगले सप्ताह से इसमें थोड़ी छूट देने की योजना बनाई है.

सरकार ने उन समाचार मीडिया कंपनियों की मदद करने के राहत उपायों की भी घोषणा की, जिनमें कोरोना वायरस के प्रकोप के बाद से विज्ञापन के स्तर पर गिरावट देखी गई है.

सरकार ने प्रसारणकर्ताओं के लिए अस्थायी रूप से प्रसारण शुल्क में कटौती करने के साथ ही उनके लिए पांच करोड़ न्यूजीलैंड डॉलर की घोषणा की है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)